मौसी की बेटी को चोदा और उसकी की सील तोड़ी | मौसी की बेटी सेक्स स्टोरी

मौसी की बेटी को चोदा और उसकी की सील तोड़ी | मौसी की बेटी सेक्स स्टोरी

हेलो दोस्तों मेरा नाम Rituji है और मैं एक बार फिर से हाज़िर हु आप लोगो के लिया एक नयी स्टोरी के साथ इस बार मौसी की बेटी सेक्स स्टोरी मे मौसी की बेटी को चोदा और उसकी की सील तोड़ी। इस स्टोरीमे लड़का का नाम शोबिते है और लड़की का नाम माया है

मेरी मौसी की बेटी का नाम Maya Arora है। वो हमारे घर रह कर 2 महेन से पढ़ाई कर रही थी। अब मैं उसकी बॉडी का डिस्क्रिप्शन देता हूं। वो थोड़ी सांवली है, और थोड़ी मोती भी। इसकी वजह से उसके बूब्स और हिप्स भी बहुत बड़े हैं।

शुरू-शुरू में मेरे मन में कोई गलत ख्याल नहीं आते थे। हम दोनो की बनती भी बहुत नहीं थी। हर वक्त छोटी-छोटी बातें पे लड़ाई  होती रहती थी। फिर एक दिन हम दो का एक आम चचेरा भाई हमारे घर हम मिलने आया, और घूमने जाने का कार्यक्रम बना।

5 hi दिन में उसे भी नोटिस कर लिया, की मुख्य उसके सम्मान को बड़े ध्यान से देख रहा था। पर उसे कभी कुछ नहीं बोला। 2 हफ्ते ऐसे ही चला। हम दोनो में अब लड़ी भी कुछ कम होने लगी।

एक दिन उसे बहुत लूज टॉप पहनना हुआ था, और मेरे सामने वो बेडशीट चेंज करना लागी। जैसे ही वो झुकी, उसके खराब बूब्स मेरी आंखों के सामने आ गए। और मैं घोर-घूर के उसके बूब्स देखने लगा।

उसे ये नोटिस किया, और हल्की सी स्माइल देके चली गई। मुझे जब ग्रीन सिग्नल मिला, तो मैंने मौका मरने के लिए फिल्म का प्लान बनाया, और वो मान गई। घर पे मैंने पहले ही बोल दिया, की हम दोनो डिनर भी बहार ही करेंगे। मैं ऑफिस से 6 बजे आ गया, और वो बिलकुल रेडी थी।

उनसे एक रेड कलर का टाइट टॉप और टाइट शॉर्ट्स पेहनी हुई थी। मेरा उसे देखते ही खड़ा हो गया। फिर मैं और Maya मेरी कार में निकल गए। मैंने गाड़ी में बैठे ही पूछा-

मुख्य: वोदका पियेगी?

उसे बोला: बिलकुल।

फिर मैं वोडका का फुल ले आया, और हम गाड़ी में घूमे हुए पीने लगे, और बातें करने लगे। इधर-उधार की बातें करने के बाद मैंने मुख्य विषय शुरू किया।

मेन: चल अपने बॉयफ्रेंड के बारे में बता।

Maya Arora: अब नी है कोई।

मुख्य: क्यूं छोड दिया?

Maya Arora: उसके बस का कुछ नहीं था।

मुख्य: क्या नहीं था?

Maya Arora: समझ जा बस तू।

मेन: फिर अब कौन लाइन में है?

Maya Arora: सोच रही है अभी को से वाले को हा बोलू।

मेन: कितने लड़के है ऐसे?

Maya Arora: अरे मजाक कर रही हूं। कोई नी है। तू आज क्यों इतना इंटरेस्ट ले रहा है?

मैं (उसके बूब्स की तराफ देखते हुए): बस ऐसे ही।

Maya Arora: ज़्यादा न ग़ूर, बहन हूँ मैं तेरी।

मुख्य: हम्म, ये तो मेरी गल्ती है। चल ये बता को सी फिल्म देखेंगे?
Maya Arora: कोई भी।

इसे भी पढ़े – मौसी की बेटी सेक्स स्टोरी

फिर मैंने बुक माय शो पे एक हिंदू डब की गई अंग्रेजी हॉरर मूवी बुक करवा दी, जिसमे ज्यादा भीद नहीं थी, और मुझे आखिरी रो कॉर्नर की टिकट मिल गई। हम दोनो 3-3 लार्ज पेग मार के मूवी में बैठे गए। जैसे ही फिल्म शुरू हुई, मैंने अपने जोड़ी उसकी लेग्स से टीका दिया।

Note: Delhi Escorts में आप अपने मनचाहे पार्टनर के साथ सेक्स का आनंद ले सकते हैं।

Escorts in Delhi

उसके नारम-नारम जोड़ी मेरे जोड़े से तकरा के एक-दम गरम हो गए थे। एसी की कूलिंग भी अच्छी थी, तो दोनो को मजा आ रहा था। 10 मिनट के बाद मेरी नियत बड़ी, और मैंने अपनी कोहनी उसके स्तन से सात दी। उसके गरम स्तन से मेरी बॉडी में बिजली दौड़ गई।

उसे बस मुझे देखा, और फिर फिल्म देखने लगी। मैंने फिर धीरे-धीरे अपनी एल्बो की मूवमेंट शुरू की, और उसके बूब्स को फील करने लगा। उसके गरम स्तन बहुत अच्छे लग रहे थे, और शायद उसे भी मजा आ रहा था।

थोड़ी ही डर में एक हॉरर सीन आया, और उसे अपना हाथ मेरे जोड़े पे रख दिया। सीन खतम होते ही उसे जैसे ही अपना हाथ हटा, मैंने उसका हाथ पक्का के वापस अपने जोड़े पे रख दिया, और उसके कान में धीरे से डबल अर्थ में बोला-

मुख्य: डर मैट, मैं हु ना।

और साथ ही मैंने उसे एक छोटी सी किस कर दी। उसे मेरी मंशा साफ पता चल गई थी और उसे मेरा साथ देना शुरू किया।

वो धीरे-धीरे मेरे जोड़े सेहले हुए मेरे लुंड के पास आती रही। पजामा में मेरा लुंड पूरी तरह से खड़ा हो चुका था, और वो अपनी फिगर्स से बीच-बीच में लुंड को टच कर रही थी।

मैंने अपना हाथ उसे कमर के पीछे से ले जाके उसे थोड़ा अपनी तरह से, और उसका पूरा उल्लू पक्का लिया। अब वो भी पूरा एन्जॉय कर रही थी। 20 मिनट तक ऐसे एन्जॉय करें मैंने उसे बोला-

मुख्य: चल लॉन्ग ड्राइव पे चलते हैं, मूवी-वोवी छोड़।

फिर हम दो फटाफट फिल्म छोड के उठे, और कुछ खाने का सामान लेके हाईवे की तरफ निकल गए। अब उसकी आंखों में हवा साफ नजर आ रही थी।

फिर उसे मुझे बोला: तू जनता है ना हम क्या कर रहे हैं?

मुख्य: तू पेग बना यार।

उसे एक-एक और ड्रिंक बनायी, और थोड़ी देर बाद मैंने गाड़ी सुनसान रोड पे ले जाके रोक दी। गाड़ी रोके ही मैंने उसे पडका, और अपनी तरफ कींच के स्मूच करने लगा। 5 सेकंड विरोध करने के बाद उसे मुझे थोड़ा धक्का दिया।

और फिर अगले ही दूसरी मेरी आंखें में देख के टी-शर्ट पके हुए के मुझे किस करने लगी। मैं अपना हाथ उसके स्तन पे ले गया, और ज़ोर से दबने लगा। हम दो बिलकुल गरम हो चुके थे।

मैंने उसे टॉप हमारे बूब्स के ऊपर उठा और बूब्स पे किस करने लगा। वो धीरे-धीरे मों कर रही थी। उसकी ब्लैक कलर की ब्रा देख के मजा आ गया। मैं अपना हाथ पीछे ले गया, और उसकी ब्रा का हुक खोल के उसकी ब्रा उतर दी। वो भी मुझे किस करे जा रही थी, और मेरे लुंड को सहला रही थी।

मैंने अपने पाजामे से अपना लुंड बहार निकला, और उसके हाथ में दे दिया। मेरा लुंड फील करने वो और एक्साइटेड हो गई, और इस्तेमाल जोर से हिलाने लगी। फिर मैंने उसे बोला-

मेन: सिर्फ हिलाना नहीं है। इस्को स्वाद भी करना है।

वो मुझसे ज्यादा बाहर निकली थी, और तूरंत थोड़ा पीछे होके अपने होंठ मेरे लुंड के पास ले गई। मैंने उसके बाल खोल दिए, और कस के पके हुए। वो मेरा लुंड बिलकुल प्रोफेशनल की तरह चूस रही थी। 5 मिनट लुंड चुस्वाने के बाद, मैंने उसे शॉर्ट्स और पैंटी एक साथ उतर दी, और उसे पीछे होके लिटा दिया। उसकी चुत गीली हो चुकी थी।

मैं बहुत असहज महसूस कर रहा था स्पेस की वजह से। फिर मैंने उसे कहा-

मुख्य: फटाफट घर चल।

मैंने गाड़ी 100 की स्पीड से भाग्यी, और पूरे रास्ते उसे मेरा एक हाथ अपनी चुत के पास ही रखा। घर पे पूँछते ही हमारे घर वाले को बोला की हम डिनर करके आए थे, और मूवी घर पर ही देख लेंगे।

उसका रूम बाकी रूम्स से बिलकुल विपरीत था, तो हम उसके रूम में गए। फिर हमने तेज वॉल्यूम पे एक्शन फिल्म लगा ली, ताकी हम अपना काम कर खातिर, और रूम लॉक कर लिया। फिर घर वाले सोने चले गए।

रूम बैंड होते ही मैं उसे टूट पड़ा, और उसके सारे कपड़े उतर दिए। अब वो मेरे सामने बिलकुल नंगी थी। उसकी गंद देख के मुझे मजा आ गया। मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए, और उसे बिस्तर पे पुश करके 69 पोजीशन में आने को बोला।

वो मेरे ऊपर चलो के मेरा लुंड चुनोने लगी, और मैं उसे मोती गांद पे थप्पड़ मारने लगा। फिर मैंने धीरे-धीरे अपने होठों उसकी चुत में डालने शुरू किए, और वो मेरे लुंड से खेलती रही। 10 मिनट बाद मैं झड़ गया, और उसे सारा पानी अपने स्तन पे ले लिया।

फिर वो जल्दबाजी हुई, और बाथरूम से एक गीला तौलिया ले आई, और मुझे साफ कर दिया। अब मैं उसके ऊपर गया, और उसे दो तांगो को चौडा करके उसके चुत चाटने लगा। उसे मेरे दो हाथ पकड़े, और अपने स्तन पे रख दिए, और ज़ोर से दबने को बोला।

वो ज़ोर से कराह रही कर रही थी। उसकी आवाज सुन के मेरा लुंड फिर से खड़ा हो गया। अब मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ, और मैंने बिना प्रोटेक्शन के अपना लुंड उसकी चुत में दाल दिया।

छुट गीली होने की वजह से लुंड एक दम से अंदर चला गया, और उसके गाल निकलने से पहले मैंने अपना हाथ उसके मुह पे रख दिया।

Escorts Services in Dwarka

फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई, और दो सेक्स का मजा लेने लगे। 5 मिनट हमें इज़ पोजीशन में चोदने के बाद, मैंने उसे घोड़ी बनने को बोला, और उसके पीछे आ गया।

उसकी मोती गान एक दम चिकनी लग रही थी। मैने दो हाथ से उसे दबया, और अपना लुंड उसकी चुत में एडजस्ट किया। फिर मैंने उसके खुले बाल पढे, और उसे डॉगी स्टाइल में पूरी ताकत से छोड दिया।

वो कराह रही कार्ति रही। 5 मिनट के बाद मैंने उसे अपने ऊपर आने को बोला, और अपने खड़े लुंड पे बैठने को बोला।

उसके भारी वजन की वजह से ये स्थिति कठिन हो रही थी, पर मैंने उसके हाथ पके, और किसी तरह बैलेंस बना लिया। फिर मैंने झटके मारने शुरू किए। 4 मिनट के बाद उसकी चुत से रस निकलना शुरू हो गया, और वो सात आसमान पे थी।

मैंने उसे पलट के नीचे लाया, और मिशनरी पोजीशन में लाके छोडने लगा। अब वो मुझे रिक्वेस्ट कर रही थी, की बस करो। फिर मैंने 2-3 झटके और मारे, और मैं भी झड़ गया।

मैंने अपना सारा रस उसकी चुत में ही निकला दिया, और उसे जाने दिया।

हम 5 मिनट तक ऐसे ही लेते रहे, और फिर साफ करके और 20 मिनट तक एक-दूसरे की बहने में ले गए।

उस दिन के बाद से एक साल तक किसी न किसी बहने हम सप्ताह में एक बार ऐसा कुछ योजना कर लेते थे, और गरीब भूलभुलैया करते थे।

Lucknow Call Girls

This will close in 0 seconds