वैलेंटाइन डे पर दो लड़को से चुदी और चुदाई का पूरा आनंद लिया

वैलेंटाइन डे पर दो लड़को से चुदी और चुदाई का पूरा आनंद लिया

नमस्कार दोस्तो मेरा नाम आशिका है आज में आपको बताने जा रही हु की कैसे में “वैलेंटाइन डे पर दो लड़को से चुदी और चुदाई का पूरा आनंद लिया”

वैसे तो वैलेंटाइन डे बहुत से लोग मनाते हैं। मैं भी उनमें से एक हूं. मैं कॉलेज टाइम से ही हर साल वैलेंटाइन डे एन्जॉय कर रही हूं। लेकिन इस साल का वैलेंटाइन डे मेरी जिंदगी में कुछ खास था.

क्योंकि इस वैलेंटाइन डे पर मैंने एक ही दिन में दो अलग-अलग पार्टनर्स के साथ अलग-अलग तरह से एन्जॉय किया.

कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको अपने बॉयफ्रेंड के बारे में बता दूँ, मेरे बॉयफ्रेंड का नाम राहुल है, मैं उसे राहुल कहकर बुलाती हूँ।

इस साल के वैलेंटाइन डे की शुरुआत तो साधारण रही, लेकिन आखिरी दिन मेरे लिए इतना यादगार होगा, इसका अंदाजा नहीं था.

उस दिन 14 फरवरी को सुबह 7 बजे राहुल का मैसेज आया- दस बजे तैयार रहना. मुझे उसके संदेश से कोई आश्चर्य नहीं हुआ क्योंकि हमने पहले से ही आज की योजना बना रखी थी।

मैंने वैलेंटाइन डे के लिए सेक्सी सी लॉन्जरी भी खरीदी। वो काली जालीदार पारदर्शी ब्रा और पेंटी थी, जो कहने को ही ब्रा-पेंटी थी, उससे कुछ भी छुपता नहीं था।

8 बजे मैं जल्दी से नहा कर तैयार होने लगी. मुझे भी वो सेक्सी ब्रा और पैंटी बहुत पसंद आई, क्योंकि वो बहुत हल्की और आरामदायक थी.

उसके ऊपर मैंने पीला टॉप और काली जींस पहनी थी. मैं तैयार होकर राहुल का इंतजार करने लगी. वह आया और जैसे ही वह मेरे पास पहुंचा, मैं इंतजार कर रही थी, उसने मेरी तारीफ करनी शुरू कर दी।

मैंने मुस्कुरा कर कहा- चलो अब, शाम को जल्दी घर आना है. उसने पूछा- क्यों? मैंने झूठ बोल दिया कि घर पर काम है. वहीं शाम को मुझे एक लड़के से मिलना था जिससे मेरी मुलाकात एक मेट साइट पर हुई थी.

राहुल मुझे अपने दोस्त के कमरे में ले गया. मैंने देखा कि उसने कमरा पहले से ही सजा रखा था. यह सजा हुआ कमरा देखकर मुझे बहुत ख़ुशी हुई.

उसने कमरा ऐसे सजाया हुआ था मानो आज ही हमारी सुहागरात हो रही हो. चारों ओर फूल और गुब्बारे थे, मानो बिस्तर गुलाब से ही बना हो।

राहुल ने स्ट्रॉबेरी केक भी ऑर्डर किया था. ये सब देखकर मुझे बहुत ख़ुशी हुई. हम बिस्तर पर बैठ गए और केक खाते हुए रोमांटिक बातें करने लगे.

उसके बाद मैंने भी राहुल को खुश करते हुए कहा- ओके डियर अपनी आंखें बंद करो. जैसे ही उसने अपनी आंखें बंद कीं, मैंने अपना टॉप और जींस उतार दी.

मुझे उस सेक्सी ब्रा-पैंटी में देख कर राहुल का लंड खड़ा हो गया. राहुल ने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे खींच लिया और मुझे चूमने लगा। मैं भी मूड में थी, मैंने भी उसके होंठों को चूमना शुरू कर दिया।

किस करते करते राहुल ने अपना हाथ मेरी पैंटी में डाल दिया और मेरी चूत पर अपना हाथ फिराने लगा. इससे मेरी आह निकल गई. इससे मेरी चूत पानी से गीली होने लगी.

राहुल दूसरे हाथ से मेरे दूध के निपल्स को मसलने लगा. मैं धीमी आवाज में ‘अहह … इससस्स …’ करने लगी. राहुल ने अपनी शर्ट उतार दी और मेरे मम्मों को बाहर निकाल कर चूसने लगा।

राहुल मेरे निपल्स को बहुत प्यार से और धीरे-धीरे चूस और चूम रहा था। कमरे में गुलाब और स्ट्रॉबेरी की खुशबू मुझे और भी मदहोश कर रही थी. मेरी पैंटी गीली हो चुकी थी.

मैंने अपनी ब्रा उतार दी और पैंटी उतार रही थी. राहुल ने मुझे धक्का देकर लिटा दिया और फिर मुझे गले लगाकर मेरे स्तनों को चूमने लगा। मुझे बहुत मजा आने लगा.

राहुल ने मुझे गुलाब के फूल से सहलाया। वो मेरे होठों से लेकर मेरी जांघों तक फूल को बहुत धीरे-धीरे सहला रहा था और मेरे शरीर को चूम रहा था।

मैं हल्के-हल्के कराह रही थी- आअहह…उफ्फ्फ…यस बेबी फक मी बेबी। राहुल ने मेरी गर्दन से लेकर मेरी चूत तक चूमना शुरू कर दिया

और फिर मेरी गीली पैंटी को नीचे खींच दिया और फूलों से मेरी चूत पर गुदगुदी करने लगा। मैं अपने आप पर काबू नहीं रख पाई, मैंने कहा- राहुल, बस करो.. अब मुझे चोदो।

इतने में राहुल ने अपनी दो उंगलियाँ मेरी चूत में डाल दीं. जैसे ही उसकी उंगली मेरी चूत में घुसी, मेरे मुँह से जोर से ‘आआहह…’ निकल गई।

फिर राहुल मेरी गीली चूत को चाटने लगा. कुछ देर बाद राहुल ने केक क्रीम मेरी चूत पर लगाई और फिर से चाटने लगा. मेरी चूत से लगातार पानी निकल रहा था. मैं बहुत नशे में थी.

मैंने राहुल से कहा- अब मुझे चोदो, मुझसे रहा नहीं जा रहा… जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो। राहुल ने अपना लंड आगे किया और मुझे घुटनों के बल बैठ कर उसे चूसने को कहा।

मैंने उसका आधा मोटा लंड अपने मुँह में ले लिया. राहुल अपनी ताकत लगाकर अपना लंड मेरे गले तक डाल रहा था.

कुछ देर बाद राहुल मुझे ऊपर ले गया और हम जोर-जोर से एक-दूसरे को मजा देने लगे। मेरे मुँह से सेक्सी आवाजें निकलती रहीं.

आख़िरकार राहुल ने मुझे डॉगी स्टाइल में सैट किया और अपने लंड से मेरी गांड पर थप्पड़ मारना शुरू कर दिया। मैं भी अपनी गांड उसके लंड पर टिका कर हिला रही थी.

राहुल ने अपना लंड मेरी चूत के छेद पर सेट किया और जोर से धक्का मारा. चूत गीली होने के कारण उसका आधे से ज्यादा लंड आसानी से मेरी चूत में घुस गया और मैं भी आगे-पीछे होकर मजा लेने लगी।

राहुल ने चोदने की स्पीड बढ़ा दी. मेरी चूत एकदम टाइट और गीली हो गयी थी. मुझे लंड से चुदने में बहुत मजा आ रहा था.

राहुल ने मुझे डॉगी स्टाइल में 5 मिनट तक चोदा. इसके बाद मैं राहुल के ऊपर आ गई और उसके लंड को अपने अंदर लेने लगी.

मैं ऊपर नीचे होकर चुद रही थी. राहुल मेरे दोनों बड़े स्तनों को मसल रहा था। मेरे निपल्स बहुत टाइट हो गये थे.

राहुल ने मुझे अपनी ओर खींच लिया और मुझे चूमने के साथ ही नीचे से झटके देकर चोदने लगा.

कुछ ही देर में हम दोनों की वासना आखिरी चरम पर पहुंच गई. इतने में राहुल ने अपने धक्के तेज़ कर दिये और अपना सारा वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया।

वो बिना अपना लंड निकाले मुझसे लिपट गया और मुझे चूमने लगा. कुछ देर तक दोनों नंगे ही बिस्तर पर लेटे रहे. फिर राहुल मेरी चूत चाटने लगा.

वो अपनी जीभ मेरी चूत के अन्दर डालने लगा. मुझे फिर से मूड में लाकर राहुल ने फिर से सेक्स का खेल शुरू कर दिया.

आज यहाँ सस्ते दामों पर कॉल गर्ल्स बुक कर सकते हे Visit Us:-

इस बार हमने और भी कई पोजीशन में सेक्स करने की कोशिश की, जिसमें मुझे बहुत मजा आया. इस बार राहुल ने मेरी चुचियों के बीच में अपना लंड फंसा कर मुझे पहली बार चोदा.

उसकी इस हरकत से मुझे अपने भाई की हरकत याद आ गयी. हाँ मेरा भाई शुभम… हर बार पहले अपना मोटा लंड मेरे मम्मों पर रगड़ता है और फिर मुझे चोदता है।

खैर.. शाम 5 बजे तक राहुल ने मुझे 3 बार चोदा। फिर मैंने उससे घर से चलने को कहा. आख़िरकार, मेरी किसी और से मिलने की योजना थी।

जैसे ही राहुल ने मुझे घर छोड़ा, मैं फिर से नहाई और अपनी उंगली अपनी चूत में डाल कर अच्छी तरह चूत साफ कर ली। मैं फिर वैसे ही तैयार हो गई.

मुझे 6 बजे रेस्टोरेंट पहुंचना था, लेकिन मुझे देर हो गई. अब तक मेरे फोन पर रोहन की 10 मिस्ड कॉल आ चुकी थीं, जिनसे मेरी मुलाकात एक महीने पहले एक फ्रेंडशिप साइट पर हुई थी।

आज हम दोनों सिर्फ हुकअप के लिए मिलने वाले थे. मैंने रोहन को फ़ोन करके बताया कि बस आ रही हूँ, मैं रास्ते में हूँ।

आधे घंटे बाद मैंने रोहन को देखा, वह लंबा, गोरा, सेक्सी ट्रिम दाढ़ी वाला, बिल्कुल फिट कपड़े पहने हुए था। वैसे तो मैंने उसकी फोटो देखी थी, लेकिन असल में वो और भी ज्यादा हैंडसम लग रहा था.

मैं उनके पास गई, पहले तो उन्होंने सामान्य गले लगाकर मेरा स्वागत किया और फिर अपनी घड़ी दिखाकर बताया कि मुझे कितनी देर हो गई है। मैं डेढ़ घंटे देर से पहुंची थी. मैंने मुस्कुराते हुए सॉरी कहा.

फिर रोहन मान गया, आख़िर उसे भी मेरी चूत चाहिए थी। वो मेरे लाल टॉप और मेरे लाल होंठों की तारीफ करने लगा.

मैंने सिर्फ टॉप बदला था, बाकी वही सेक्सी ब्रा और पैंटी पहन कर आ गई जो मैंने राहुल के लिए पहनी थी। हमने रेस्टोरेंट में थोड़ी देर बातें की और हल्का खाना खाया.

रोहन लगातार मेरे मम्मों को देख रहा था, जो टाइट टॉप की वजह से बड़े दिख रहे थे। मैंने उसे रूमाल देते हुए कहा- अभी तो पूरी रात पड़ी है इसे देखने में.

वह शरमा गया, हमने पहले बात की थी। रोहन ने मुझे बताया कि उसने अब तक किसी के साथ सेक्स नहीं किया है. उसका गठीला शरीर देखकर मैं सेक्स करने के लिए तैयार हो गई.

रेस्टोरेंट से निकल कर हम दोनों उसकी कार में बैठ गये. रोहन ने मुझसे पूछा- कहाँ चलें? मैंने मुस्कुराते हुए कहा- जहां तुम्हें ऐसा करते हुए शर्म नहीं आती. रोहन बोला- अगर तुम कहो तो सब कुछ यहीं कर लो.

यह सुनकर मैंने सोचा कि क्यों न कार सेक्स का भी मजा लिया जाए. मैंने आँखें बंद करके अपनी सहमति दे दी. वहां से हम एक अंधेरी जगह पर गए, जो शहर से 2-3 किलोमीटर दूर थी.

रात के 8 बजे थे इसलिए वहां से लोगों की ज्यादा आवाजाही नहीं थी. मैंने रोहन को चूमने के लिए उसकी शर्ट पकड़ कर अपनी ओर खींच लिया और हम एक-दूसरे के होंठों को चूमने लगे।

लिप किस के बाद रोहन मेरी गर्दन पर चूमने लगा और मेरे मम्मों को जोर-जोर से मसलने लगा।

मैं आहें भरने लगी. रोहन ने सीट नीचे की और अपनी शर्ट खोली, उसका शरीर बहुत सेक्सी लग रहा था। चौड़ी छाती, पेट, सब कुछ बढ़िया था।

फिर उसने मेरा टॉप खोल दिया और ब्रा उतारते ही बोला- ये तो मेरी उम्मीद से भी बड़े निकले और ये लव बाईट तुम्हारे चूचों पर किसने दी?

एक बार तो मैं चौंक गई. राहुल के साथ दोपहर के रोमांस के दौरान मेरे स्तनों पर निशान पड़ गए थे। फिर मैंने उससे खुल कर बात करना ही बेहतर समझा. मैंने कहा- ये मेरे बॉयफ्रेंड का कल का प्यार है.

रोहन मेरे दोनों मम्मों को जोर-जोर से मसलने लगा और दोनों निपल्स को पकड़ कर जोर-जोर से मसलने लगा। मुझे दर्द होने लगा था तो मैंने कहा- आराम से करो.. दर्द हो रहा है।

वो मेरे एक दूध को मुंह में पकड़ कर बच्चे की तरह चूसने लगा और दूसरे को मसलता रहा. मैं उसके सिर को पकड़ कर और भी ज्यादा अपनी ओर खींच रही थी.

थोड़ी देर बाद रोहन ने अपना लिंग बाहर निकाला, जो बहुत सख्त हो गया था। मेरे अब तक के अनुभव के हिसाब से उसका आकार थोड़ा छोटा था, लेकिन उसका लिंग गोरा था इसलिए मैं खुश थी।

रोहन मेरे ऊपर बैठ कर अपना लंड मेरे मुँह में डालने लगा. मैं उसका गोरा लंड चूसने लगी. रोहन आँखें बंद करके ‘आहह हाँ बेबी ले लो…’ कह रहा था।

मैंने उसके लंड को गीला किया और हाथ से हिलाने लगी और बोली- अब तुम्हारी बारी है. रोहन ने मेरी जींस और पैंटी दोनों उतार दीं और मेरी चूत को ऊपर से नीचे तक चाटने लगा.

मैंने कहा- जीभ अन्दर डालो. फिर उसने अपनी जीभ चूत के अन्दर डाल दी. मैं अपनी चूत को ऊपर-नीचे करके और ‘आहह उम्म्म्म…’ की आवाजें निकाल कर इसका मजा लेने लगी।

इस्स्स्स्स..’ करने लगी, जिससे रोहन और अच्छे से चूत चाटने लगा. थोड़ी देर बाद मैं उठी और रोहन के लंड पर बैठ गयी.

उसका लंड बड़ी मुश्किल से अन्दर जा रहा था. मैं हल्की-हल्की उछल रही थी. मेरी चूत से बहुत कम पानी आ रहा था इसलिए लंड अन्दर फंस रहा था. इससे मुझे थोड़ा दर्द भी हो रहा था.

रोहन ने मुझे कस कर अपनी बांहों में पकड़ लिया. वह मेरी गर्दन पर जोर जोर से काट रहा था. मैं भी उसे चूमने लगी.

इतने में रोहन ने सीट थोड़ी नीचे कर दी और ज़ोर-ज़ोर से झटके मारने लगा। मुझे दर्द होने लगा था. मैं चिल्लाने लगी- आह रोहन प्लीज़ धीरे.. दर्द हो रहा है.

कार के अंदर धक-धक की आवाज आ रही थी. मुझे दर्द और मजा दोनों महसूस हो रहा था. रोहन ने फिर से सीट पूरी नीचे कर दी.. और मुझे लिटा कर मेरी दोनों टाँगें मोड़ दीं और अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया।

उसका लंड मेरी चूत की दीवार में काफी अंदर तक घुस गया. इससे मेरी चीख निकल गयी. थोड़ी देर चोदने के बाद रोहन ने अपना वीर्य मेरे स्तनों पर छोड़ दिया।

उसके बाद मेरी आगे चुदाई करने की हिम्मत नहीं हुई. लेकिन रोहन ने मेरी चूत चाट कर मुझे दूसरी बार सेक्स करने के लिए मना लिया और फिर हमने कार में ही दोबारा सेक्स किया. दूसरी बार मुझे ज्यादा मजा नहीं आया.

मैंने आज तक एक ही दिन में इतनी चुदाई नहीं की थी. लेकिन इस वैलेंटाइन डे ने मुझे मजा देने के साथ-साथ मेरी हालत भी खराब कर दी.

Lucknow Call Girls

This will close in 0 seconds