लेडिस टेलर ने जमकर चोदा और गांड भी मारी Part-2

लेडिस टेलर ने जमकर चोदा और गांड भी मारी Part-2

नमस्कार मेरा नाम आशिका हे में दिल्ली की रहे वाली हूँ आज में आपको बताने जा रही हु की कैसे “लेडिस टेलर ने जमकर चोदा और गांड भी मारी”

कहानी का पिछला भाग:- लेडिस टेलर ने जमकर चोदा और गांड भी मारी

टेलर मास्टर की ओर से मेरी चूत और गांड की चुदाई कहानी का पहला भाग लेडीज़ टेलर का लंड और मेरी चूत गांड-1

आपने पिछले भाग में पढ़ा था कि रोहन नाम के दर्जी ने मुझे अपनी ही दुकान में चोदा था और अगले दिन वो मेरे घर आया और मुझसे लहंगा चोली का ट्रायल लेने को कहा.

जब मैं घर आया तो वह लहंगा चोली का ट्रायल लेने लगा। वो आज अपने भाई अमन के साथ आया था और वो दोनों मुझे चोदने की कोशिश कर रहे थे.

अब आगे:

अमन ने झुक कर मेरी चुचियों को अच्छी तरह से देखा. फिर रोहन ने कहा- अब खड़ी हो जाओ. मैं खड़ी हुई तो उन्होंने कहा- अपने दोनों हाथ ऊपर उठाओ. मैंने थोड़ा ऊपर उठाया तो उन्होंने कहा- इसे सिर के ऊपर उठाओ.

मैंने भी यही किया। वो मेरे पास आया और मेरी चोली का साइड चेक करने लगा. फिर सामने आकर मेरी चूची के नीचे चेक करने लगा. मैं अपना हाथ नीचे लाने लगी तो उसने कहा मुझे तो चेक करने दो।

मैं डर गई और मैंने फिर से अपने हाथ अपने सिर के ऊपर उठा लिए। उसने अपने दोनों हाथ चोली के नीचे डाले और झटके से चोली के अन्दर ले गया और बोला- ये साइड से ढीली है.. नहीं तो हाथ अन्दर नहीं जाते।

उसने अमन को बुलाया और कहा- देखो… कितना ढीला है। उसने अपना हाथ बाहर निकाला और अमन से कहा- तुम भी डाल कर देखो. अमन थोड़ा झिझका, तो उसने कहा- हाथ डाल दे … ये मां की लौड़ी कुछ नहीं बोलेगी।

उसने अपने हाथ डाल दिए और आराम से मेरी चुचियों को सहलाने लगा. रोहन बोला- दूध का मजा बाद में लेना.. अभी ठीक से देख लेना.. ढीला है या नहीं? चलो अब इसे ठीक करें.

उसने अमन से कहा- पीछे से डोरी खोल दो और चोली निकाल कर मुझे दे दो। उसने डोरी खोल दी. तभी रोहन ने सामने से चोली पकड़कर उसे बाहर खींच लिया. अब मैं ऊपर से नंगी थी.

उन्होंने अमन से कहा- चोली पर दोनों तरफ आधा-आधा इंच तुरपाई बनाओ, तब तक मैं उसके लहंगे की फिटिंग देख लेता हूँ. मैंने अपने दोनों हाथों से अपने स्तन ढक लिये।

रोहन ने पूछा- लहंगे की फिटिंग कैसी है? मैंने कहा- घेरा तो ठीक है, लेकिन कूल्हों से थोड़ा ढीला है. उसने लहंगे की बेल्ट पर अपनी उंगली घुमाई और मुझे अपने करीब खींच लिया.

तभी उसने अपने हाथ पीछे ले जाकर लहंगे में डाल दिये और मेरे चूतड़ पकड़ कर बोली- तुम्हारे चूतड़ बहुत सॉलिड हैं. मैंने भी उसके कान में कहा- हां तुम्हारा लंड भी बहुत सॉलिड है. वो हंसा- मजा आया?

मैंने कहा- रात भर याद करती रही. फिर उसने मेरे दूध दबाये और बोला – चल घूम जा. उसने अपना हाथ मेरे लहंगे से नहीं हटाया. बस मुझे घुमा दिया. इससे उसका हाथ आगे की ओर चूत पर आ गया.

उसने मेरी चूत को पकड़ कर जोर से दबा दिया. आह-आह की आवाज करते हुए धीरे कर न. वह बोला – बहन की चूत आज मैं तेरी भोसड़ी का भोसड़ा बना दूंगा। मैंने कहा- बना दो.. रोका किसने है जालिम?

उन्होंने हंसते हुए कहा- तुम्हारा लहंगा भी ढीला है.. उस पर भी तुरपाई लगानी पड़ेगी. ये कहते हुए उसने लहंगे की साइड चेन खोल दी. मेरा लहंगा नीचे गिर गया. उसने अमन को बुलाया और कहा – इस पर भी तुरपाई मार दे।

इस समय मैं दो मर्दों के सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थी. फिर उन्होंने अमन को रोका और मुझसे कहा- कम से कम इसकी सिलाई की फीस तो दे दो। मैंने कहा- मम्मी दे देगी.

उसने कहा- वो फीस नहीं.. अभी वाली तुम दो। मैंने कहा- कितने पैसे? वो बोला- तेरी माँ की चूत, बहन की लौड़ी, पैसे से कोई काम नहीं होता. मैं हंस दी।

उसने मेरे चूचे देखे और बोला- बहन की लौड़ी … कल मैंने कहा था, अगर चूचे खड़े नहीं होंगे, तो फिटिंग ठीक से नहीं आएगी. तुमने चोली ऐसे ही पहन ली. मैंने आंख मार कर कहा- कल जैसे कीजिए न.

उसने कहा- हाँ, यहाँ आओ… तुम्हारी फीस भी ले लेते हैं और तुम्हें पहनना भी सिखा देते हैं। मैं वहीं खड़ी हंस रही थी. उसी समय अमन ने पीछे से धक्का दिया और मैं रोहन के सीने से होते हुए उसके सामने आ गयी।

मैं अलग होकर थोड़ा दूर चली गई. रोहन ने हाथ बढ़ा कर मेरी चूची दबा दी और बोला- साली दूर क्यों खड़ी है … इधर आ और लंड चूस.

यह कहते हुए उसने अपना पायजामा खोला और अमन की ओर भी इशारा किया। इशारा पाते ही उसने भी अपनी पैंट उतार दी.

तभी रोहन ने मेरी चूची पकड़ कर मुझे अपनी ओर खींच लिया और बोला- चलो, मेरी शर्ट उतारो. मैंने इठलाते हुए उसकी शर्ट उतार दी.

अब वो भी नंगा हो गया और बोला- अमन भोसड़ी के… उतार अपने कपड़े… ऐसी माल रोज रोज नहीं मिलेगी चोदने को। अमन भी पूरा नंगा हो गया.

रोहन ने मेरे बालों को पकड़ कर खींचा और मेरे होंठों को चूसने लगा. कभी वो मेरे होंठों को चूसता, कभी काटता. मुझे भी मजा आने लगा. रोहन का मोटा लंड मेरी चूत को छूने लगा था.

तभी अमन ने पीछे से आगे की ओर हाथ ले जाकर मेरी चुचियाँ पकड़ लीं और दबाने लगा। रोहन बोला- इसे अच्छे से रगड़ो और दबाओ हरामी… इसके मुँह से दर्द की आवाज आनी चाहिए.

आज मुझे दो लंड से चुदाई का मजा मिलने वाला था. मैं बहुत गरम हो गयी थी. तभी रोहन ने मुझे बिस्तर पर धक्का देकर सीधा लिटा दिया और बोला- अब इसके निपल्स को चूसो.

Visit Us:-

अमन मेरे निपल्स चूसने लगा और रोहन मेरी चूत छूने लगा. कुछ ही देर में अमन भी जोश में आ गया. उसने अपना लंड मेरे हाथ में दे दिया और मेरी चुचियाँ चूसने लगा.

मैं अमन का लंड चूस रही थी. फिर उसने मेरे एक चुचे को जोर से काट लिया. मैं जोर से चिल्लाई- हरामी के पिल्लों … क्यों चुचे को काट रहा है … मादरचोद मजे से चूस न. यह सुनकर रोहन ने मेरी चूत पर दांत गड़ा दिए. मैं फिर चिल्लाई.

फिर अमन ने अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया. मैंने गुस्से में उसके लंड पर अपने दांत मार दिये. वो बोला- बहन की लौड़ी मेरा लंड काटती है.. तो ये ले.

उसने अपना लंड मेरे गले के अन्दर डाल दिया. जब मुझे सांस लेने में दिक्कत होने लगी तो उन्होंने इसे बाहर निकाल लिया.

उधर रोहन ने मेरी दोनों टांगें ऊपर उठा दीं और मेरी गांड चाटने लगा. मैं सातवें आसमान पर उड़ने लगी. फिर मैं अमन का लंड धीरे-धीरे चूसने लगी। तभी रोहन ने अपना 8 इंच का लंड एक ही झटके में मेरी चूत में डाल दिया.

मैं तड़प कर बोली- आह मर गई मादरचोद … बहन के लौड़े … फाड़ दी मेरी चूत. वो बोला- अभी कहां मेरी रंडी.. अभी रुक.. देखती जा.

उसने मेरे निपल्स पकड़ कर खींच लिये. मैं अमन का लंड चूसे जा रही थी. तभी उसने मेरे बाल पकड़ कर लंड मुँह में डाल दिया और अपना पानी छोड़ दिया. मैं उसे पूरा पी गई. मुझे लन्ड का पानी पीना बहुत पसंद है।

फिर रोहन ने लंड को चूत से बाहर निकाला और बोला- चलो अब तुम ऊपर आ जाओ. वह बिस्तर पर लेट गया. अमन का लंड खड़ा होने लगा था.

मैं रोहन के लंड पर बैठ गयी और ऊपर नीचे होने लगी. तभी रोहन ने मुझे खींच लिया और मेरे सीधे हाथ के निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा. मैं आगे झुकी, तो उसने अमन को मेरे पीछे आने का इशारा किया.

जब मैं सीधी होने लगी तो रोहन ने मेरी चूची को अपने दांतों में दबा लिया और इतनी जोर से पकड़ लिया कि अगर मैं सीधी होती तो चूची टूट कर रोहन के मुँह में ही रह जाती.

मैं दर्द के मारे वैसे ही लेटी रही. फिर अमन ने अपना लंड मेरी गांड के छेद में डाल दिया.. वो भी पूरी स्पीड से।

मेरी तो गांड फट गई… एक साथ दोनों छेदों में लंड लेने का यह मेरा पहला मौका था। मैं दर्द से कराहने लगी- निकालो लंड … मादरचोद एक एक करके चोदो.

फिर भी उन दोनों ने मुझे नहीं छोड़ा. मेरे दर्द से आंसू आ गये. मेरी चूत और गांड में दो दो लंड एक साथ चलने लगे. कुछ ही देर में मुझे बहुत मजा आने लगा. वो दोनों पूरी स्पीड से मेरी चूत और गांड चोदने लगे.

इस दौरान मैं 2 बार पानी छोड़ चुकी थी. थोड़ी देर बाद उन दोनों ने अपना लंड बाहर निकाला और मुझे बैठने को कहा. मैं समझ गयी की मुझे दो दो लंड का वीर्य पीने को मिलने वाला है.

रोहन ने अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया और चूसने को कहा. मैं लंड चूसने लगी. रोहन का माल मेरे मुँह में जाने वाला था. उसने पिचकारी मारते हुए मेरे मुँह को अपने रस से भर दिया.

थोड़ी देर में उसने लंड मुँह से निकाला और अपना बाकी पानी मेरे मुँह पर और चूचों पर छोड़ दिया. उसका सफ़ेद पानी बहुत गाढ़ा और गर्म था. रोहन बोला- मेरा लंड तो साफ़ कर रंडी. मैंने लंड चूस कर साफ कर दिया.

उसके बाद अमन ने अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया और मुझसे चुसवाया. कुछ देर बाद उसने अपना लंड बाहर निकाला और मेरे मम्मों पर पानी छोड़ दिया. रोहन बोला – लंड का सारा पानी अपनी चुचियों और चेहरे पर मल लो चमक जायेगी. मैंने अमन के लंड का माल मम्मों पर मल दिया.

तभी रोहन ने मेरे बाल पकड़ कर मुझे शीशे के सामने खड़ा कर दिया और बोला- रंडी, ये मेरी फीस थी. मैंने हंस कर कहा- मुझे भी फीस भरने में मजा आया.

उन्होंने कहा- कल दोपहर को आकर लहंगा चोली ले जाना. और हां ब्रा और पेंटी पहन कर मत आना, वो मेरे पास हैं. वहीं पहन लेना, कल तुम अपने सबसे छोटे कपड़े पहन कर आना.

मैं समझ गई कि कल भी चुदाई का खेल होगा. मैंने हाँ में सिर हिलाया. इसके बाद रोहन बोला – अब तुम हमेशा मुझसे चुदती रहोगी. मेंने कुछ नहीं कहा।

उन दोनों ने कपड़े पहने और चले गये. उनके जाने के बाद मेने मुख्य दरवाजा बंद कर दिया और आकर नहाने लगी. मेरी चूत और गांड अभी भी लंड का मजा ले रही थीं.

लेकिन मुझे उसकी चिंता थी कि अब वो हमेशा मेरी चूत की चुदाई के बारे में बात करेगा. मुझे भी उससे छुटकारा पाना ज़रूरी लगा. अगले दिन मैं उसके पास जाने का प्लान बनाने लगी.

शाम को मैंने रोहन भाई को फ़ोन किया और कहा- रोहन भाई, आज बहुत मज़ा आया… मैं तुमसे कुछ बात करना चाहती हूँ… जरा अलग जाओ ना। उसने कहा- ठीक है.

वो ट्रायल रूम वाले कमरे के पास गया और बोला- बताओ मेरी जान क्या कहना है? मैंने कहा- भैनचोद माँ के लौड़े… तुमने दिन में जो किया उसका मैंने वीडियो बना लिया है और उसमें तुम दोनों भाई मुझे चोद रहे हो… सब साफ़ दिख रहा है, अब मैं पुलिस के पास जा रही हूँ।

यह सुनकर वो डर गया और बोला- प्लीज़ ऐसा मत करो.. मैं बर्बाद हो जाऊँगा। मैंने कहा – बहन के लौड़े एक शर्त पर. उसने कहा- प्लीज़ बोलो?

तो मैंने कहा- कल मेरा लहंगा-चोली, मेरी ब्रा और कच्छी पैक करके दोपहर तक अपने लड़के के हाथ भेज देना.. नहीं तो पुलिस तुम्हें लेने आ जाएगी। इसके बाद तुमने कभी मेरी तरफ देखा भी तो वीडियो याद रखना.

वो डर गया और बोला- ठीक है. उसने अगले दिन सब कुछ भेज दिया। इस तरह मेने उससे छुटकारा पा लिया और लंड का मजा अलग से ले लिया.

Lucknow Call Girls

This will close in 0 seconds