भाई ने कुंवारी बहन की गांड की चुदाई करके रुला दिया। Bhai Bahan ki Chudai

भाई ने कुंवारी बहन की गांड की चुदाई करके रुला दिया। Bhai Bahan ki Chudai

Bhai Bahan ki Chudai की कहानी मेरी मौसी की बेटी के साथ यौन सम्बन्ध की है.

हम दोनों की आपस में अच्छी बनती थी इसलिए जब भी वह हमारे घर आती थी तो हम साथ ही रहते थे। हमारे बीच सेक्स कैसे हुआ?

प्रिय पाठको,

आपने मेरी पिछली कहानी: (Behen ki Bur ki Chudai)

बहुत पसंद की.

धन्यवाद.

नमस्कार वाइल्डफैंटेसी प्रेमियो, मेरा नाम रोहित है और मैं जयपुर जिले (राजस्थान) में रहने वाला हूं।

मैं कई वर्षों से wildfantasystory.com साइट का नियमित पाठक रहा हूँ, मैंने यहाँ अनगिनत कहानियाँ पढ़ी हैं।
मुझे कुछ कहानियाँ पसंद आईं, कुछ बहुत अच्छी, और कुछ ऐसी लगीं जैसे वे सिर्फ सेक्स के बारे में अपनी भावनाओं को मोड़ने और व्यक्त करने के लिए लिखी गई थीं।

मेरी बहुत दिनों से इच्छा रही है कि मैं भी अपनी कहानी यहाँ लिखूँ।
आज मैं अपनी ये इच्छा पूरी करने जा रहा हूं.

ये कहानी सच्ची है या झूठी.. ये तो मैं और वो इंसान ही जानते हैं जिसके साथ ये हुआ है।
तो मैं आपका ज्यादा समय बर्बाद नहीं करना चाहता और कहानी शुरू करना चाहता हूँ.

मैंने अपने जीवन में सेक्स से संबंधित जो कुछ भी सीखा, समझा और जाना उसमें इस साइट का योगदान 90% तक है।

यह (Bhai Bahan ki Chudai) कहानी मेरे और मेरी मौसी की बेटी के रिश्ते पर आधारित है.
उसका नाम कृतिका है. 

यह कहानी तब शुरू होती है जब मैं 20 साल का था यानी आज से ठीक 4 साल पहले।

मेरे शरीर में नयी जवानी आ गयी थी और किसी भी लड़की या औरत के बोबे और गांड देख कर लंड खड़ा हो जाता था.

मैं ये नहीं लिखूंगा कि मेरा लंड बहुत मोटा और बहुत लंबा है.
बल्कि मेरे पास एक सामान्य लंड है जो किसी भी चूत की प्यास आसानी से बुझा सकता है, जिसकी लंबाई 5.5 इंच और मोटाई 2 इंच है.

अब तक मैंने अपनी मौसी और भाभी समेत 2 कुंवारी और 3 शादीशुदा चूतों को चोदा है।
मैं उनके बारे में फिर कभी बात करूंगा.

ये कहानी मेरी पहली चुदाई के बारे में है.
अगर आपको ये कहानी पसंद आई और मुझे प्यार मिला तो मैं बाकी की Bur Chudai भी लिखूंगा.

मेरी बहन उस वक्त 18 साल की थी.
शुरू से ही हम दोनों खूब मस्ती करते थे.

गर्मी की छुट्टियों में जब भी वह रहने आती थी.

लेकिन वो साल 2019 में आई जब हम 3साल बाद मिले तो वो 4-5 दिन के लिए अपनी मौसी के पास रहने आई!
हम भाई-बहन से ज़्यादा दोस्त हुआ करते थे और ये बात हमारा पूरा परिवार जानता है.

उसके आते ही लंड सलामी देने लगा क्योंकि उसका शरीर अब पहले से कहीं ज्यादा भर गया था. 

4 साल पहले जब मैंने उसे देखा तो वह छोटी दिखती थी, लेकिन इन 4 सालों में उसका शरीर काफी बड़ा हो गया था।

इससे पहले मेरे मन में कभी भी उसके बारे में गंदे या बुरे विचार नहीं आये थे.
लेकिन जब उस दिन मैंने देखा तो मेरे शरीर में सिहरन दौड़ गयी.

उस वक्त उनका फिगर 36-32-36 था, जो मुझे बाद में उनकी ब्रा और पैंटी से पता चला.

जिस दिन वो आई, उसी रात वो मेरे साथ बिस्तर पर लेटी हुई थी और सोने की तैयारी कर रही थी.
माँ और पिताजी अगले कमरे में सो रहे थे और मौसी हॉल में सो रही थी।

हम एक-दूसरे को चिढ़ा रहे थे और बातें कर रहे थे क्योंकि हमारे बीच शुरू से ही अच्छी बॉन्डिंग थी।
मैं उसके हाथों को सहला रहा था और वो भी मेरे बालों में हाथ फिरा रही थी.

मैंने उससे पूछा- तुमने कोई बॉयफ्रेंड बनाया है या नहीं?
फिर बोली- लड़के बहुत पीछे हैं लेकिन मुझे अपने करियर पर फोकस करना है. इन सबके लिए तो पूरी जिंदगी खर्च हो गई.

फिर उसने मुझसे पूछा- तुमने कोई गर्लफ्रेंड बनाई है या नहीं?
मैंने कहा- अभी तो कोई नहीं है.

ऐसे ही बात करते और उसके हाथ को सहलाते समय गलती से मेरा हाथ उसके चूचों पर लग गया, तो वो कुछ नहीं बोली.
मेरी हिम्मत बढ़ गई और अब मैं भी जानबूझ कर उसके चूचों को छूने लगा.

शायद उसे भी अच्छा लग रहा था क्योंकि वो भी अपना हाथ मेरे सिर से हटा कर मेरी छाती पर फिराने लगी थी.

मैं धीरे-धीरे उसका दायां बूब पूरा दबाने लगा।
वो हल्की-हल्की सिसकारियाँ लेने लगी और साथ ही अपना हाथ मेरी छाती से नीचे ले जाकर मेरे पजामे के ऊपर से ही सहलाने लगी।

ऐसा करते करते हम दोनों करीब आ गये और किस करने लगे.

हमारा चुम्बन काफी देर तक चला.

उसके बाद मैंने उसका टॉप उतार दिया और ब्रा में बंद Big Boobs को चूसने लगा.
उसे बहुत मजा आ रहा था.

फिर मैंने भी अपने कपड़े उतार दिये और उसके भी.. हम दोनों नंगे हो गये।

उसका गोरा बदन और 36″ के मम्मे और 36″ की Moti Gand देख कर लंड और मुँह दोनों से लार टपकने लगी.

फिर मैं उसे चूमते हुए धीरे-धीरे नीचे आने लगा और उसकी कुँवारी कुँवारी चूत को सूंघने लगा।
पसीने और चूत के पानी की मिली-जुली गंध (जिसे खुशबू नहीं कहेंगे) काफी सुखद थी.

मैंने धीरे से उसकी Pink Chut की फांकों को अलग किया और उसने सीधे अपनी जीभ उसमें डाल दी.
आआह… क्या टेस्ट आ रहा है.

मुझे पोर्न वीडियो देखने से ज्यादा उसकी चूत चूसने और चाटने में मजा आ रहा था.

जब उसकी चूत पूरी गीली हो गई तो मैंने अपना लंड उसके मुँह में दे दिया.

पहले तो उसने बहुत नाटक किया लेकिन जब मैंने थोड़ा आग्रह किया तो उसने थोड़ी देर तक लंड को मुँह में लेकर चूसा.

उसके बाद मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया.
मैंने पास में पड़ी वैसलीन की डिब्बी से थोड़ी सी वैसलीन उसकी चूत पर और अपने लंड पर लगा ली।

फिर मैंने उसकी गांड के नीचे एक तकिया रख दिया, जिससे उसकी चूत उभर कर सामने आ गयी.
फिर मैं अपना लंड उसकी पिंक चुत में डालने लगा.

जैसे ही लंड अन्दर गया, उसका दर्द बढ़ गया और उसकी आँखों से आँसू और चूत से खून दोनों बहने लगे।

जब लंड पूरा अन्दर चला गया तो मैं 5 मिनट तक उसके ऊपर ऐसे ही लेटा रहा और उसका दर्द कम होने का इंतज़ार करने लगा.

लंड ने उसकी चूत में सही जगह बना ली और वो भी नीचे से अपनी गांड हल्के-हल्के उछालने लगी.
फिर मैंने भी धीरे धीरे धक्के लगाना शुरू कर दिया.
Bhai Bahan ki Chudai में उसे दर्द तो बहुत हो रहा था लेकिन मजा भी बहुत आ रहा था.
वो नीचे से हर धक्के का बराबर जवाब दे रही थी.

5 मिनट बाद उसने हल्की सी आह भरी और पानी छोड़ दिया.

चूत ज्यादा गीली होने के कारण उसमें से पच पच की आवाज आने लगी, जिसे सुनकर हम दोनों खूब हंसने लगे.

मैंने अपना लंड निकाला और फिर से उसकी चूत चाटने लगा.

2 मिनट बाद मैंने फिर से लंड उसकी चूत में घुसा कर धक्के लगाने शुरू कर दिए.
उसे पहले से कम दर्द हो रहा था और पहले से ज्यादा मजा आ रहा था.

ऐसे ही हमें सेक्स करते हुए 25 मिनट बीत गये थे.
अब मैं भी अपने चरम पर आ गया और वो भी दूसरी बार पानी छोड़ने के करीब आ गयी.

मेरे धक्को की स्पीड बढ़ गयी और 5 मिनट बाद 70-80 धक्को के बाद मैंने अपना गाढ़ा सफ़ेद वीर्य उसकी चूत में गिरा दिया और साथ ही उसकी चूत ने फिर से पानी छोड़ दिया.
फिर मैं कुछ देर तक उसके ऊपर लेटा रहा.

थोड़ी देर बाद जब लंड सिकुड़ कर अपने आप उसकी चूत से बाहर निकल गया तो मैं भी उसके ऊपर से उतर कर उसके साथ लेट गया.

हमारी सांसें बहुत तेज चल रही थीं लेकिन मन में First Time Sex का सुकून और खुशी दोनों थी.

अपनी चूत में वीर्य गिराने से वो थोड़ी परेशान हो गयी.
मैंने उसे समझाया कि मैं सुबह गोली ले आऊंगा.
फिर वो मान गयी.

फिर हमने एक-दूसरे को चूमा और पूरी रात नंगे ही एक-दूसरे को बांहों में लेकर सोये।

सुबह शायद मौसी को हम पर शक हो गया था, जिसके बारे में मैं अगली कहानी में लिखूंगा.

सुबह 9 बजे उठकर फ्रेश हुआ और सबसे पहले मेडिकल से उसके लिए दर्द निवारक और गर्भनिरोधक गोली लेकर आया ताकि हम दोनों को किसी भी तरह की परेशानी ना हो.

वह दिन भर आराम करती रही।
शाम तक उसका दर्द भी गायब हो गया और वो फिर से लंड लेने के लिए तड़पने लगी.

उनकी तबीयत देख कर मौसी बोलीं- आज रात ये मेरे साथ सोयेगी.

ये सुनते ही उनका मूड ऑफ हो गया.

फिर मैंने मौसी से कहा- मौसी जी, मैं हूँ ना, मैं इसका ख्याल रखूँगा!
कृतिका ने भी मेरा साथ दिया- मम्मी, मोहित भैया को मेरे साथ सोने दो! मैं अब ठीक हूं!

मौसी ने तिरछी नजरों से मेरी तरफ देखा और ‘ठीक है’ कहकर चली गईं।

उस रात सबके सो जाने के बाद हमने फिर से चुम्बन करना शुरू किया, इस बार चुम्बन 15 मिनट तक चला।

अगर बीच में हमारी सांसें रुकनी होती तो हम थोड़ी देर रुक जाते और फिर से किस करना शुरू कर देते.

किस करने के बाद आज हमने एक दूसरे के कपड़े उतार दिये.

कपड़े उतारने के बाद मैंने सोचा कि आज इसे तड़पाऊँगा।
इसलिए मैंने उसके पूरे शरीर पर चूमना शुरू कर दिया, उसकी चूत के अलावा जहां भी जगह मिली वहां चूमने लगा!

वो बार-बार कहने लगी- भैया प्लीज़… मेरी चूत ने आपका क्या हाल कर दिया है? उससे भी प्यार करो!
मैंने कहा- अभी इसका समय नहीं आया है!

करीब 20 मिनट तक उसके पूरे शरीर को चाटने, चूसने और चूमने के बाद वो इतनी उत्तेजित हो गई कि बिना अपनी चूत को छुए ही झड़ गई और हांफने लगी.

फिर उसके बाद मैंने उसे अपना लंड हाथ में दिया और कहा- इसे भी थोड़ा प्यार करो!

उसने थोड़ा नाटक किया लेकिन वो जल्दी ही मान गई और लंड चूसने लगी.
आज उसका लंड चूसने का तरीका कल से अलग था. मानो कोई एक ही दिन में विशेषज्ञ बन गया हो.

मैं इतना खुश हुआ कि 15 मिनट में ही उसके मुँह में झड़ गया और वो सारा माल पी गई.

मैंने उससे पूछा- ये तुमने एक ही दिन में कहां से सीख लिया?
उसने बताया- आज मैं दिन में बोर हो रही थी तो मैंने पोर्न वीडियो देख ली. उससे मुझे पता चला कि लंड कैसे चूसना है. अब इसे आज़माया और यह पसंद आया तो मैं इसे करता रहा और रुका नहीं।

मैंने पूछा- तो फिर पहले नाटक क्यों कर रही थी?
फिर वो बोली- जब तुम मुझे मनाते हो तो मुझे अच्छा लगता है. तो मैं थोड़ा नाटक करने लगी.

10 मिनट आराम करने के बाद हम दोनों फिर से सेक्स के लिए तैयार हो गये!

मैंने कृतिका से कहा- दीदी, इसे थोड़ा गीला कर दो!
उसने एक पल भी देर किए बिना लंड को मुँह में ले लिया और ढेर सारा थूक निकाल कर गीला कर दिया.

फिर मैंने उसे बोला घोड़ी बनने को कहा.
वह जल्दी ही बन गयी

मैं उसके पीछे गया और लंड को एक ही बार में सीधा अंदर डाल दिया.
उसकी हल्की सी सिसकारी निकल गयी.
कुछ पल रुकने के बाद मैंने धक्के लगाना शुरू कर दिया.

वो एक ही लय में हर धक्के का बराबर साथ दे रही थी.

80-90 धक्को के बाद वो उस पोजीशन में थकने लगा तो मैंने उसे पोजीशन बदलने के लिए कहा!
और मैं लेट गया.

उसके बाद उसने उसे लंड के ऊपर बैठाया और नीचे से धक्के लगाने लगा.
इस पोजीशन में लंड आसानी से पूरा चूत में जा रहा था और दोनों को बहुत मजा आ रहा था.

मैं नीचे से उसके मम्मे दबा रहा था और वो उछल-उछल कर लंड को अपनी चूत में अन्दर बाहर कर रही थी।

10-12 मिनट तक ऐसा करने के बाद वो थकने लगी तो मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया और मैं उसके ऊपर आ गया.

मैंने उसकी टांगें चौड़ी कीं और तेजी के साथ लंड को सीधा चुत में पेलना शुरू कर दिया.

इस दौरान वो एक बार झड़ चुकी थी और कल की तरह आज भी उसकी चूत से पच पच की आवाज आ रही थी.

जैसे ही मैंने धक्कों की स्पीड बढ़ाई, उसकी सिसकारियां भी बढ़ने लगीं.

मैंने उससे कहा- चुप रहो… कहीं मौसी को पता न चल जाये!
वो बोली- मैं कोशिश कर रही हूं लेकिन हो नहीं रहा.

फिर मैंने अपना मुँह उसके मुँह पर रख दिया और धक्के लगाने लगा.
और फिर कृतिका दूसरी बार झड़ गयी.
जैसे ही उसका गर्म पानी मेरे लंड को छुआ, तो मेरे लंड ने भी हथियार डाल दिए और मैंने लंड बाहर निकाला और सारा माल उसके पेट पर गिरा दिया, जिससे कुछ बूंदें उछलकर उसके मम्मों पर गिर गईं, जिन्हें उसने अपने मम्मों पर मसल लिया.

मैंने दरवाजे की तरफ थोड़ा सा देखा तो मुझे एक परछाई दिखी!
मैंने उसे नजरअंदाज कर दिया और हम दोनों कल की तरह एक दूसरे की बांहों में सो गये.

उस दिन के बाद से हम दोनों जब भी मिलते हैं मैं कृतिका की खूब Bur ki Chudai करता हूं और उसकी चुदाई को पूरा लाल कर देता हूं

तो खूब चुदाई करते हैं.

मैंने अब तक उसे 40-50 बार चोदा है और कई बार उसकी गांड भी मारी है.
जिससे उसका फिगर 37-33-37 हो गया.

अगर ऐसे ही चलता रहा तो जल्द ही उसकी गांड 37″ की हो जायेगी.

अगर आपको यह कहानी पसंद आई कि मैंने उसकी गांड कैसे मारी और उसकी सहेली की कुंवारी चूत कैसे चोदी, तो यह भी लिखूंगा.

उम्मीद है आपको भाई-बहन का ये प्यार भरा मिलन पसंद आया होगा.

Wildfantasy साइट पर यह मेरी पहली कहानी है।
Bhai Bahan ki Chudai कहानी पर मुझे आपके सुझावों और टिप्पणियों का बेसब्री से इंतजार रहेगा.

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds