मेरे लंड ने किया भाभी की चूत का उद्घाटन – XXX भाभी सेक्स

मेरे लंड ने किया भाभी की चूत का उद्घाटन – XXX भाभी सेक्स

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “मेरे लंड ने किया भाभी की चूत का उद्घाटन – XXX भाभी सेक्स”। मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

मेरे दोस्तों को मेरा नमस्कार, मेरा नाम रोहन है। मैं लुधियाना से हूँ। मेरी उम्र तीस वर्ष है।

आज मैं आपको अपने जीवन की सच्ची XXX भाभी सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ।
यह कहानी 2016 की है जब मैं विदेश में रहता था। वहां मेरा अपना काम था. मेरा शरीर न तो बहुत पतला है और न ही बहुत मोटा है।

मेरी ऊंचाई पांच फुट नौ इंच है और मेरे लंड का आकार 6″ लंबा और 2″ मोटा है.

अब मैं अपनी सेक्स कहानी शुरू करता हूँ. मैं डेढ़ साल तक विदेश में था. वहां मेरा एक दोस्त बना, वो भी पंजाब से था. उसे अंग्रेजी नहीं आती थी.

इस तरह हमारी जान-पहचान हुई और हम दोनों दोस्त बन गये. हम दोनों छुट्टी वाले दिन उनके कमरे पर ही रुकते थे.

एक दिन जब मैं उसके कमरे पर गया तो उसने मुझसे कहा- मेरे फेसबुक पर किसी लड़की का मैसेज आया है.
मैंने देखा तो उसका मैसेज था ‘क्या आप मेरी मदद कर सकते हैं?’

फिर मैंने उसे अपनी फेसबुक आईडी से मैसेज किया और फिर उसने भी मुझे वापस मैसेज किया.

उस लड़की का नाम Rachana था. मैंने उनसे पूछा- मैडम, आपको क्या मदद चाहिए?
तो उसने बताया कि वो भारत में रहती है. उसका जीजू भी उसी देश में है जहां मैं रहता हूँ. और जीजू कभी भी मेरी बहन को फ़ोन नहीं करते और ना ही पैसे भेजते हैं.

मैंने उससे उसके जीजू का नाम और फोटो पूछा. मैंने सोचा, अगर मेरी वजह से किसी को फायदा होगा तो मैं किसी और की मदद करूंगा. उसने अपने जीजू का नाम तो बताया लेकिन उसकी फोटो नहीं दी.

फिर धीरे-धीरे हमारी सामान्य बातचीत होने लगी. हम देर रात तक बातें करने लगे. हमारी बातें धीरे-धीरे प्यार की तरफ बढ़ने लगीं. (XXX भाभी सेक्स)

मेरा पहले से ही दो लड़कियों के साथ अफेयर था इसलिए मुझे उससे प्यार नहीं था. मैं तो बस टाइम पास कर रहा था.

फिर एक दिन उसने मुझे बताया कि वह शादीशुदा है और उसकी एक बेटी है।
और जिस आदमी को वह ढूंढ रही है वह उसका जीजू नहीं बल्कि उसका अपना पति है।

दोस्तों उस लड़की के मुहं से यह बात सुनकर मुझे बहुत गुस्सा आया लेकिन मैंने अपने आप पर कंट्रोल कर लिया.
फिर मैंने सोचा, कोई बात नहीं, लड़की नहीं तो भाभी ही ठीक है.

ऐसे ही बातें करते-करते चार महीने बीत गये। फिर मुझे भी धीरे धीरे उससे प्यार होने लगा. फिर हम दोनों देर रात तक बातें करते रहे और बातें प्यार में बदल गईं.

धीरे-धीरे हमारी बातें सेक्स की तरफ बढ़ने लगीं. मैंने उससे उसके फिगर के बारे में पूछा तो उसने बताया कि उसका फिगर 32-30-34 है. फिर मैं हर रात उससे वीडियो कॉल पर सेक्सी बातें करने लगा, उसे अपना लंड दिखाने लगा।

उसने मुझे दिखाया और अपनी चूत में उंगली की और हस्तमैथुन का आनंद लिया। उसने मुझे बताया कि उसने बहुत दिनों से सेक्स नहीं किया है इसलिए उसकी चूत सेक्स के लिए तड़प रही है, लंड के लिए प्यासी है.

कुछ दिनों बाद मेरे मामा की लड़की की शादी तय हो गई और मुझे भी छुट्टी पर अपने देश भारत आना पड़ा। मैंने उसे यह बताया और वह मेरे भारत आने से बहुत खुश हुई।’

मुझे फरवरी के आखिरी सप्ताह का टिकट मिल गया। मार्च के अंत में थी शादी

मैं भी लुधियाना आया था. यहां आने के बाद रचना और मेरी बात बहुत कम हुई. मैं शादी में व्यस्त था तो रचना मुझ पर गुस्सा करने लगी कि तुम मुझसे बात नहीं करते. मैंने उससे कहा कि मैं शादी में व्यस्त हूं।

मेरी बहन की शादी के बाद हम फिर खुलकर बातें करने लगे।

तो मैंने उससे कहा- मैं तुमसे मिलना चाहता हूँ. यदि आप कहें तो मैं आपके शहर में आऊँ।
फिर उसने कहा- चलो एक दिन का प्रोग्राम बनाते हैं और कहीं मिलते हैं!
तो तय हुआ कि हम उसके शहर में मिलेंगे.

मैंने अपने परिवार को बताया कि मैं एक दोस्त से मिलने जा रहा हूं और मुझे देर हो जाएगी।

मैं सुबह घर से कार से निकला और 1 घंटे बाद मैं उसके शहर पहुंच गया.
मैंने उसे फोन किया तो उसने कहा- तुम बस स्टॉप पर मेरा इंतजार करो; मैं अभी आ रही हूं.

मैं उसका इंतजार करने लगा और 10 मिनट बाद वो आ गयी. जब मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया. उसकी ऊंचाई 5 फीट 2 इंच, गोरा रंग और नीले सूट में वह बहुत प्यारी लग रही थी। वह अपनी बेटी को साथ लेकर आई थीं. उनकी बेटी एक साल की थी. (XXX भाभी सेक्स)

मैंने उसे कार में बिठाया और हम वहां से निकल गये.

उसके शहर से कुछ ही दूरी पर जंगल शुरू हो जाते हैं। मैं अपनी कार उस दिशा में ले गया.

हमने सड़क किनारे गाड़ी रोकी और बातें करने लगे. हम कार में गले मिले और फिर किस करने लगे और बारिश भी शुरू हो गई थी. हम काफी देर तक कार में किस करते रहे.

उस दिन उनके पास समय कम था इसलिए हम कुछ देर बाद वहां से निकल गये. मैंने उसे बस स्टॉप पर छोड़ा और घर आ गया।

कुछ दिन बाद मैंने उससे कहा कि हम एक होटल में मिलेंगे।
पहले तो वो मना करने लगी, फिर मेरे कुछ देर मनाने के बाद वो मान गयी.
हम अपने शहर के एक होटल में मिले.

मैंने वहां 3 घंटे के लिए एक कमरा बुक किया था. मेरे कमरे में पहुंचने के कुछ देर बाद रचना भी आ गयी. हम गले मिले और बिस्तर पर बैठ गए।

आज भी वह अपनी बेटी को साथ लेकर आई थीं. मैंने उससे कहा- यार, पहले अपनी बेटी को सुला लो, फिर कुछ करेंगे.

उसने अपना स्तन बाहर निकाला और अपनी बेटी के मुँह में दे दिया और जब उसकी बेटी सो गई तो हम अपना काम करने लगे।

हम बिस्तर पर बैठ कर किस करते रहे, कभी मैं उसका निचला होंठ चूसता तो कभी उसका ऊपरी होंठ चूसता। फिर मैंने उसके गालों को चूमा और उसकी गर्दन को चूमने लगा. (XXX भाभी सेक्स)

ऐसे ही हम एक दूसरे के कपड़े उतारने लगे. अपने कपड़े उतारने के बाद मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसे फिर से चूमना शुरू कर दिया और हम कुछ देर तक चूमते रहे।

फिर मैं उसके 32 साइज के Big Boobs में से एक को चूसने लगा और दूसरे को दबाने लगा. उसके 32 साइज के स्तनों पर बड़े हल्के भूरे रंग के निपल्स भी बहुत प्यारे लग रहे थे.

मैं उसके मम्मों को चूसते हुए उसके पेट पर हर जगह चूमने लगा. कभी उसकी नाभि में जीभ डालकर मजा लेता तो कभी उसके पेट पर काट लेता.

फिर उसने उसकी क्लीन शेव्ड चूत को चूमना शुरू कर दिया और एक उंगली भी धीरे-धीरे अंदर-बाहर करने लगा। उसके बाद उसने भाभी की चूत में अपनी जीभ डाल दी और चूसने लगा.

कुछ देर तक भाभी की चूत चूसने के बाद मैंने अपना लंड चूसने को कहा तो वो मना करने लगीं. मैंने भी इस पर ज्यादा जोर नहीं दिया.

मैंने उससे पूछा कि क्या वह अब तैयार है?
उसने कहा- हां, मैं भी तैयार हूं.

मैंने उससे कहा- तुम अपने हाथ से लंड को पकड़ कर Tight Chut के छेद पर रखो.
उसने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत की दरार पर रगड़ा और फिर छेद पर रख दिया. मैं धीरे-धीरे दबाव बनाकर अपना लंड उसकी कसी हुई चूत में डालने लगा।

रचना बहुत दिनों के बाद Chut Chudai करवा रही थी इसलिए उसकी चूत टाइट थी, उसे थोड़ा दर्द भी हो रहा था, लेकिन रचना ने दर्द सहन कर लिया। फिर मैंने अपना लंड धीरे-धीरे अन्दर-बाहर करना शुरू किया और स्पीड बढ़ाने लगा।

अब रचना मजे से चुदवा रही थी और कामुक आवाजें निकाल रही थी- आअहह… आअहह… ओह्ह… मेरी जान, आराम से करो. (XXX भाभी सेक्स)

फिर कुछ देर बाद वो खुद ही बोलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… तेज़ और तेज़, पूरी ताकत से मुझे चोदो। आज मेरी प्यास बुझा दो; 2 साल से मेरी चुदाई नहीं हुई है. मैं भी पूरी ताकत से भाभी को चोद रहा था.

10 मिनट के बाद रचना भाभी एक बार झड़ गईं लेकिन मैं उन्हें चोदता रहा.
दरअसल, मैंने अपने एक दोस्त की सलाह पर एक मेडिकल स्टोर से दवा ली थी और इसका असर मुझ पर लंबे समय तक रहने वाला था। (XXX भाभी सेक्स)

रचना निढाल होकर बिस्तर पर पड़ी रही लेकिन मैंने उसे चोदना जारी रखा. मैं भी उसे चूमता रहा; उसके चूचों से खेलता रहा.

कुछ देर बाद रचना भाभी एक बार फिर से उत्तेजित हो गईं और मुझसे कहने लगीं- बस करो यार.. अब मुझे दर्द हो रहा है. लेकिन मेरा अभी तक नहीं हुआ था इसलिए मैंने उसकी बातों को अनसुना कर दिया और उसे चोदने में लगा रहा.

रचना के लिए अब बर्दाश्त करना मुश्किल हो रहा था तो मैंने उससे कहा- इसे अपने हाथ से पकड़ो और हस्तमैथुन करके वीर्य निकालो. उन्होंने ऐसा ही किया। (XXX भाभी सेक्स)

जब मैं झड़ गया तो हम कुछ देर तक एक दूसरे से चिपक कर लेटे रहे.
हमने कुछ देर आराम किया, अपने कपड़े पहने और वहां से निकल गये.

इसके बाद भी हम दो बार एक ही होटल में मिल चुके हैं … और मैंने रचना भाभी की Moti Gand भी मारी है.

फिर रचना का पति वापस आ गया तो हमने बात करना बंद कर दिया।
आज जब मैं रचना के साथ बिताए पलों को याद करता हूं तो मेरा लंड फिर से खड़ा हो जाता है.

मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को मेरी XXX भाभी सेक्स कहानी पसंद आयी होगी.
आप मुझे मेल कर सकते हैं. यदि आप अधिक कमेंट करेंगे तो मुझे अच्छा लगेगा।

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasystory.com” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Lucknow Call Girls

This will close in 0 seconds