मेरी चुत को फिर से चुदने की प्यास लगी!

मेरी चुत को फिर से चुदने की प्यास लगी!

हिंदी सेक्स स्टोरी सबसे पहले मुझे आपको बटा दू की में फिट लड़की हू मेरा आकार 34-26- 32 या रंग सबका है जो मेरा बदन लड़कों में आग लगने वाला है। तो मेने बहुत सेक्स किया ज या मुझे सेक्स करने म बहुत मजा आता है में सेक्स को बहुत एन्जॉय कृति हू मेने का लंड लिय है या मेरा तो टाइम वेस्ट एन कृते हुई कहानी पे आती है। आज मेरी चुत को फिर से चुदने की प्यास लगी और में अजीब आदमियों की तराफ आकर्षित होने लगी।

ये बात 1 महाने पहले की है उस समय में काई दिनो से छुडाई नहीं की थी मेरा आदमी लंड लेने को हो रहा था इसिलिए में बीच हो रही थी भी मेने अपनी फ्रद खुशी को कहीं घुमने जाने मन फ्रेश करने के लिए जीई

तो हम हमरे सिटी से 30 किमी दूर माउंटेन हिल्स ज वहा जाना किया किया या उसकी स्कूटी से घर से 12 बजे निकले फिर 1 घंटे के सफर के बाद हम वहा पहच गए बहुत खूबसुरत नजर था वह पे या वहा कफी सारे लोग तुम आंखे छुडाई के लिए लंड तलाशी ही थी मुझे लग रहा था काश मेरी गरमी शांत कर दे कोई।

फिर हमें ऐसे घुमते घुमते 2 घंटे हो गए या हम थोड़े ठक गए फिर हमें भुख भी एलजी रही थी तो वापस जाते हुए रास्ते में एक ढाबे पे रुक कर कुछ खाने का सोचा फिर। पर एंडर ही एंडर मेरी लंड लेने की प्यास बड़ते जा रही थी एमजीआर में कर भी क्या शक्ति थी।

याही सोचते हुए फिर हम ढाबे या पहुच गए या वहा खाना ऑर्डर कर दिए। फिर मेरी फ्रेंड को टॉयलेट जाना था तो वो चली गई या अकेले बैठी थी। मेरे सामने टेबल पर 4 आम जो की 40 की उम्र के एलजी रहे थे या एक लगभाग 30 की उम्र का लगारा था वही बैठे थे या अपने ऑर्डर का इंतजार कर रहे थे।

या बार बार मुझे देख रहे थे या स्माइल कर रहे थे या आपस में बीटी कर रहे थे मैं ये सब देख रहा था पर फिर मैंने सोचा की काश ये सब दूधे मेरी आग बुझा दी मन ही मैं ओरिसा सोचा खुश होने एलजीआई।

फिर इस बार उन्होन ने देखा भी मुझे भी मुस्कान कर दे मैंने अपना दुपट्टा हटा दिया जिससे मेरी स्तन की दरार दिख रही है मुझे ऐसा करने के लिए फिर अनलॉग मुझे या घोरने लगे या मेरे और गरमी बढ़ी जा रही थी इतने में क्री जाए तो मुझे उस के पास जाने लगे वो ये देख कर घबरा गए।

फिर मैंने उनको हैलो किया उन्होन भी हैलो किया मेने पुचा एपी मुझे क्यो देख रहे थे उनमे से एक न कहा आप अच्छे लग रहे हैं इसिलिए आपको देख रहे थे हम फिर वो कहने लगे हमरे मन साथ ही क्या डिटे एच आपके लिए।

तो मैने सोचा चलो श्यद मेरे खाब पुरा हो सकता है तो मैंने सोचा चलो आज हो जाए। या बैठे उनके साथ या नार्मल ऐसे ही बात करने लगे उनके नाम सुरेश, करण, जग्गू या रिशभ द उनमे से डीप सबे यंग 30 का था वो भी नफरत कटे मर्द थे तो मुझे पता चला वो चारो दोस्त है याहा दसरे राज्य से घुमने आए एच।

फिर उन्होन कहा हम इतने दूर से आपके यहां घुमने आए ज भी आप घूम दिजिए हमें जाने उनसे कहा नहीं मुझे घर जाना ज या मन करना चाहा पर अनलॉग बहुत फोर्स क्रने लेगे मैने फिर हां कर दी भी उन लोगों के आदमी हुए मैं भी वही था जो मेरे मन में था।

इतने में मेरे दोस्त आ गए मैंने उससे कहा की ये मेरे दूर के रिश्ते में है या मुझे याहा घुमा कर फिर आऊंगी तो उसना थिक है कहा या हमने फिर उनके साथ खाना खाया या मेरी दोस्त को कहा की तो घर ले पास 2 जा -3 घंटे में आ जाऊंगी भी फिर वो चली गई या ये सब देख कर वो चारो बहुत खुश हुए हुए।

फिर मैंने उनको याह की घुमने वाली जगा बताया एलजीआई पर उनका इरदा घुमने का नहीं था या मेरा भी नहीं था फिर हम वहां से निकल कर उनकी कार में बैठे हुए उन्होन मुझे पिचे वाली सीट पीआर बह एम बैठा दिया दार भी था जनसंपर्क और से भी उत्साह भी हो रही थी।

फिर हम निकल गए या वो सब मुझे घोर घोर के देख रहे थे या मेरे बाजू में जो बैठे थे वो मुझे धीरे-धीरे चुन लेंगे मुझे भी मेरा आ गया था फिर। फिर सुरेश जो कार चला रहा था उसे कार साइड में रोक दी या कहने लगा की देखो या स्नेहा हम आपको तुमको इसिलिए देख रहे थे कि तुम मस्त माल एलजी रही थी।

या हम ये बात कर रहे हैं कि काश इसे चोदने मिल जाता तो कितना माजा आता या श्याद हम सब की इच्छा श्याद पूरी होनी ही थी जो अभी तुम हमरे साथ हो वो भी अकेले अकेले फिर मेने कहा ये सब सुनकर मुझे क्या मिलेगा मुझे तो पहले ही से यही लग रहा था कि बहुत कुछ नहीं हुआ।

तो फिर तुम क्यो हमरे पास आई तो में कह मेरी भी यही मन था सुन कर चारो हसने लगे या फिर सुरेश ने कहा तो तुम हो हमारी रंदी आज हम सब मिल्कर बहुत छोडेंगे या मेरे बाजू में बैठे दो मुझे किस करने लगेंगे।

या मेरे स्तन दबने लगे मेरी कमर चुन लेगे मुझे बहुत मजा आ रहा था एलजी रह था की आज तो बहुत माजा आने वाला फिर जग्गू और वही पास का एक होटल ऑनलाइन किताब किया या फिर हम वहां पहुच गए या फिर अंदर कमरे दोस्तो आगे की चुदाई की कहानी अगले भाग में।

Escorts in Delhi

This will close in 0 seconds