लंड की प्यासी टूशन टीचर को चोदा। टूशन टीचर की सेक्स स्टोरी

लंड की प्यासी टूशन टीचर को चोदा। टूशन टीचर की सेक्स स्टोरी

नमस्ते। मेरा नाम Preeti Singhal और मैं Gurgaon का रहने वाला हूं। मेरी हाइट 5.3 फीट और लुंड का साइज 6.5 इंच। मेरी उम्र अब 27 साल है और मेरा रंग काला और काया औसत। मैंने आज तक 50 से ज्यादा लड़किया और औरतो को छोटा है। और उनमे कुछ ने मेरे बच्चे को जन्म भी दिया है।

अब कहानी पे आते हैं। ये कहानी है आज से 7 साल पहले की है। ये मेरी सेक्स थी मेरे ट्यूशन टीचर (उर्मिला) के साथ। जो मेरी ही कॉलोनी में रहती है आपने पति और 2 बच्चों के साथ। मेरे सेक्स टीचर के बारे में बताता हूं। उनकी उम्र टैब 40 साल की थी और उनका फिगर नॉर्मल था।

उनके पति के प्राइवेट कंपनी में जॉब करते और बच्चे कॉलेज कम्पलीट कर रहे थे। मेरी टीचर घर पर ड्रेस पहनती थी पर पल्लू नहीं डालती थी। वो जब हम बच्चों को पढाती थी तो मेरी नज़र हमें उसके स्तन पर ही रहती थी। पर कभी उसे नोटिस नहीं किया की मैं उससे देख रहा हूं।

एक दिन की बात है घरपे लंड की प्यासी टूशन टीचर को चोदा अकेली थी और दोपहर का टाइम था। तो पति ऑफिस और बच्चे कॉलेज में। और मेरी परीक्षा की वजह से मुझे देर तक रखना पड़ा।

तो जैसे की आपको बताया था की मुझे उसके स्तन देखने की आदत हो गई थी। तो उसदिन वो पढ़ा रही थी और मेरी नज़र उसके स्तन पे थी। पर एक पल के लिए उसे नोटिस किया की मैं उसके स्तन को गुरूर रहा हूं। और वो बोली की क्या गुरूर रहे हो।

मुख्य: कुछ नहीं।

टीचर: तो ड्रेस के अंदर क्या देख रहे थे? (गुस्से में)

मुख्य: कुछ भी तो नहीं।

टीचर: मुझे मालुम है की तुम क्या देख रहे थे। तेरी ये हरकत बंद करदो नहीं तो घरे बोल दूंगा ये हरकत के बारे में।

मुख्य: सॉरी टीचर, फिर से नहीं होगा।

टीचर: ठीक है और अब याद रखना।

पर आदत से मजबूर था क्युकी टैब पोर्न के अलावा लाइव में एक ही औरत थी जिस्के स्तन देखते मिलते थे। तो फिर से थोड़ी देर बाद मैं उसके स्तन देखने लगा और उसे फिर से देखते हुए हुआ पकाड़ लिए।

टीचर: क्या इतना गुरूर रहे हो कभी देखे नहीं है क्या।

मुख्य: एक बार फिर क्षमा करें शिक्षक।

टीचर: सॉरी बादमे पहले मेरे सवाल का जवाब दो।

मुख्य: ठीक है।

टीचर: मैं कब से नोटिस कर रही हूं कि तू मेरे बूब्स को देख जा रहा है। (बूब्स शब्द सनके मैं शॉक हो गया।)

मुख्य: सॉरी टीचर वो गलती से ध्यान चला गया।

टीचर: मेरेको ये बता की कब तू मेरे बूब्स को देख रहा है।

मुख्य: जी वो 2 साल से।

टीचर: क्या 2 साल से?

मुख्य: हा.

टीचर: क्या मिलता है देखते।

मुख्य: जी वोह…

टीचर: जी वो क्या। क्या करोगे देखके।

मैं: (मैं भी थोड़ा खुलने की कोशिश करने लगा) जी वो अच्छा लगता है देखके।

टीचर: अच्छा लगता है मतलब, क्या करोगे उसके साथ।

मैं: (मैं खुल गया सोचा देखते क्या होगा वो) वो जो करना चाहिए।

टीचर: अच्छा तो में अब ये कुर्ती निकल दू तो कुछ करेगा। (अब गुसा कम लग रहा था)

मुख्य: जी।

टीचर: चल बता कुर्ती निकल दू तो क्या करेगा।

मुख्य: मैंने देखा है की नॉन-वेज मूवी में उसके उसके निप्पल में मुझे लेके चुस्ते है।

टीचर: अच्छा अब तू पोर्न भी देखता है, तो क्या इसलिय घरवालो ने मोबाइल लेके दिया है क्या।

मुख्य: नहीं वो किसने बताया था तो देखने लग गया और उसके बाद आदत सी हो गई।

टीचर: (हमारे बातो से वो थोड़ा मूड में आ रही थी) सिर्फ देखना या कभी किया भी भी।

मैं: नहीं कभी नहीं वो सिरफ वीडियो देखना और उसके बाद आपके दे…

टीचर: रुख क्यू गए बोल दो ना की उसके बाद मेरे बूब्स देखना।

मुख्य: हा. पर वो कभी नहीं होगा। (एक मौका मार्के देखा)

टीचर: अब तुम चाहते हो की में आपकी कुर्ती निकलू और तुम मेरे स्तन चुनने दू। (एक मुस्कान के साथ)

इसे भी पढ़े : टूशन टीचर की सेक्स स्टोरी

मैं: (मुस्कुराते देख जान में जान आ) आपको देना हो तो जरूर।

टीचर: (उसके पति ने हमें 12 साल से छोटा नहीं था जो मुझे बाद में पता चला तो वो भी मूड में आ गई) ठीक है दे दूंगा पर किसको भी पता ना चले इस्के बारे में।

मैं: (अंदर से लड्डू डाल रहे थे की अतलास्ट लाइव में कुछ करने मिलेगा) प्रॉमिस टीचर।

तो उसके दरवाजे और खिड़कियां चेक किया और ठिकसे लॉक करके आ फिरसे और उसे आप कुर्ती निकल दी। मैं तो पागल सा हो गया। मेरी ड्रीम और वो भी मेरी ड्रीमगर्ल के बूब्स मेरे सामने आएंगे। मैं उसके पास गया और उसके स्तन दाबने लगा तो उसे थोड़ा विलाप किया।

मुझे अच्छा लग रहा था तो मैंने दोनो भी दबने लगा और उससे भी अच्छा लग रहा था। 5 मिनट तक दबाता रहा तो उसे बोला की दबते रहेंगे या चुनोगे भी। मुझे तो बस ये शब्द सुनके उसके बूब्स चूसना करना लगा और लगाबाग 30 मिनट तक।

उसके डोनो बूब्स चूसना कर्ता रहा। पर थोडे समय बाद उसके छोटे बेटे का कॉल आया तो उसे कुर्ती पेहेन लिया और मुझे घर भेजा दिया। घर जाके मैंने 3 बार हिलाया। मैं अगला ट्यूशन नहीं गया पर सब स्टूडेंट्स चले गए उसके बाद चला गया। तो उसे मुझे पुचा।

टीचर: आज ट्यूशन क्यू नहीं आया।

मुख्य: ऐस हाय।

टीचर: अब क्यू आए हो।

मेन: वो कल किया था न वो आप फिर से करने दोगे इसलिय आया।

टीचर: अच्छा लगा है कल तेरा मान नहीं भरा इसलिय आज फिर से चुना आया है।

मुख्य: जी।

टीचर: अंदर तो आ।

मुख्य: (अंदर गया घरके) जल्दी दो ना।

टीचर: एक ही दिन में हिम्मत बढ़ गई की अब ऑर्डर पास कर हो। (और वो बोले बोले वो आपकी कुर्ती निकल दी)

मैं तो वो उसके स्तन देख कर उससे चुस्ने लगा और वो मूड में थी तो वो मोन भी कर रही थी। मैने काम से कम 45 मिनट तक उसके दोनो स्तन चूसो करता रहा और वो मौन करता जा रही थी। उसके बाद जो पुचा में हेयर रे गया।

टीचर: सिर्फ तुमने चुना का ही देखा है फिर और कुछ देखा।

मुख्य: वो मैंने पुरा वीडियो देखा है और अब चाहो तो मैं बाकी का भी कर सकता हूं।

इतना सुनते ही आपने कंट्रोल खो दिया और मुझे स्मूच करने लग गई। मैं भी थोड़े पीछे हटने वाला था। मैं उसके स्मूच का रिस्पॉन्स करता रहा। हम 15 मिनट तक एक दसरे को स्मूच करते रहे। उसी बिच मैंने उसके पैजामा में हाथ दाल दिया जो सिद्ध उसके छुट को टच होने लगा।

वाह क्या मजा आ रहा था। उसकी छुट पूरी गिल्ली हो चुकी थी। मैंने उसका नादा खोल दिया तो उसका पायजामा आला आ गया। तो वो सिर्फ पैंटी में खादी थी। मैं सिद्ध उसे सोफ़े पे लिटाया और उसकी पैंटी निकल दी। उसकी छुट से एक सुखद गंध आ रही थी तो मैंने उसके छुट में अपना मुंह दाल दिया और उसे चूसना लगा।

टीचर: सवमई अच्छा लग रहा है। ऐसे ही चूसो करते रहो। मत रुको। मेरे पति ने कभी मुझे मेरे छुट पे चूसना नहीं किया पर तुम वो कर रहे हू। मत रुको ऐसे ही करते रहो। मैं तुम्हें जो चाहिए वो दूंगा पर तुम रुखना मत। ऐसे ही करोगे तो में तुम्हें रोज करने दूंगा। खा जाओ इस्से। रुखना चटाई।

इस्के बाद उसे पानी छोड़ दिया मेरे मुह में। और वो मुझे कुछ खास अच्छा नहीं लगा पहला था इसलिय। उसके बाद वो थोड़ा शांत हुई और मुझे फिर से स्मूच करने लगी। उसके बाद उसे मेरे कपड़े निकले दिए और मेरे लुंड को मुह में लेके चुन लागी। क्या बताओ कितना मजा आ रहा था चुस्वाने में।

पर पहले था तो जल्दी उसके मुह में डिस्चार्ज हो गया। उसके बाद वो मुझे बेडरूम में लेके गई और आपके लेग्स फेला दिए और बोली की आजा पुरा मजा ले। मैं सिद्ध उसके लेग्स के बिच में गया और उसकी छुट पे लुंड टिकाया और घुसा दिया। थोड़ा और गया पर उसे निकालने को बोला और गंद के आला तकिया रखा और बोली।

टीचर: अब कर।

मुख्य: तकिया आला क्यू रखा?

टीचर: इसलिय क्युकी तकिए के वजह से अंदर तक जाएगा।

मेन: माज़ा पर अच्छा मैटलैब फुल।

तो फिर से एक और डक्का लगा तो आधा और चला। पर मुझे लुंड पे जालान महसूस हो रही थी और मैंने उससे बताया। वो बोली की होता है तेरा पहली बार है ना इसलिय। और में दक्के लगा रहा और पुरा लुंड उसकी छुट में चला गया। अब हम छुडाई में।

टीचर: प्रीति सिंघल अच्छा लग रहा है। सालो बाद मेरे अंदर कोई आया है। ज़रा ज़ोर से.

मुख्य: ठीक है मेरी जान। ले. ये ले. क्या मस्त गरम गरम छुट है। ऐसा लगता है की अभी गैस से आला उतरा है। मजा आ रहा है।

टीचर: गरम तो होगी ही इतने साल से अंदर नहीं गया है ना। अब तू आ गया है तो रोज करेंगे और मेरी प्यास भी बुज जाएगा।

मुख्य: (5 मिनट की छुडाई के बाद मेरा पानी निकलने वाला था तो उसे बोला) मेरा पानी निकलने वाला है।

टीचर ने किया और बोली की अंदर ही डाल को कसकर गले लगाया। और मैंने वैसा ही पुरा का पुरा पानी और छोड दिया और उसके ऊपर सो गया। उसके बाद मैंने उसे बजुमे सो गया और उसे बोला की वीडियो में देखा है की गांड में भी लुंड डालते हुए। तो उसे बोला की मैंने तुझे ना थोड़ी बोला है।

मैंने उसकी गांड भी मारी और घर पे आ गया। उसके बाद जब भी हमें मौका मिला रहा हम सेक्स करते रहे जो आज तक चालू है। आप लड़कियों और मौसी से बहुत प्यार करते हैं। अगर आप सेवा चाहते हैं तो मुझसे [email protected] पर संपर्क करें

Escorts in Delhi

This will close in 0 seconds