प्यासी मालकिन की चुदाई | Aunty sex story

प्यासी मालकिन की चुदाई | Aunty sex story

हेलो दोस्तों मेरा नाम राहुल है. मैं दिल्ली में रहता हु और यहाँ पे जॉब करता हु. मे 22 साल का हु और लंड का साइज 6 इंच है. अगर किसी भी भाभी या लड़की और सेक्स करना हो दिल्ली मोहाली पंचकूला पंजाब हरयाणा या आस-पास कही तो आप मुझे कांटेक्ट कर सकते है.आज मैं आपको अपनी एक स्टोरी बता रहा हु जो की मेरे साथ लास्ट ईयर हुई थी.

मैं एक रूम ढूंढ रहा था रहने को. मुझे ऐसे अप्प से एक रूम मिला. तो मैं देखने गया. रूम अच्छा था ac भी था और बैक साइड से इंडिपेंडेंट एंट्रेंस भी थी. और डबल बेड भी लगा था क्यूंकि मेरे दोस्त वगैरा आते रहते है.सो रूम done  कर दिया मैंने.

ओनर एक आंटी थी. उनका नाम माया था और वह उनके हस्बैंड भी थे और छोटा बच्चा था 10 साल का. मैंने रूम done करा और आधार कार्ड वगैरा दे दिया. और मैं नेक्स्ट डे ही  शिफ्ट  हो गया. आंटी काफी अछि थी. मुझे खाना वगैरा भी पूछती थी.कभी-कभी मैं ऑफिस के बाद उनके साथ ही खा लेता था. (Aunty sex story)

ऐसे ही दिन गुज़रते गए. और मैंने नोटिस करा की अंकल का कोई शॉप का बिज़नेस था और वो रात को 9 बजे आते थे और सुबह जल्दी चले जाते है. वो रोज़ रात को पी कर आते थे और बहुत ज़्यादा पीते थे.

रात को कई बार मैं टीवी देखने चला जाता था हॉल में. वो वह बैठ के पी रहे होते थे. मैं सोचता था की ये कहा ही आंटी को चोदते होंगे. आंटी सेक्सी थी.

उनका फिगर कुछ 36 के बूब्स होंगे. एंड सच बताऊ तो गांड इतनी बड़ी नहीं थी और थोड़ी अंदर को थी.फिर ऐसे ही चलता रहा. आंटी को कुछ काम होता तो मुझे बता देती और मैं कर देता. (Aunty sex story)

एक दिन ऐसे ही मैं फ्लिपकार्ट से कुछ आर्डर कर रहा था तो आंटी बोलती-आंटी: मुझे भी सीखा दो.तो मैंने उसका फ़ोन माँगा और लॉक पासवर्ड पुछा और उन्होंने बताया. फिर मैं सीखने लग गया.

अब मुझे आंटी के फ़ोन का पासवर्ड पता लग गया था. कुछ दिन बाद मैंने आंटी का फ़ोन चेक करने की सोची.

मुझे पता था की आंटी रोज़ शाम को सैर करने जाती थी और फ़ोन नहीं लेके जाती थी और उसको चार्ज पर लगा जाती थी .तो मैंने ऐसे ही एक दिन आंटी का फ़ोन लिया और सोचा की हिस्ट्री देखता हु. मैंने क्रोम की हिस्ट्री देखि तो मुझे कुछ भी नहीं मिला. फिर मैंने व्हाट्सप्प देखा लेकिन कुछ भी नहीं मिला. (Aunty sex story)

लास्ट मैंने यूट्यूब की हिस्ट्री देखि और मैं शॉक रह गया. आंटी ने वह सेक्स के बारे में सर्च कर रखा था और डर्टी हिंदी कॉल रिकॉर्डिंग भी सर्च कर राखी थी और सेक्स स्टोर्स भी.

मैंने टाइम देखा तो ये सब चीज़े रात के नियर अबाउट 11-12 बजे सर्च करि थी. मैं समझ गया था की आंटी उनसटिस्फीएड थी. उनको सेक्स चाहिए था जो अंकल नहीं देते थे.

मैंने फिर भी एक दो और सेअर्चेस चेक करि फ़ोन में और वही शामे मिला. फिर मैंने सोच लिया की आंटी पे चांस  मारी जाये और मैं आंटी से फ्रैंक होने लगा.मैं उनको कॉम्पलिमेंट देने लगा की अचे लग रहे हो क्यूट लग रहे हो ऐसे-वैसे. फिर एक दिन मैंने गलती से आंटी को नहाते देख लिया था. (Aunty sex story)

आंटी ने अंदर से कुण्डी नहीं लगायी थी और हमारा वाशरूम कॉमन था. मैंने फट से गेट बंद कर दिया. मैंने देखा की आंटी नहा रही थी नीचे फटती पे बैठ के.उनके बूब्स गोर-गोर थे. मुझे चुत नहीं दिखी तो थोड़ा निराश हुआ.

फिर आंटी बाहर निकली तो मैंने सॉरी बोला और आगे से वो भी बोली-आंटी: इसमें मेरी भी गलती है. मैं कुण्डी लगाना भूल गयी थी.फिर हमने बस स्माइल पास करि और मैं रूम में आ गया. (Aunty sex story)

मैंने उसदिन 2 बार मुठ मारी . फिर कुछ दिन बीत गए और मैंने एक प्लान सोचा की आंटी को पूछता हु की लाइफ कैसे चल रही थी उनकी. मैंने ऐसे ही बातों-बातों में पुछा तो उन्होंने बताया-आंटी: ठीक है बस घर का काम कर लेते है और रात को सो जाते है

मैंने कहा: सही है.फिर मैंने पुछा: आंटी मुझे एक बात की सुझाव  लेनी है आपसे.

वो कहती: बोलो.

मैंने कहा: आंटी जी एक न मेरे साथ लड़की ऐड है इंस्टा पे. वो मैरिड है और मेरे से अछि बात होती है. और वो उसके घर पे मिलने बुला रही है. मैं क्या करू समझ नहीं आ रहा. जाऊ या नहीं आप बता दो.

आंटी (आंटी समझ गयी की मैं किस  वे में बात कर रहा था): मैरिड है तो थोड़ा रिस्क है.

अगर जाना है तो देख के जाना ऐसे कोई पन्गा न कर लेना.

मैं: आंटी वही तो मुझे डर है.

आंटी: उसको कहि बाहर बुला ले मिलने के लिए.

मैं: नहीं आंटी जी वो बाहर नहीं आती. घर बुला रही है.

आंटी:  मत जा. ऐसे डर रहेगा तो कोई और ढून्ढ ले.मैं: चलो देखते है.और फिर आंटी सैर के लिए चली गयी. फिर कुछ दिन बाद आंटी से मैं ज़्यादा ही फ्रैंक हो गया. एक दिन मैं किचन से कुछ लेने गया तो आंटी भी वही थी. (Aunty sex story)

मैंने जल्द-बाज़ी करते हुए जान के आंटी की गांड को टच कर दिया और आंटी कुछ नहीं बोली. फिर ऐसे ही चलता रहा और वो बस स्माइल पास करती रही.एक दिन मैंने सोचा आज आंटी को लंड दिखाना है.

मैं लंड बाहर निकाल के मुठ मार रहा था. मुझे पता था आंटी के नहाने का टाइम हो गया था. मैं फुल आवाज़ में पोर्न देख रहा था और मुठ मार रहा था.

फिर जब वो नाहा ली तो मुझे पता था की वो मेरे रूम में आएँगी क्यूंकि आवाज़ ही इतनी थी.और वही हुआ. आंटी आयी और देखती रही. मेरा लंड मेरे हाथ में था और मैंने ऊपर चादर कर ली.आंटी कहती: राहुल क्या कर रहा है? ये आवाज़ काम कर ले और कुण्डी तो लगा ले काम से काम. (Aunty sex story)

मैंने कहा: सॉरी आंटी आगे से ध्यान रखूँगा.फिर शाम को आंटी के साथ बैठा तो

आंटी कहती: क्या देख रहा था तू सुबह?

मैंने कहा: कुछ नहीं वीडियो थी.

वो कहती: मुझे भी दिखा दे.मैंने कहा: सेंड करू या अपने फ़ोन में दिखाऊ?

वो कहती: सेंड कर दे.

मैंने कहा: ऐसे नहीं. (मज़ाक में बोला ) एक शर्त पे करूँगा की हम साथ देखेंगे. (Aunty sex story)

थोड़ी देर सोचने के बाद वो मान गयी. फिर मैंने उन्हें शेयर-आईटी के थ्रू भेज दी और बोला -मैं: आ जाओ रूम में बैठ के देखते है.तो उन्होंने बाहर वाले गेट की कुण्डी लगा दी. उनका बीटा ट्यूशन लगा था और अंकल शॉप पे. सिर्फ हम दोनों थे घर पे. हम मेरे रूम में गए वह बैठे और स्टार्ट करि.

आंटी पहले तो शर्मा रही थी. जैसे ही वीडियो स्टार्ट हुई आंटी ध्यान से देख रही थी. धीरे-धीरे करके कपडे उतरने लगे.फिर जब लड़की ब्लोजॉब देने लगी तो आंटी एक-दम से कांप उठी. मुझे पता लग गया था की आंटी गरम हो गयी थी. (Aunty sex story)

मैंने ऐसे ही पूछ लिया-मैं: आंटी आपने ऐसा करा है कभी?वो कहती: हां करा है बूत ज़्यादा नहीं.

मैंने कहा: क्यों?वो कहती: अंकल पीते है तो स्मेल बहुत आती है. किस भी नहीं करती थी मैं तो. बस सीधा वो चुदाई  करते थे.मैंने कहा: फिर तो क्या ही मज़ा आता होगा.वो कहती: हां ये तो है.फिर बस देखते रहे.

मैंने सोचा की थोड़ा try करता हु और मैंने फ़ोन पकड़ने के बहाने माया की चुत को टच कर दिया. उन्होंने रियेक्ट नहीं करा. मैं समझ गया की काम बन सकता था.

मैंने फिर एक हाथ लिया और उनके सोल्डर से होते हुए ऊपर रख के हग कर ली. और फिर 5 मिनट बाद बूब्स को टच करने लगा.उतनी देर में वीडियो में चुदाई स्टार्ट हो गयी थी. (Aunty sex story)

मैं बूब्स दबाने लगा और आंटी मज़े ले रही थी. मैंने फ़ोन साइड में रखा और आंटी की तरफ देखा. मुझे हवस दिखाई दी माया आंटी की नज़रों में.

मैंने फेस को पास करते हुए आंटी के लिप्स पे लिप्स रख दिए और हम पागलों की तरह किस करने लगे. आंटी पूरी गरम हो गयी थी. उन्होंने मुझे नीचे लिटाया और ऊपर आ गयी.

फिर उन्होंने मेरी टी-शर्ट उतार दी और मेरी  चेस्ट मेरे टिट्स सब चाटे  . हमने कम से कम आधा घंटा एक दूसरे को अच्छे से चाटा . फिर मैंने आंटी को नीचे लिटाया और बूब्स चूसने  लगा और ज़ोर-ज़ोर से करने लगा.आंटी भी साथ दे रही थी पूरा. (Aunty sex story)

फिर मैंने आंटी की लोअर उतारी और देखा पैंटी ऐसे गीली थी जैसे धो के गीली डाली हो. मतलब आग लग राखी थी आंटी के अंदर. मैं फिर आंटी के  पैंटी के ऊपर से चाटा और फील हुआ की थोड़ा सालती था पानी. पर मज़ा आ गया.

फिर मैंने पैंटी उतारी तो वो चिपकी हुई थी. पैंटी मैंने उतार दी और लेग्स को फैलाया और चुत को स्प्रेड करा. फिर मुँह सीधा चुत पे ले गया. मुझे फील हुआ की जैसे मैंने एक घूँट पानी पी लिया हो इतना पानी था आंटी की चुत में.

फिर मैंने साफ़ करा चुत को मुँह से और चाटने लगा. आंटी पागल हो रही थी. वो बोल रही थी-आंटी: राहुल प्लीज बस करो. अब दाल दो अंदर. बहुत देर से सेक्स नहीं करा. और आज तक मेरी चुत भी नहीं चाटी किसी ने. (Aunty sex story)

मैंने फिर एक फिंगर डाली और ऊपर से चाट भी रहा था. माया आंटी से नहीं रुका गया और आंटी ने पानी छोड दिया. और मैंने पी लिया. फिर मैं खड़ा हुआ और अपनी जीन्स उतारी और अंडरवियर भी.मैंने आंटी को कहा: नीचे आ जाओ और बैठ के लंड को मुँह में लो. (Aunty sex story)

वो कहती: हिम्मत नहीं है उठने की पानी बहुत निकल गया. बेड पे ही आ जाओ.मैं समझ गया और मैं बेड पे गया और लंड उनके मुँह में दे दिया मैंने. वो लंड चूसने लगी. मैंने उनका सर पकड़ के रखा था और ऐसे ही टट्टे भी चुस्वाए. ऐसा काम से काम 10-15 मिनट चला. फिर मैंने सोचा की चुत मारता हु.मैंने आंटी को बोला : आंटी कोनसे पोज़ में चुदना चाहती हो आप ?वो कहती: कोई भी चलेगी बस चोद दे.

फिर मैंने उनको लिटाया और ऊपर आ गया. मैंने लंड ऊपर-ऊपर रगड़ा पहले. वो मचल रही थी और अपना हाथ नीचे लाके डाल  रही थी अंदर. पर मैं नहीं माना. फिर मैंने 5 मिनट बाद थोड़ा सा डाला तो आंटी चिल्लाई की धीरे करो. फिर मैं थोड़ा रुका और पता नहीं कहा से जोश आया की मैंने एक ज़ोर से धक्का मारा और लंड पूरा अंदर चला गया. (Aunty sex story)

आंटी बेहोश हो गयी. सेक्स उनके सर पे चढ़ गया था. ये उनोने बाद में बताया मुझे. मैं फिर रुका थोड़ी देर. फिर मैं धीरे-धीरे चोद ने लगा. आंटी होश में आयी और मुझे पकड़ लिया. मैं समझ गया की वो झड़ने वाली थी और मैं ज़ोर से धक्के मारने लगा. मज़ा आ रहा था. आंटी चिल्ला रही थी.

माया आंटी: अहह अहह आए राहुल मज़ा आ रहा है. चोद मुझे ऐसे ही चोद ता रह. अब से हम रोज़ चुदाई करेंगे. दिन में बेटा  ट्यूशन होगा और अंकल शॉप पर और तू मुझे रंडी की तरह चोद ना ओके?मैंने कहा: ठीक है आंटी. हमारी चुदाई करीब 25 मिनट चली और मैंने कहा-मैं: मेरा निकलने वाला है.

कहा निकलू?वो कहती: कही भी कर दे.मैंने कहा: मुझे मुँह में करना है.पहले तो वो नहीं मानी. फिर मैंने बोला -मैं: अगर उलटी हुई तो भाग के वाशरूम चली जाना.वो कहती: ठीक है.फिर मैंने लंड निकला और मुँह पे दाल दिया.

आंटी ने थोड़ा सूचक करा और मेरा निकल गया ावववव. मैंने आंटी का मुँह नहीं चोद ा जब तक मेरा पूरा नहीं निकला. फिर आंटी को मनाया की पियो और नाक बंद कर दी अन्त्य की और कहा अब पियो और वो पी गयी. (Aunty sex story)

फिर ऐसे ही हम नंगे पड़े रहे. मैं उनकी गांड के साथ खेलता रहा. अब हम रोज़ चुदाई करने लगे. गांड भी मारी मैंने आंटी की और वो मैं अगले पार्ट में बताऊंगा. और हमने डर्टी सेक्स भी करा लिखे वाशरूम में सुसु करा एक दुसरे के ऊपर और गांड चाटी 

फिर अंकल को थोड़ा शक होने लगा तो मैंने रूम चेंज कर लिया. अब भी कभी-कभी मिल लेते है हु आंटी से और हम मज़े करते है.अगर किसी भी भाभी या लड़की को सेक्स करना हो दिल्ली मोहाली पंचकूला पंजाब हरयाणा या आस-पास कही तो आप मुझे कांटेक्ट कर सकते है    [email protected] 

(Aunty sex story)

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds