कॉलेज के दोस्त के साथ ही चुदाई का मजा लिया – कॉलेज चुदाई कहानी

कॉलेज के दोस्त के साथ ही चुदाई का मजा लिया – कॉलेज चुदाई कहानी

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “कॉलेज के दोस्त के साथ ही चुदाई का मजा लिया – कॉलेज चुदाई कहानी”। यह कहानी निधि की है आगे की कहानी वह आपको खुद बताएंगी मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

कॉलेज चुदाई कहानी में पढ़ें कि कॉलेज में पढ़ाई के दौरान मेरी दोस्ती एक बहुत ही हैंडसम लड़के से हो गयी. एक बार जब मैं बीमार पड़ गयी तो वह मुझे डॉक्टर के पास ले गये। रास्ते में क्या हुआ?

दोस्तो, मैं निधि हूं, पहले मैं आपको अपने बारे में बता दूं।
मेरी उम्र 21 साल की है।

अगर मैं अपने फिगर की बात करूँ तो मैं एक बहुत ही कामुक शरीर वाली लड़की हूँ। मेरा साइज 36-32-38 है. मेरे बहुत भरे हुए स्तन और Moti Gand है।

अगर कोई भी लड़का मुझे देखता है तो कुछ मिनट तक देखता ही रह जाता है.

यह घटना मेरे साथ एक साल पहले घटी जब मैं कॉलेज में थी।
उस वक्त मैं किसी से ज्यादा बात नहीं करती थी.

एक दिन मेरी टक्कर एक लड़के से हुई.
यह उसकी गलती थी इसलिए उसने मुझसे सॉरी कहा।

जब मैंने उसे देखा तो न जाने क्यों मेरा उससे बात करने का मन अपने आप हो गया.

मैंने उससे कहा- ओह सॉरी, छोड़ो. यह मेरी भी गलती थी. इस तरह मेरी भी उससे थोड़ी हैलो-हाय बातचीत हो गयी.

फिर हम दोनों एक दूसरे के बारे में थोड़ा जानने के बाद अपने-अपने रास्ते पर चल पड़े।

उस दिन मैं कॉलेज की लाइब्रेरी में बैठी थी, तभी अचानक वह फिर मेरे सामने आ गया।

वो भी मेरी तरफ देख रहा था. जब हमारी नजरें मिलीं तो मैं मुस्कुरा दी. वह तुरंत मेरी मेज के करीब आ गया। फिर हम दोनों ने बात की और एक-दूसरे के बारे में बहुत कुछ जाना।

उसके बाद कुछ ऐसा हुआ कि हम दोनों साथ में पढ़ने लगे और साथ में लंच करने लगे.

मुझे नहीं पता कि क्लास के बाद कब मैंने उसके साथ घूमना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त बन गये।

मुझे अपनी सहेलियों को उसके बारे में बताना चाहिए ताकि उनकी भी चूत में उत्तेजना होने लगे.

उनकी हाइट 6 फीट है, उनकी जिम बॉडी है, वो दिखने में बहुत अच्छे हैं. कोई भी लड़की एक मिनट में उसके साथ सेट हो सकती है, जैसे मैं हो गयी।

फिर एक दिन मेरी तबीयत अचानक खराब हो गई और मुझे अस्पताल में भर्ती कराया। मैंने उसे फोन किया और कहा- अखिल, मेरी तबीयत अचानक खराब हो गई है. (कॉलेज चुदाई कहानी)

उसने सारी जानकारी ली और वह तुरंत अपनी कार लेकर आया। मेरी तबीयत ठीक थी फिर भी वो मान नहीं रहा था.

वह मुझे दूसरे डॉक्टर के पास ले गया. वहां से सब कुछ ठीक मिलने के बाद वह मुझे वापस ले जाने लगा. फिर जब हम लौट रहे थे तो उसने अचानक कार के ब्रेक लगा दिए.

जब मैं आगे गिरी तो उसने मुझे बचाने के लिए अपना हाथ मेरी छाती के सामने रख दिया. उसके हाथ से मेरे स्तन दब गये.

मैंने पहले कभी उसे इस नजर से नहीं देखा था लेकिन फिर मेरे अंदर की वासना जाग उठी थी. उसके अंदर भी कुछ हुआ था, लेकिन मैंने कुछ नहीं कहा.

हम दोनों ने उस बात को एक तरह से नजरअंदाज कर दिया था.

फिर कार का गियर बदलते समय वो कभी मेरे बूब्स को छू रहा था तो कभी मेरी जांघों को छू रहा था. मुझमें पहले से ही बहुत तीव्र यौन इच्छा थी और लंड लेने की इच्छा और प्रबल होती जा रही थी।

उसने मुझे और भी पागल बनाना शुरू कर दिया.

मैंने भी सोचा कि क्यों ना मौके का फायदा उठाया जाए. मुझे यह पसंद है। अगर मैंने उसके साथ सेक्स किया तो मेरा क्या ही जायेगा?

अब मैं मन बना चुकी थी और उसे रोक नहीं सकी.

दरअसल, मैंने भी उसकी जाँघों पर हाथ फिराया जैसे मुझे उसके सहारे की ज़रूरत हो। अगर दोबारा ब्रेक लगाने से मुझे झटका लगता है तो मैं इसके सहारे खुद को गिरने से रोक सकती हूं।

अब जैसे ही मेरा हाथ उसकी जाँघों पर पहुँचा तो उसे समझ आ गया। कुछ दूर चलने के बाद उसने एक सुनसान जगह पर कार रोक दी.

मैंने उसकी तरफ देखा और हल्के से मुस्कुराया. वो भी मुस्कुराया और मुझे अपने हाथ से पकड़ कर अपनी तरफ खींच लिया और मुझे चूमने लगा. (कॉलेज चुदाई कहानी)

मैं भी उसका साथ दे रही थी.

किस करते हुए वो कभी मेरे Big Boobs दबा रहा था तो कभी मेरी गांड सहला रहा था. मैं उसे पागलों की तरह चूम रही थी और उसके बालों में हाथ घुमा रही थी।

कुछ पल बाद अखिल बोला- निधि, उठो और मेरी गोद में आओ. मैं गेट खोलकर उसके पास गयी तो उसने मुझे अपने ऊपर बैठा लिया.

उसे अपनी सीट पीछे खींच ली. मैं उसके चेहरे की तरफ मुंह करके बैठी थी.

हम दोनों लिप किस करने लगे.

कभी एक दूसरे के गालों को चूमते.. तो कभी एक दूसरे के गालों को काट लेते। कभी मैं उसकी गर्दन को चूमती.. तो कभी वो अपने हाथों से मेरे मम्मों को दबाता।

मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

बीच बीच में वो मेरी गांड पर थप्पड़ भी मार रहा था.

कुछ देर बाद अखिल उठा और मुझे पीछे की सीट पर ले गया। उसने मुझे सीट पर लिटा दिया और मेरी शर्ट उतार दी.

काली ब्रा में मेरे स्तन दिख रहे थे।

काली ब्रा में बंद मेरे गोरे स्तनों को देखकर वह पागल हो गया।

आप भी सोचिये एक जवान लड़की के 36 साइज के गोरे स्तन काली ब्रा में कैसे दिखेंगे… लंड खड़ा होगा या नहीं?

अखिल बोला- निधि, मैंने तुम्हें आज से पहले कभी ऐसे क्यों नहीं देखा… तुम कितनी सेक्सी हो यार… तुम तो हर दिन इसका मजा ले सकती थी। (कॉलेज चुदाई कहानी)

मैंने उसका मुँह खींच कर अपने चूचों पर रख दिया और बोली- अब मजा लो मेरे प्रेमी.

मैं उसके चेहरे को अपने स्तनों के बीच रगड़ रही थी और वह मेरे दोनों स्तनों को अपने दोनों हाथों से बहुत जोर से दबा रहा था।

दर्द तो मुझे भी हो रहा था लेकिन मजा भी ज्यादा आ रहा था. मेरे मुँह से केवल ‘आह आह आह अखिल, प्लीज़ आराम से…’ जैसी आवाजें निकल रही थीं।

लेकिन वह नहीं रुका. अब उसके हाथ में आये मेरे कसे हुए स्तनों को वह कहाँ छोड़ने वाला था?

फिर उसने मेरी ब्रा से मेरे मम्मे बाहर निकाले और एक को चूसने लगा और दूसरे को मसलने लगा।

वो बारी बारी से मेरे दोनों स्तनों का हलवा बनाने में लगा हुआ था और मेरे निपल्स को मुँह में भर कर खींच रहा था.

दोस्तो, जब किसी लड़की के स्तन चूसे जाते हैं तो उसकी चूत से रस टपकने लगता है।

मेरी टांगों के बीच यही हो रहा था. चूत से रस बहने लगा और पैंटी को गीला करने लगा और मेरे मुँह से सिर्फ ‘आह आह अखिल’ की आवाज निकल रही थी। वह बीच-बीच में मेरे स्तनों और होंठों को भी चूम रहा था।

हम दोनों की जीभें भी मजा देने लगीं.

तभी अचानक एक कार के तेज़ रफ़्तार से चलने की आवाज़ आई। कुछ दूर जाने के बाद वह कार वापस आई और उसमें से आवाज आई कि भाई, अगर तुम्हें मेरी जरूरत हो तो बता देना।

तब तक हम दोनों होश में आ चुके थे और अलग हो गए थे.

वह कार अचानक आगे बढ़ गई.

हम दोनों एक मिनट तक सनाका खाते बैठे रहे, फिर एक-दूसरे की ओर देखकर हंस पड़े।

अब मैंने अपने कपड़े पहन लिये. उतारते समय मेरी शर्ट थोड़ी फट गई थी, लेकिन इतनी थी कि पहनी जा सके.

अखिल ने कार स्टार्ट की.

लेकिन अब तक मेरी चूत में आग लग चुकी थी. मैं उसके लंड के लिए तड़प रही थी. उसका लंड भी बहुत टाइट हो रहा था, उसकी पैंट में से साफ दिख रहा था. (कॉलेज चुदाई कहानी)

मैं अपने आप पर काबू नहीं रख पाई और अपना हाथ उसके लंड पर फिराने लगी। वो भी पागल हो रहा था. फिर मैंने उसकी पैंट खोली और उसके अंडरवियर से अपना लंड बाहर निकाला.

जैसे ही मैंने उसका लंड देखा तो मैं डर गई… इतना मोटा और लंबा था… कम से कम 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा रहा होगा।

मैं लंड को बाहर निकालने के बाद उस पर अपना हाथ ऊपर नीचे कर रही थी.

फिर अखिल ने मुझे अपना लंड चूसने को कहा. इससे पहले कि मैं कुछ कह पाती, उसने मेरा सिर पकड़ कर अपने लंड पर दबा दिया.

मैंने भी तुरंत उसका लंड अपने मुँह में ले लिया. अब वो कार चला रहा था और मैं उसका लंड चूस रही थी.

आनन्द के मारे उसकी आँखें भी बंद हो रही थीं; उसके मुँह से भी आह निकल रही थी. वो अपने एक हाथ से मेरा सर दबा रहा था.

मैंने उसका पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया.

उसका स्वाद मुझे इतना पसंद आया कि आज भी जब मैं उसके लंड के बारे में सोचती हूं तो उसका स्वाद मेरे मुंह में याद आ जाता है.

फिर हम एक दोस्त के रूम पर आये.

उसका दोस्त कहीं बाहर गया हुआ था.
दोस्त ने बताया कि चाबी गमले के नीचे है.

हम दोनों वहां आ गये.
फ्लैट में कोई नहीं था.

हम दोनों ने मौके का फायदा उठाया और अन्दर चले गये. मैं बिस्तर पर लेट गयी; उसने जल्दी से गेट लॉक किया और अंदर आ गया.

अंदर आते ही उसने मुझे किस किया और हम दोनों एक दूसरे के कपड़े उतारने लगे. एक दूसरे के शरीर को चूमने लगे.

उसने मेरी ब्रा भी उतार दी थी. उसने मेरे दोनों स्तनों को अपने कब्जे में ले लिया और उनसे खेलने लगा. एक को मुँह में लेकर चूस रहा था और दूसरे को दबा रहा था। मैं सिर्फ पैंटी में थी. (कॉलेज चुदाई कहानी)

मैंने उसका अंडरवियर भी उतार दिया और फिर से उसका लंड चूसने लगी. मैं उसे अपनी गांड हिला हिला कर दिखा रही थी.

वो बार बार मेरी गांड पर थप्पड़ मार रहा था. जब भी वो मेरी Tight Chut में उंगली डालता तो मैं और भी जोर से उसका लंड चूसने लगती.

फिर हम दोनों 69 की अवस्था में आ गये. उसने मुझे अपने ऊपर ले लिया. वो मेरी चूत चाट रहा था और मैं उसका लंड चूस रही थी. (कॉलेज चुदाई कहानी)

कुछ देर बाद उसने मुझे सीधा लेटाया और मेरे ऊपर आ गया और आते ही मुझे चूमने लगा। फिर पता नहीं कब उसने अपना लंड मेरी चूत में घुसा दिया.

मेरे मुँह से बहुत तेज़ चीख निकली लेकिन उसने चूमना जारी रखा।

मैं रोने लगी. वह जोर नहीं लगा रहा था.

जब मैंने रोना बंद किया तो उसने धक्का देना शुरू कर दिया. वो और जोर जोर से Chut Chudai करने लगा. मेरे मुँह से आह आह आह अखिल की आवाज निकल रही थी.

वो मेरे स्तनों को चूसते हुए मुझे चोद रहा था.. और तेज तेज धक्के मार कर मेरी चूत फाड रहा था। कुछ देर बाद हम दोनों शांत हो गये, एक दूसरे को चूमा, गले लगाया और नंगे ही सो गये। (कॉलेज चुदाई कहानी)

करीब एक घंटे बाद मेरी आंख खुली तो वो मेरी चूत चाट रहा था. फिर से शुरू हो गई हॉट फ्रेंड सेक्स.

इस बार उसने मुझसे अपने लंड की सवारी करने को कहा. मैंने मजे से लंड की सवारी की और अपने मियां को अपनी चूचियां पिलायीं.

उस दिन की चुदाई के बाद मुझे नहीं पता कि अखिल ने मुझे कितनी बार चोदा है.

आपको मेरी कॉलेज चुदाई कहानी कैसी लगी, कृपया मुझे कमेंट करके जरूर बताएं.

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasystory.com” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Lucknow Call Girls

This will close in 0 seconds