दोनों चाची को अपनी रंडी बनाया: सेक्सी चाची XXX स्टोरी भाग 2

दोनों चाची को अपनी रंडी बनाया: सेक्सी चाची XXX स्टोरी भाग 2

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “दोनों चाची को अपनी रंडी बनाया: सेक्सी चाची XXX स्टोरी भाग 2”। यह कहानी अंकित की है आगे की कहानी वह आपको खुद बताएँगे मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

मेरी चाची की चूत चुदाई की कहानी के पहले भाग: सेक्सी चाची XXX स्टोरी में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी चाची को रेस्टोरेंट में उसके बॉयफ्रेंड के साथ देखा.

उसके बाद चाची मुझ पर मेहरबान हो गईं और अपनी कामुकता के कारण उन्होंने अपना शरीर मुझे सौंप दिया। उसने मेरी छोटी चाची को भी इसमें शामिल कर लिया.

इसके बाद दोनों रंडियाँ भूखी शेरनियों की तरह मेरे लंड पर टूट पड़ीं. मैं तो मानो हवा में उड़ने लगा था. वो दोनों ब्लू फिल्म में सेक्स सीन देखकर मेरा लंड चूस रही थीं.

पूरे कमरे में “उहह उह… उहह…” की आवाजें आ रही थीं। एक मेरा लंड अपने मुँह में लेती और दूसरी मेरे आंड चूसती। मैं सेक्स से पागल हो रहा था और अपनी कमर आगे-पीछे करने में लगा हुआ था।

नीचे वो दोनों एक दूसरे को गाली देते हुए बहुत कामुक हो रही थीं और मेरे लंड को गाली देते हुए कह रही थीं- साले, घोड़े जैसा लौड़ा घर में था और हम बाहर बड़ा लौड़ा ढूंढ रहे थे. (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

मेरा लंड बहुत लंबा और मोटा था… और इसीलिए आज मुझे अपने लंड पर बहुत गर्व हो रहा था. एक चाची मेरा लंड चूस रही थी और दूसरी चाची मेरे आंड अपने मुँह में लेकर चूस रही थी।

उनके लगातार चाटने और थूकने से लंड शीशे की तरह चमक रहा था. मैंने उन दोनों के बाल पकड़ लिए और अपना लंड उनके मुँह में अन्दर तक घुसाने लगा.

बड़ी चाची ने अपने अनुभव को साबित करते हुए लंड को गले तक उतार कर पूरा मुँह में भर लिया और ऐसा लगा मानो मेरा लंड कहीं खो गया हो। वो मेरे लंड की जड़ पर अपनी जीभ फिराने लगी. इससे मुझे एक अजीब सी अनुभूति हो रही थी.

वो दोनों अपने पतियों को अंग्रेजी और हिंदी में गालियां भी दे रही थीं कि नामर्द पति इतनी खूबसूरत चूत को चोद भी नहीं पाता है बहन के लौड़े… और ये साला इतना बड़ा लंड अपनी गांड में डलवा कर घर बैठा था.

वह भी मेरे लंड पर थप्पड़ मार रही थी और कह रही थी, “इतना बड़ा लंड… अच्छा बड़ा लंड उहह… याहह… मेरे मुँह को चोदो… याहह आआह… इतना कठोर लंड!” मैं भी “आआह उहह…” की आवाजें निकाल रहा था।

कुछ देर बाद मैंने उसे उठाया और उसके Big Boobs को चूसने लगा. वे दोनों अब अभद्र भाषा में बात कर रही थी.
“खा जाओ मुझे, मेरे हरामी भतीजे… खा जाओ इनको… तुम्हारे नामर्द चाचा तो इनकी तरफ देखते भी नहीं…”

वह जोर-जोर से कराह रही थी और मेरे बाल खींच रही थी। मेरे हाथ पीछे से उसकी गांड की गोलाई नाप रहे थे. वो दोनों अपने हाथों से अपने स्तन मेरे मुँह में धकेल रही थीं और गालियाँ दे रही थीं और एक दूसरे को चूम भी रही थीं।

दस मिनट तक यही चलता रहा. फिर मैंने कहा- तुमने मेरी चाबी देख ली.. तुम मुझे ताला नहीं दिखाओगी रंडी.

यह सुनकर वो दोनों मुझसे थोड़ी दूर सोफे पर बैठ गईं और मुझे करीब आने का इशारा करने लगीं. मैं उसके पास जाने लगा तो मेरा 8 इंच का लंड सांप की तरह फुंफकार रहा था. (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

जब मैं पास पहुंचा तो वो दोनों पोर्न देखते हुए अपनी पैंटी में हाथ डाल कर खुद को उत्तेजित कर रही थीं.

अब मैं करीब आया और घुटनों के बल बैठ गया.
छोटी चाची बोलीं- उधर पोर्न मूवी में देख … तू भी वैसा ही कर.
मैंने कहा ठीक है।

फिर दोनों ने अपनी टांगें ऊपर उठाईं और बोलीं- चलो लंड वाले महाराज… अब ताला भी देख लो.

मैंने जल्दी से एक एक करके उन दोनों की पैंटी उतार दी. अब उन दोनों की गुलाबी Tight Chut मेरे सामने थी. जैसे ही मैंने अपना हाथ उनकी चूत पर रखा, चाची कराहने लगीं, ‘आअहह उहह…’.

मैंने फिल्म में देखा तो वह आदमी बारी-बारी से दोनों औरतों की चूत चाट रहा था। ये सब मेरे साथ पहली बार हो रहा था इसलिए मेरे मन का कुछ भी नहीं हो रहा था. फिर मैंने भी फिल्म जैसा ही करना शुरू कर दिया.

छोटी चाची की चूत गुलाबी थी इसलिए मैंने सबसे पहले उसी चूत से शुरुआत की. जैसे ही मैंने उसकी चूत पर अपनी जीभ फिरानी शुरू की, वो उछलने लगी. मैं एक हाथ की उंगली बड़ी चाची की चूत में डालने लगा. (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

दोनों “आअहह… ऊउईई… तुम अच्छा चूसते हो… मेरी चूत चूसो… उम्म्ह… अहह… हय… याह… जल्दी…”

उनकी मादक आवाजें निकलने लगीं. फिर मैंने शिफ्ट बदल दी. अब बड़ी चाची की चूत की बारी थी. बड़ी चाची बहुत हॉट और सेक्सी लग रही थीं. जैसे ही उसे अपनी चूत पर मेरी जीभ का अहसास हुआ, वो कामुकता से कराहने लगी.

यह दस मिनट तक चलता रहा. फिर छोटी चाची उठीं और मेरे पास बैठ कर मेरे साथ-साथ बड़ी चाची की चूत भी चाटने लगीं.

बड़ी चाची मछली की तरह तड़फने लगीं और गालियाँ देने लगीं- याआह… ऊहह… चूसो हाँ… हाँ हाँ चूसो कुतिया की औलाद… चूसो… अच्छे चोदू… तेजी से करो… मादरचोद जोर से चाटो चूत को… आह कितना मजा आ रहा है।…”

फिर मैंने अपनी जगह बदल ली और अपनी छोटी चाची के पास आ गया. मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चूत में अपना लंड डालने लगा. मैंने निशाना तो लगाया, लेकिन उसकी चूत छोटी होने के कारण मेरा लंड फिसल गया. मैंने दोबारा कोशिश की, लेकिन फिर असफल रहा.

छोटी चाची बोलीं- थोड़ा तेल तो लगा ले अपने घोड़े जैसे लंड पर. तेरे चाचा का लंड भी मेरी चूत में जाते वक्त फिसल जाता है, फिर तेरा तो बहुत बड़ा लंड है. (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

मैं उठा और तेल की शीशी ले आया. इस बीच दोनों अपने-अपने काम में व्यस्त थे. फिर मैंने अपने लंड को तेल में भिगोया और थोड़ा तेल चाची की चूत पर लगाया.

अब मैंने फिर से लंड हाथ में लिया और चाची की चूत पर निशाना लगाया. इस बार लंड का सिरा अन्दर चला गया.

चाची ने बड़ी चाची की चूत को अपने मुँह से चोदा और गहरी कराहते हुए बोलीं- अरे, ये ताला बहुत दिनों से बंद है, प्लीज़ प्यार से करो मादरचोद. उसका एक बॉयफ्रेंड है… मैं 4 महीने से अपनी उंगलियों से काम कर रही हूं।

मैंने कहा- अब कोई शिकायत नहीं होगी मेरी जान…

इतने में सामने से बड़ी चाची बोलीं- जोर से इसकी चूत में डालो…
बड़ी चाची की बात सुनकर मैंने एक जोरदार धक्का दे दिया. इस बार आधे से ज्यादा लंड छोटी चाची की चूत में घुस चुका था.

उधर बड़ी चाची ने छोटी चाची का मुँह जोर से अपनी चूत में दबा लिया और छोटी चाची की चीख उनके गले में ही दब गयी.

अब मैं धीरे-धीरे अपनी कमर आगे-पीछे करने लगा। छोटी चाची के गले से मादक आवाजें निकलने लगीं- आअहह… उम्म्ह… उहह… हाँ चोदो मेरी चूत को, तुम बहुत अच्छा चोदते हो…

वो आवाज निकालने के साथ-साथ बड़ी चाची की चूत भी चाट रही थी. बड़ी चाची भी ‘हाँ हाँ हाँ ओह्ह्ह मेरी चूत तुम बहुत अच्छा चूसते हो…’ की सेक्सी आवाजें करके मुझे उत्तेजित कर रही थीं।

करीब दो मिनट तक मैंने अपनी गति धीमी रखी. फिर मैंने अपनी कमर को थोड़ा तेज चलाना शुरू कर दिया. अब चाची भी मेरा साथ देने लगीं. (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

मेरा 8 इंच का लंड पिस्टन की तरह अन्दर-बाहर होने लगा. सामने से बड़ी चाची भी गालियां दे रही थीं और कराह रही थीं. पूरे कमरे में “आअहह… उआहह… आआहह उईईईई…” की आवाजें आ रही थीं।

मैं छोटी चाची की कमर पकड़कर अपना लंड उनकी चूत में डाल रहा था. फिर 5-7 मिनट के बाद दोनों चाचियों चूत रस एक साथ निकल गया. पहले छोटी वाली का रस छूटा, फिर बड़ी चाची की चूत का फव्वारा छूटा.

मैंने अपना लंड छोटी चाची की चूत से निकाल कर उन दोनों के सामने रख दिया और झुक कर बड़ी चाची की चूत का रस चाटने लगा. उन दोनों ने “ऊऊऊह यम्मी उहह…” की आवाज के साथ मेरे लंड को चाट कर साफ़ कर दिया।

बड़ी चाची ने कहा- और कितना चुदेगी कुतिया अब मेरा नंबर है … फिर मैंने कहा बहुत आग है तेरे में, अभी बताऊंगा रंडी.

बड़ी चाची को मेरा ये अंदाज बहुत पसंद आया और वो बोलीं- जियो मेरे चोदू भतीजे, ऐसे ही करते रहोगे तो बहुत तरक्की करोगे. (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

मैं घुटनों के बल बैठ गया और अपने लंड का निशाना बड़ी चाची की चूत पर लगाया. बड़ी चाची ने भी बगल की दराज से सिगरेट की डिब्बी निकाली, सिगरेट जलाई और अपनी चूत खोल दी.

बड़ी चाची की चूत भी थोड़ी बड़ी थी. उसने अपनी सिगरेट का कश लगाया और मैंने अपना लंड उसमें फंसाया और एक धक्का दिया।

छोटी चाची के चाटने और रस टपकाने से बड़ी चाची की चूत बहुत रसीली थी. मेरे इस शॉट में मेरा लंड करीब तीन इंच अन्दर चला गया. मेरे लंड की मोटाई के कारण चाची को थोड़ा दर्द हुआ … और सिगरेट पीने के कारण वो खांसने लगीं.

मैंने अपना लंड घुसाते हुए पूछा- क्या हुआ कुतिया… फट गयी क्या?

तभी छोटी चाची, जो अब सोफे पर आकर बैठ गई थीं, उन्होंने भी सिगरेट सुलगा ली और बोलीं- मेरे अरबी घोड़े, तू और जोर से डाल… यह कुतिया नाटक कर रही है।

मैंने एक और धक्का दिया और लंड पूरा अन्दर चला गया. बड़ी चाची ने सिर उठाया और जोर से कराह उठीं. मैं जोर जोर से धक्के लगाने लगा. बड़ी चाची गाली देते हुए अपनी कमर उठाने लगीं.

मैंने उनकी उंगलियों में फंसी सिगरेट निकाली, एक बड़ा कश खींचा और बड़ी चाची की Chut Chudai करने लगा.

तब तक छोटी चाची उठीं और गांड हिलाते हुए जाने लगीं. मैंने कहा- कहां चली छम्मक छल्लो … अभी से ही भाग रही हो क्या?

छोटी चाची ने सिगरेट पीते हुए कहा- मैं अभी तुम्हारे लिए एनर्जी का इंतजाम करती हूँ. वह अलमारी के पास गई और रम की बोतल ले आई। उसने सिर्फ एक पैग बनाया और बोली- ये सब पी लो और मजा लो.

मैंने बड़ी चाची को चोदने की गति बढ़ा दी और छोटी चाची के स्तनों को अपने मुँह में लेना शुरू कर दिया। छोटी चाची ने एक बड़ा घूंट लिया और शराब को अपने स्तनों पर गिरा लिया। मैं उसके स्तनों से बहती हुई शराब को पीने लगा.

साथ ही छोटी चाची अपनी एक उंगली से बड़ी चाची की भगनासा को सहला रही थी.
अब शराब, सिगरेट और खूबसूरत औरतों की चूत की खूबसूरती मेरे सामने जन्नत का नजारा पेश कर रही थी.

कभी मैं बड़ी चाची के स्तन दबाता तो कभी छोटी चाची के निपल चूसता और रम का मजा लेता. छोटी चाची ने अपने मुँह में शराब भर ली और अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिये और जैसे ही मैंने उनके मुँह को छुआ, उन्होंने अपने मुँह से शराब मेरे मुँह में गिरा दी. (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

यह बहुत ही कामुक अनुभव था, मैं मदहोश होने लगा। अब मैं कभी उसके होंठों को चूम कर शराब का मजा लेता तो कभी दूध पर टपकती रम को चाट कर मजा लेता. दस मिनट तक ऐसा ही चलता रहा.

फिर मैंने छोटी चाची को सोफे पर बड़ी चाची के बगल में खड़ा कर दिया और उनका सिर बड़ी चाची के मुँह के पास झुका दिया, जिससे छोटी चाची की चूत मेरे चेहरे के सामने आ गयी. जिसे मैं चाटने लगा.

उधर छोटी चाची ने अपने मुँह में शराब भर ली और बड़ी चाची को शराब का मजा देने लगीं. दस मिनट की चुदाई के बाद बड़ी चाची ने छोटी चाची को कस कर गले लगा लिया और दांत भींचने लगीं.

मुझे नीचे उनकी चूत में गर्म लावा फूटता हुआ महसूस हुआ, मैं समझ गया कि बड़ी चाची का काम हो गया। चाची निढाल हो गईं और कुछ ही देर में छोटी चाची भी अपनी चूत चटवाने के कारण स्खलित हो गईं।

मैं भी उठ कर सोफे पर बैठ गया और छोटी चाची को ऊपर आने को कहा. उसने मेरा लंड अपनी चूत में रखा और अन्दर-बाहर करने लगी। मैं पहले से ही उत्साहित था. फिर तेजी से पूरी गति पकड़ ली। उधर चाची भी पूरी स्पीड से लंड को अन्दर-बाहर करने लगीं.

तब तक बड़ी चाची ने एक बड़ा पैग बना लिया था. वह पास ही बैठी थी. मैं उसे चूमने लगा.

छोटी चाची की दस मिनट की मेहनत के बाद मैंने कहा- चाची मैं झड़ने वाला हूँ.. कहाँ निकालूँ?
चाची बोलीं- रुको.

वो उठ कर लंड के सामने बैठ गयी और बड़ी चाची के हाथ से रम का गिलास ले लिया और अपना मुँह पूरा खोल कर जीभ बाहर निकाल ली. चाची कहने लगीं, “हाँ हाँ हाँ आओ… मेरे मुँह में…” (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

चाची को वीर्य मुँह में लेने की जल्दी थी। मैं उसके सामने खड़ा होकर अपने लंड को तेजी से आगे-पीछे करने लगा.

सिर्फ दस धक्कों के बाद मैंने तेज पिचकारियों के साथ उन दोनों के मुँह में वीर्य की पिचकारी छोड़ दी, जिसे दोनों ने बड़े प्यार से पी लिया और “ऊऊऊ यम्मी कम…” कहते हुए वे दोनों एक-दूसरे को चूमने लगीं और मेरा वीर्य चाटने लगीं। इसके बाद छोटी चाची ने शराब को अपने मुँह में भर लिया और दोनों वीर्य के साथ शराब का मजा लेने लगीं.

उन दोनों ने एक दूसरे पर गिरी मेरे रस की एक एक बूंद को चाट चाट कर साफ कर दिया.

मैंने सिगरेट जला ली थी और उनका प्यार देख रहा था. कुछ देर ऐसे ही मजा लेने के बाद हम तीनों फव्वारे के नीचे खड़े होकर एक साथ नहाने लगे. दोनों चाचियाँ मेरे गालों को चूम रही थीं। (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

छोटी चाची कहने लगीं- मेरे राजा, तू तो लंबी रेस का घोड़ा निकला. आज से हम दोनों आपकी गुलाम हो गयीं.
तभी बड़ी चाची कहने लगीं- आज से सब बाहर वाले बंद हो जायेंगे.. अब से तू ही हमारा चोदू होगा।
इतना कह कर वो दोनों अगल-बगल आ गये और मेरी चुचियों और पेट को चूमते हुए नहाने लगे.

फिर नहाने के बाद हम तीनों नंगे ही कमरे में आये और बिस्तर पर लेट गये. वो दोनों मेरे आस पास लेट गये.

मैंने अपनी बड़ी चाची से पूछा- चाची आपने यह सब कहाँ से सीखा? बड़ी चाची बोलीं- उसकी एक सहेली है जिसने ये सब बताया है. (सेक्सी चाची XXX स्टोरी)

फिर रात को एक बार हम तीनों ने दोबारा सेक्स किया इस बार मैंने उनकी Moti Gand भी मारी फिर उसके बाद हम सो गये.

सुबह जल्दी उठने के बाद छोटी चाची ने मुझे उठाया और अपने कमरे में जाने को कहा.. क्योंकि माँ मुझे जगाने के लिए रोज मेरे कमरे में आती हैं। अगर मैं कमरे में न होता तो उस रात जो कुछ हुआ, सब पता चल जाता.

ये सब खेल चार दिनों तक चलता रहा. तभी दोनों चाचा मुंबई से आ गए.. फिर गेम रुक-रुक कर चलने लगा। अब जब भी मौका मिलता, हम तीनों खूब मस्ती करते.

दोनों चाची अब मेरे खाने-पीने का ज्यादा ख्याल रखने लगीं और मुझे हर वक्त अपने साथ रखने लगीं। उन दोनों ने मुझे अपने कई दोस्तों से मिलवाया और फिर उनकी चूत भी दिलवाई, जिसके बारे में मैं आगे की कहानियों में लिखूंगा.

दोस्तो, आपको मेरी यह सेक्सी चाची XXX स्टोरी कैसी लगी, कृपया मुझे जरूर बताएं। मैं आपके ईमेल का इंतजार करूंगा.

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasystory.com” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds