अपनी पुरानी आशिक को कंटेनर में चोदा – हॉट गर्ल फ़क स्टोरी

अपनी पुरानी आशिक को कंटेनर में चोदा – हॉट गर्ल फ़क स्टोरी

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “अपनी पुरानी आशिक को कंटेनर में चोदा – हॉट गर्ल फ़क स्टोरी”। मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

हॉट गर्ल फ़क स्टोरी में पढ़ें कि एक लड़की मेरी दोस्त बन गयी थी. वह मेरी गर्लफ्रेंड बनना चाहती थी लेकिन मैंने उस पर ध्यान नहीं दिया। फिर भी वो मेरे लंड से चुदने में कामयाब हो गयी.

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम तुषार है और मैं मुरैना का रहने वाला हूँ।
मैं इस वक्त 21 साल का हूं. मेरा शरीर एक एथलीट जैसा है. मैं एक स्पोर्ट्स पर्सन हूं और विंड सर्फिंग करता हूं। ये एक वॉटर स्पोर्ट है.

यह हॉट गर्ल फ़क स्टोरी बिल्कुल सच्ची है।

यह तब हुआ जब मेरे कोच ने मुझे फोन किया और बताया कि अगले हफ्ते हमारा एक क्लब इंदौर में खुलने वाला है क्योंकि वहां एक बड़ा तालाब है।

तो आपको कुछ महीनों के लिए वहां आना होगा ताकि जो नए बच्चे वहां आ रहे हैं उन्हें आप ट्रेनिंग दे सकें। चूँकि अभी हमारे पास इंदौर के लिए कोई कोच नहीं है। (हॉट गर्ल फ़क स्टोरी)

मैंने उनकी बात मान ली और अगले ही हफ्ते इंदौर चला गया.

तालाब के किनारे कुछ नेवी के कंटेनर रखे हुए थे जो अंदर से एक घर की तरह बने हुए थे।
सर ने मुझे रहने के लिए एक कंटेनर दिया.

उसके दो महीने बाद की बात है.

मेरी एक दोस्त है उसका नाम Aarohi है.
आरोही अभी सिर्फ 24 साल की है, वो बहुत गोरी है और उसका शरीर थोड़ा भरा हुआ है।
उनके घुंघराले बाल क्या कहर ढाते हैं. उसे देख कर लंड हिनहिनाने लगता है.

मेरी आरोही से मुलाकात एक राष्ट्रीय कार्यक्रम में हुई थी और वह मुझे अपना बॉयफ्रेंड बनाने के लिए पागल थी।
लेकिन उस वक्त मैं उसे अपनी गर्लफ्रेंड नहीं बना सका क्योंकि उस इवेंट में मेरी गर्लफ्रेंड भी मेरे साथ थी.

उस वक्त तो मेरी उससे बात नहीं हो पाई लेकिन आरोही मुझसे कॉल पर बात करती रही.
जिससे मुझे पता चल गया कि वो मुझसे Chut Chudai करवाना चाहती थी.

उसकी आंखों में सेक्स की हवस साफ़ दिख रही थी.
उस मुलाकात के दो महीने बाद मुझे उनका फोन आया कि मैं इंदौर आ रही हूं. मेरे साथ मेरी छोटी बहन भी आ रही है.

मेरे एक दोस्त का ऑपरेशन है और मेरे पास रहने के लिए कोई जगह नहीं है, क्या आप व्यवस्था कर सकते हैं? मैं आज शाम तक इंदौर आऊंगी.

मैंने कहा- मैं आपके होटल में रुकने का इंतजाम कर दूँगा.
वो बोली- अरे यार, समझे नहीं? अगर मुझे किसी होटल में रुकना होता तो मैं तुम्हें क्यों बोलती? मुझे आपके साथ रहने का मन कर रहा है. यदि आपके पास जगह है तो मुझे बताएं अन्यथा मैं अपनी जगह तलाश लुंगी।

मैंने उससे कहा- ठीक है, पांच मिनट रुको, मैं सर से पूछ कर बताऊंगा.
मैं तुरंत सर के पास गया और उन्हें सारी बात बताई.

सर बिल्कुल मेरे दोस्त की तरह थे.
उसने कहा- कोई दिक्कत नहीं है, उसे यहीं बुला लो. उसे कोई दिक्कत नहीं होगी.

मैंने कहा- सर, कोई आपत्ति तो नहीं करेगा?
सर बोले- मैं यहीं हूँ.. तुम उसे बुला लो।

फिर मैंने उसे फोन किया और कहा- तुम यहीं मेरे साथ रुक सकती हो और मैं तुम्हें स्टेशन पर लेने आऊंगा.

शाम सात बजे उसे स्टेशन से लेने गया.
वह अपनी बहन के साथ आई थी. उसकी बहन छोटी थी. मैंने सोचा था कि वह बड़ी होगी, लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। मुझे आरोही से मतलब था. (हॉट गर्ल फ़क स्टोरी)

आरोही मुझसे बहुत गर्मजोशी से मिली.
उसने सिर्फ मुझे गले नहीं लगाया, बाकी सब कुछ गले लगाने जैसा था।

शायद वह अपनी बहन की वजह से झिझक रही थी.
उसकी बहन की वजह से मुझे भी लगता था कि शायद वो मुझे वो ख़ुशी नहीं दे पाएगी जो वो ये आइडिया लेकर मेरे पास आई थी.

उस समय मैं भी अपनी गर्लफ्रेंड से एक महीने से नहीं मिला था इसलिए मैं काफी बेसब्र था.

फिर मैं उन्हें क्लब में ले गया.
क्लब में आने के बाद हम सबने खाना खाया.
हमारे क्लब का कुक खाना बनाकर चला गया था और सर भी अपने घर चले गये थे.

अब पूरे क्लब में एक गार्ड और हम तीन लोग थे।

यह क्लब एक बड़े तालाब के किनारे पर है और इसका रखरखाव बहुत खूबसूरती से किया गया है।

खाना खाने के बाद हम लोग बाहर घूमने निकले.
आरोही की छोटी बहन को नींद आ रही थी इसलिए वह कंटेनर में सोने चली गई।

यह क्लब प्रतिबंधित क्षेत्र में है, इसलिए वहां कोई नहीं आ सकता.
पूरे क्लब में सोलर लाइटें लगाई गई थीं, जो पूरे क्षेत्र को कवर करने के लिए पर्याप्त नहीं थीं। पूरे इलाके में धीमी रोशनी का असर था.

मैं ऐसी जगह की तलाश में था जहां मुझे आरोही के साथ एकांत मिल सके.

यहाँ थोड़ा ठंडक थी क्योंकि हम तालाब के किनारे थे। इसलिए मैं उसके साथ खुले में कुछ भी करने के बारे में सोच भी नहीं सकता था.

हम कुछ देर तक टहले और सामान्य बातचीत की।
मैं सोच रहा था कि इसकी शुरुआत कैसे करूं; कहीं वह कुछ गलत न समझ ले.

फिर उसने पूछा क्या मैं तुम्हें गले लगा सकती हूँ?
मैंने भी उससे कहा- हां क्यों नहीं.

ये सुनते ही उसने मुझे गले लगा लिया.
जैसे ही उसके Big Boobs मेरी छाती से लगे, मेरे लंड की इच्छाएँ जागने लगीं और उसे भी चूत की गर्मी का एहसास होने लगा।

हम दोनों उस खुली जगह में एक दूसरे से चिपक कर रगड़ने का मजा लेने लगे.
मैंने उसे अपनी बांहों में भरते हुए उसकी आंखों में देखा.
उसकी प्यास उसकी आंखों में झलक रही थी.

जब मैंने अपने होंठ उसके होंठों की ओर बढ़ाए तो उसने भी मेरा साथ दिया और हमारे होंठ एक दूसरे से मिल गए।
वो बहुत गर्म थी और उसके होंठों का रस मेरे अंदर मादकता भर रहा था.

उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी और मैं उसकी जीभ चूसने लगा.
सच में वो बहुत ही मादक थी. (हॉट गर्ल फ़क स्टोरी)

हमारी किस करीब 15 मिनट तक चली. हम दोनों बहुत गरम हो गये थे.
मैंने उससे कहा- चलो कंटेनर में चलते हैं.
वो मुझसे चिपकी हुई थी.

ऐसे ही हम दोनों कंटेनर में चले गये.
अंदर उसकी बहन सो रही थी.
हम दोनों उसके पास जाकर लेट गये.

आरोही को डर था कि अगर हमने कुछ किया तो उसकी बहन जाग सकती है.
उसकी बहन कंबल ओढ़कर सो रही थी, इसलिए हमने उसका चेहरा भी कंबल से ढक दिया.

इससे आरोही का डर थोड़ा कम हो गया.

हम दोनों पास पास लेटे हुए थे और मैं उसकी गर्दन पर किस कर रहा था.
हमारे पैर आपस में उलझे हुए थे.

मेरा एक हाथ उसके स्तन पर था और दूसरा उसकी पीठ को सहला रहा था।
आरोही मुझे पागलों की तरह चूम रही थी. (हॉट गर्ल फ़क स्टोरी)

इस चुम्बन के दौरान कब हमारे कपड़े हमसे अलग हो गये, हमें पता ही नहीं चला।

उसके चूचे 36 साइज के थे, उन्हें चूसने में उसे बहुत मजा आ रहा था.
मैं उसे चूमते हुए नीचे जा रहा था. वो उसकी नाभि में अपनी जीभ घुमा रहा था.

उसकी कामुक सिसकारियां सुन कर मेरी उत्तेजना और बढ़ती जा रही थी.
वो भी पागल हो रही थी.

मैं थोड़ा और नीचे गया तो उसकी Tight Chut की खुशबू मुझे पागल कर रही थी.
उसकी क्लीन शेव, पाव रोटी की तरह फूली हुई, वासना से भीगी हुई, गोरी चूत मेरे में वासना भर रही थी।

मुझे ऐसा लग रहा था जैसे वो मुझसे चुदवाने का प्लान बना कर आई हो.
उसकी गीली चूत मुझे निमंत्रण दे रही थी कि आओ और मुझे खा जाओ।

जैसे ही मैंने अपना मुँह उसकी चूत पर रखा, वो तड़पने लगी और कराहने लगी.
वो अपने हाथ से मेरा सिर दबा कर अपनी चूत में दबाने लगी.

अचानक वो इंडियन पोर्न लड़की उठ कर बैठ गई और मेरे कान में धीरे से बोली- मैं आपका लंड चूसना चाहती हूँ.

उसके बाद हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गये.
वो किसी रंडी की तरह मेरे लंड को गले तक लेकर चूस रही थी.

मुझे ऐसा लग रहा था कि वो बहुत दिनों से मेरे लंड की भूखी थी.
मैं भी उसकी चूत के रस में बह रहा था.

थोड़ी देर में मैंने उससे कहा कि मैं झड़ने वाला हूं.
उसने कहा- इसे मेरे मुँह में छोड़ दो और मैं भी झड़ने वाली हूँ… क्या तुम इसे चूसोगे?
मैंने कहा- हां, पिला दो मेरी जान. (हॉट गर्ल फ़क स्टोरी)

हम दोनों एक साथ झड़ गये.
वो मेरा सारा वीर्य पी गयी और मैंने भी उसकी चूत चाट कर साफ कर दी.

हम दोनों फिर से सीधे हुए और एक दूसरे को चूमने लगे.
थोड़ी देर बाद हम फिर से गर्म हो गये.

वो बैठ गयी और मेरा लंड चूसने लगी. वो किसी प्रोफेशनल रंडी की तरह मेरा लंड चूस रही थी.

थोड़ी देर बाद वो मेरे ऊपर आ गई और लंड को अपनी चूत पर रख लिया.
धीरे धीरे वो अपनी चूत को लंड पर टिका कर बैठ गयी.

मैं अब भी उस एहसास को महसूस कर सकता हूँ कि कैसे मेरा लंड धीरे-धीरे उसकी प्यारी चूत के अंदर जा रहा था और उसकी आवाज़ें माहौल को और भी खुशनुमा बना रही थीं।

वो मेरे लंड पर कूदने लगी.
मैं भी उसे नीचे से धक्के दे रहा था.

उसके बार-बार उछलने के साथ-साथ उसके स्तन भी उछल रहे थे, जिन्हें मैंने पकड़ लिया और दबाने लगा।

करीब 20 मिनट तक हमारी चुदाई चलती रही.
फिर मैंने उसे बताया कि मैं झड़ने वाला हूं।
उसने कहा मेरा भी.

मैंने कहा- अन्दर ही लोगी क्या?
वो बोली- हां, मैं तुम्हारा माल अपने अंदर लेना चाहती हूं.

वह लगातार मेरे लंड पर उछल रही थी कि अचानक हम दोनों के शरीर अकड़ने लगे और हम दोनों एक साथ स्खलित होने लगे। उसने अपनी चूत के छेद को ऐसे कस लिया मानो मेरे वीर्य की एक एक बूंद को अपनी चूत से चूस रही हो.

हम दोनों बिल्कुल निश्चिंत हो गये.
वो मेरे ऊपर से हट कर साइड में हो गयी और हम दोनों का वीर्य मिल कर उसकी चूत से बाहर आने लगा.

फिर वो मुझे फिर से चूमने लगी.

हमने पूरी रात चार बार अलग-अलग पोजीशन में सेक्स किया।
एक बार जब उसकी बहन गलती से जाग गई, तो उसने उसे फिर से थपथपाया और सुला दिया।
इधर मैं उसे चोद रहा था और वो अपनी बहन को थपथपा कर सुला रही थी.

मैंने उससे कहा- मैं तुम्हारी Moti Gand चोदना चाहता हूँ. उसने मना कर दिया- नहीं.. मैंने आज तक गांड में नहीं लिया है इसलिए ज्यादा दर्द होगा.. और मैं सहन नहीं कर पाऊँगी। इससे छुटकी भी उठ जायेगी. (हॉट गर्ल फ़क स्टोरी)

मैं इसे लेकर बाहर आया. वहाँ पर कोई नहीं था।
मैंने तालाब के किनारे उस लड़की की गांड चोदी.

वह मेरी जिंदगी के सबसे खूबसूरत पलों में से एक था।’
आज भी वह मुझसे चुदवाने आती है।

हमने कई बार जंगल में भी सेक्स किया है.
वह एक अलग कहानी है, इसे मैं फिर कभी किसी कहानी में बताऊंगा।

अब कृपया मुझे बताएं कि आपको मेरी सच्ची हॉट गर्ल फ़क स्टोरी कैसी लगी. कृपया मुझे अपने मेल के माध्यम से बताएं.

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasystory.com” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Lucknow Call Girls

This will close in 0 seconds