भाभी ने मेरे लंड की प्यास को ठंडा किया | Bhabhi Sex Story

भाभी ने मेरे लंड की प्यास को ठंडा किया | Bhabhi Sex Story

हेलो दोस्तों आज Ritu ji की कहानी रोहित की ज़ुबानी, मेरा नाम रोहित है, मैं सूरत में रहता हूं। मेरी उम्र 19 साल की है। मेरा 7 इंच लम्बा लंड किसी भी चूत की गर्मी बुझाने के लिए काफी है। 
यह कहानी मेरी ममेरी भाभी के साथ हुई चुदाई पर आधारित है। तो अब सब लौंडे अपने अपने लवडे को पकड़ कर बैठ जाएं और सब लड़कियां एक एक खीरा अपने पास रख लें। (Bhabhi Sex Story)
बात तब की है जब मैं अपने मामा के यहां गया था। मामा के परिवार में मामी, मेरा भाई, भाभी और उनकी एक प्यारी सी बेटी है। 
मैं थोड़ा शर्मिला लड़का था इसलिए भाभी से पहले बहुत कम बात करता था। 

मेरी भाभी के बारे में थोड़ा बता दूँ। भाभी एक गजब की फिगर की मल्लिका हैं और उनका हुस्न भी किसी को भी आकर्षित करने के लिए काफी है। उनका फिगर 36-30-36 का है । वो जब भी चलती हैं तो उनकी मटकती गांड देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता है। (Bhabhi Sex Story)

मेरे मामा की फैक्ट्री है तो मामा और भाई सुबह चले जाते हैं और दोपहर को खाना खाने के लिए आते हैं और फिर से चले जाते हैं. फिर रात को लेट करीब दस ग्यारह बजे के आसपास आते हैं। 
एक दिन की बात है मामा और मामी किसी काम के लिए मेरे नाना के यहां गांव गए थे और अपनी पोती को भी साथ ले गए थे। घर में सिर्फ भाई भाभी और मैं हम तीन ही बचे थे। (Bhabhi Sex Story)

उस दिन सुबह को भाई जल्दी फैक्ट्री पर चले गए था। वैकेशन के चलते मैं सुबह देर से उठता था। उस दिन जब मेरी नींद खुली तो मेरा उस्ताद अपनी मस्ती में खड़ा था, मैं नींद में उसे मसल रहा था। 

लेकिन मुझे पता नहीं था कि भाभी वहीं बाजू में खड़ी खड़ी मेरी हरकतें देख रही थी. 
जब मेरी आंख खुली तो मैंने भाभी को मेरा लंड शॉर्ट्स के ऊपर से घूरता पाया। जब हमारी आंख मिली तो मैंने तुरंत अपना हाथ हटा लिए, लेकिन भाभी मेरी ओर देखकर हंसने लगी और वो वहां से चली गई। (Bhabhi Sex Story)

भाभी जब भी झाड़ू पौंछा लगाती तो मैं उनके गहरे गले के टॉप में से उनके बड़े बड़े मम्मे घूरता। उस दिन मैं सोफ़ा पर बैठ कर अपने फोन में कुछ कर रहा था, तभी भाभी आ गई और मेरे पास बैठ गई। हम ऐसे ही बात करने लगे, तभी भाभी ने पूछा- आपकी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं? 
तो मैंने मना कर दिया और फिर हम बातों में मशगूल हो गए। 

एक दिन बाद जब भाभी झाड़ू लगा रही थी तब मैं उनके मम्मे घूरे जा रहा था, तभी भाभी ने मुझे पकड़ लिया और कहा- अब तो देवर जी, आप कोई लड़की ढूंढ ही लीजिए। (Bhabhi Sex Story)
भाभी की इस बात से मैं झेंप गया। 

बाद में मैं पढ़ने ऊपर के रूम में चला गया क्यूंकि छुट्टी के बाद मेरे एग्जाम स्टार्ट होने वाले थे। भाभी ऊपर रूम में अपना काम निपटा कर आई और बोली- मैं मार्केट जा रही हूं कुछ सामान लेने के लिए! (Bhabhi Sex Story)
मैंने कहा- ठीक है। 

मार्केट से आने के बाद भाभी नहाने के लिए चली गई। नहाने के बाद वो नीचे टीवी देखने चली गई। उस वक्त मुझे शरारत सूझी। मैं चुपके से भाभी के कमरे में गया जो ऊपर के माले पर ही था और वहां जा के भाभी की पेंटी और ब्रा ले ली और उसे मैं सूंघने लगा। 
कमाल की खुश्बू आ रही थी भाभी की पेंटी से। 

पैंटी पर मैंने देखा कि कुछ चिपचिपा लगा हुआ था। वो भाभी का कामरस था। 
मैं उसे चाटने लगा। थोड़ा खारा स्वाद था मगर मस्त था। (Bhabhi Sex Story)

इस सब चक्कर में मैंने अपना खड़ा लंड शॉर्ट्स में से बाहर निकाला और ब्रा उस पर लपेट के मुठ मारने लगा और पेंटी भी चाट रहा था. 
मुझे दरवाजा बंद करने का खयाल नहीं आया और तभी भाभी आ गई, उन्होंने मुझे इस हालत में देखा और जोर से बोली- क्या कर रहे हो यह तुम? 
मैं डर गया और भाभी से माफी मांगने लगा. 

लेकिन मेरी सोच से उलट भाभी मेरे करीब आई और अचानक से मेरा लौड़ा चूसने लगी। भाभी के इस अचानक वार के लिए मैं तैयार नहीं था। पहली बार किसी लड़की ने मेरा लौड़ा मुंह में लिया था तो पूरे शरीर में अचानक से करेंट दौड़ गया। 
मैं आंखें बंद करके मजे ले रहा था। भाभी गपागाप मेरा लंड चूसे जा रही थी। दोस्तो, उस अहसास को शब्दों में बयां करना मुश्किल है। (Bhabhi Sex Story)

दस पंद्रह मिनट की चुसाई के बाद मैं झड़ गया और भाभी मेरा सारा रस गटक गई, चूस चूस कर उन्होंने मेरा सारा माल खाली कर दिया। 

मेरा माल पीने के बाद भाभी बोली- देवर जी, आपका लंड तो बहुत ही मस्त है और माल भी टेस्टी है। 
भाभी ने इतना बोल लिया कि नीचे से दरवाज़े की बेल बजी। 
भाभी बोली- लगता है तुम्हारे भैया आ गए! 
और अपने आप को ठीक करके वह वहां से निकल गई। 

बाद में भैया मुझे खाने के लिए आवाज दी तो मैं नीचे चला गया। हम तीनों ने खाना खाया और भैया खाना खाने के बाद पंद्रह-बीस मिनट में फैक्ट्री लिए निकल गए। 
बाद में भाभी वाशबेसिन में बर्तन साफ करने लगी। मैं पानी पीने के बहाने किचन में गया और भाभी को पीछे से पकड़ लिया। 
भाभी ने इस हरकत पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी इसलिए मैंने अपना लौड़ा भाभी की गांड की दरार में घुसा दिया और घिसने लगा। मैंने मेरे हाथ भाभी के बड़े बड़े स्तनों पर रख दिये और उन्हें दबाने और मसलने लगा। (Bhabhi Sex Story)

भाभी बोली- क्यों देवर जी, पहले तो शरमाते थे और अब सब शर्म निकल गई? 
तो मैंने कहा- ये सब आपका ही किया-धरा है। 
इस बात से भाभी हंसने लगी और कहा- जाइए ऊपर रूम में… मैं अभी काम खत्म करके आती हूं. 
तो मैं मन मार के ऊपर चला गया। 

करीब दस मिनट बाद भाभी आई। उनके आते ही मैंने उन पर हमला कर दिया और उन्हें किस करने लगा। भाभी भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। मैं किस करते करते उनके मम्मे मसलने लगा. तभी भाभी ने अपनी जीभ मेरे मुंह में घुसा दी तो मैं भी उसे चूसने लगा। (Bhabhi Sex Story)

किस करते करते मैं उनके कुर्ते के अंदर हाथ डाल कर मम्मे दबाने लगा। अब मैंने भाभी का कुर्ता उतार दिया। कुर्ता उतरते ही उनके 36 इंच साइज़ के बड़े बड़े मम्मे मेरे सामने थे। मैं उन पर टूट पड़ा, एक को हाथ से दबाता और एक को मुंह से चूसता रहा। बड़े और नर्म नर्म मम्मे चूस कर मज़ा आ गया। (Bhabhi Sex Story)
तकरीबन 15 मिनट तक मैं मम्मे चूसता रहा। 

अब बारी उनकी नाभि की थी। भीआईपीचोटी की कहानियां पढ़ पढ़ कर मुझे यह पता लग गया था कि औरतें नाभि और गर्दन पर किस करने से बहुत जल्दी गर्म होती हैं। (Hindi Sex Story)
मैं नाभि पर और उनके नरम पेट पर किस करने लगा। किस करते करते मैंने अपना एक हाथ उनकी सलवार में घुसा दिया और पैंटी के ऊपर से ही चूत को सहलाने लगा। (Bhabhi Sex Story)

फिर मैं अचानक खड़ा हुआ और फटाक से उनकी सलवार को खींच कर उतार दिया। अब भाभी मेरे सामने सिर्फ़ पैंटी में पड़ी थी। 
आह दोस्तो क्या नज़ारा था। 
तभी भाभी बोली- ये तो नाइंसाफी है देवर जी, मुझे नंगी करके आप खुद कपड़ों में हैं. तो मैंने कहा कि आप खुद उतार दीजिए। 
तब भाभी खड़ी हुई और मुझे किस करने लगी। (Bhabhi Sex Story)

किस करते करते मेरा टीशर्ट उतार दिया और मुझे बेड पर धकेल दिया। अब अधनंगी भाभी मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे किस करने लगी। 
उनकी चूत सीधे मेरे लंड पर थी तो वो भी खड़ा हो गया था। किस करते करते वो नीचे की तरफ आगे बढ़ी और मेरे शॉर्ट्स उतार दिए। अब मैं सिर्फ चड्डी में था और भाभी सिर्फ़ पैंटी में। (Hindi Sex Story)
चड्डी को मेरा लंड खड़ा करके तम्बू बना रहा था, यह देखकर भाभी बोली- आप के छोटे उस्ताद तो बहुत बड़े हैं। 

उसके बाद भाभी ने मेरी चड्डी को खींच कर निकाल दिया और वो मेरा लंड चूसने लगी। उनके मुंह से आवाजें आ रही थी। 

तभी मैंने भाभी के सर को पकड़ लिया और नीचे से धक्के देने लगा। दस-पंद्रह मिनट की चुसाई के बाद में जब मैं झड़ने को आया तो मैंने भाभी का सर अपने हाथों से लंड पर दबा दिया और एक धक्का दिया तो मेरा लंड सीधा उनके गले में रुका और मैंने अपना माल भाभी के मुंह में झाड़ दिया और भाभी मजे से सारा माल पी गई। (Bhabhi Sex Story)

अब मेरी बारी थी। भाभी को मैंने बेड पर धकेल दिया और उनकी नर्म और चिकनी जांघों को सहलाने और चूमने लगा। धीरे धीरे मैं ऊपर बढ़ता गया और बाद में पेंटी के ऊपर से ही भाभी की चूत चाटने लगा और मौका देखते ही जब भाभी ने अपनी गांड ऊपर की तो फटाक से पेंटी को निकाल दिया। (Bhabhi Sex Story)

अब भाभी मेरे सामने बिल्कुल नंगी पड़ी थी। मैं भाभी की जांघों के पास आया और उनकी चूत निहारने लगा। उनकी चूत क्लीन शेव्ड थी और बड़े होंठों के साथ गुलाबी थी। 
मैं पागलों की तरह चूत चाटने लगा। 

इसी बीच मैंने अपनी पूरी जीभ उनकी चूत के अन्दर डाल दी और भाभी आहें भरने लगी- हाँ चाटो रोहित अपनी भाभी की चूत और जोर से। 
और मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगी। 

थोड़ी देर की चुसाई और चटाई के बाद भाभी अपने चरम पर पहुंच गई और झड़ने लगी। मैं सारा पानी चाट कर पी गया नमकीन थोड़ा खट्टा स्वाद था भाभी के पानी का। (Bhabhi Sex Story)

अब हम फिर किस करने लगे। किस करते करते भाभी मेरे लंड और टट्टे सहलाने लगी। सहलाते सहलाते उन्होंने मेरे लंड को फिर से खडा कर लिया। 

मैं फिर से नीचे आ गया और भाभी की चूत में उंगली करने लगा। भाभी की सिसकारियां निकलने लगी उम्म्ह… अहह… हय… याह… और कहने लगी- मुझसे अब रहा नहीं जाता, चोद दो अपनी भाभी को। 
तो मैंने भाभी की टांगों को फैलाया और उनकी चूत पर लंड का टोपा घिसने लगा। 

भाभी और तड़पने लगी और कहने लगी- अब नहीं रहा जाता, प्लीज़ चोद दो मुझे। 
तो मैंने छेद पर लण्ड टिका कर धक्का दिया, एक बार में अपना पूरा 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा लंड चूत में घुसा दिया। 
भाभी चीखने लगीं- मार डाला तूने रोहित … एक झटके में कोई इतना बड़ा लंड डालता है? 

कुछ पल रुकने के बाद मैं भाभी को चोदने लगा, धीरे धीरे अपने धक्कों की गति बढ़ा दी और भाभी भी सिसकारियां लेते लेते बड़बड़ा रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह्ह ह्ह… जोर से चोदो अपनी भाभी को… आह्ह… उम्म्म। 

पंद्रह मिनट की धक्का पेल चुदाई के बाद मैं झड़ने को हुआ तो भाभी को बताया. (Bhabhi Sex Story)
तो भाभी ने कहा- अन्दर ही झाड़ दो! 
मैं जोर जोर से धक्के लगाने लगा, तभी भाभी का पानी फूट पड़ा और उसकी गर्मी से मैं भी झड़ने लगा। झड़ने के बाद में भाभी के पास ही लेट गया और उनके मम्मों से खेलने लगा। (Hindi Sex Story)

भाभी को मैंने पूछा- आज सुबह आपने एकदम से मेरा लंड क्यों मुंह में ले लिया था? 
तो उन्होंने कहा- मैं बहुत दिनों से देख रही थी कि आप मेरे मम्मे और गांड को ताड़ते थे और मुझे भी चेंज के लिए नया लंड चाहिए था. पर आप रहे बहुत शर्मीले, इसलिए मुझे पता था कि आप तो कोई पहल नहीं करेंगे, इसलिए मैंने आपके लंड पर हमला कर दिया। 

इस बात पर मैं भी मजाक के मूड में बोला- भाभी, आपकी इस सर्जिकल स्ट्राइक से तो मेरा लंड ढेर हो गया। 
और हम दोनों हसने लगे। 

बाद में मेरा फिर से मूड बनने लगा तो भाभी को कहा- भाभी, एक और राउंड हो जाए!! 
तो भाभी ने भी बात पर हामी भर दी। 

मैंने एक बार और भाभी की तरह तरह की पोजिशन में चुदाई की। 

इसके बाद तो जैसे हमारे बीच चुदाई का सिलसिला शुरू हुआ और अब भी मैं जब अपने मामा के घर जाता हूं तो कम से कम एक बार तो भाभी की चुदाई करता ही हूं। 
दोस्तो, मेरी यह कहानी कैसी लगी यह मुझे मेल करके जरूर बताना। 
आपका दोस्त रोहित । 

अब उसकी नाभि की बारी थी। ऊपर की कहानियां पढ़ने के बाद भी मुझे पता चला कि नाभि और गर्दन पर किस करने से महिलाएं बहुत जल्दी गर्म हो जाती हैं।
मैं नाभि और उसके कोमल पेट पर किस करने लगा। किस करते हुए मैंने अपना एक हाथ उसकी सलवार में डाला और पैंटी के ऊपर से चूत को सहलाने लगा।

फिर मैं अचानक खड़ा हो गया और उसकी सलवार को एक झटके से खींच लिया। अब भाभी मेरे सामने जाँघिया में ही लेटी थीं।
आह दोस्तों क्या नजारा था।
तब भाभी बोली- ये तो नाइंसाफी है जीजाजी, तू खुद मुझे नंगा करके कपड़े में है। तो मैंने कहा कि तुम इसे खुद उतार दो।
तभी भाभी उठ खड़ी हुई और मुझे किस करने लगी।(Bhabhi Sex Story)

किस करते हुए मेरी टी-शर्ट उतार दी और मुझे बेड पर धकेल दिया। अब अधनंगी भाभी मेरे ऊपर चढ़ गई और मुझे किस करने लगी।
उसकी चूत सीधे मेरे लंड पर लगी तो वो भी उठ खड़ा हुआ. किस करते हुए वो आगे बढ़ी और मेरे शॉर्ट्स उतार दिए। अब मैं सिर्फ टाइट्स में थी और भाभी सिर्फ पैंटी में।(Bhabhi Sex Story)
यह देखकर कि मेरा लंड मेरे लंड को उठाकर तंबू बना रहा है, भाभी ने कहा- तुम्हारे छोटे मालिक बहुत बड़े हैं।

उसके बाद भाभी ने मेरी टाइट खींची और वो मेरा लंड चूसने लगी. उसके मुंह से आवाजें आ रही थीं।

फिर मैंने भाभी का सिर पकड़ लिया और नीचे से धक्का मारने लगा। दस-पंद्रह मिनट चाटने के बाद जब मैं गिरने के लिए आया, तो मैंने अपनी भाभी का सिर अपने हाथों से मुर्गा पर दबाया और एक धक्का दिया, फिर मेरा लंड सीधे उसके गले में रुक गया और मैंने अपना माल बहन में फेंक दिया- सास-ससुर के मुंह में जाकर भाभी ने सारा माल पी लिया। (Hindi Sex Story)

अब मेरी बारी थी। मैंने भाभी को बिस्तर पर धकेल दिया और उसकी कोमल और चिकनी जाँघों को सहलाने और चूमने लगा। धीरे-धीरे मैं ऊपर गया और बाद में पैंटी के ऊपर से भाभी की चूत चाटने लगा और मौका देखकर भाभी ने अपनी गांड उठाई तो उसने पैंटी को आग से उतार दिया।

अब भाभी मेरे सामने बिल्कुल नंगी पड़ी थी। मैं भाभी की जाँघों के पास आया और उसकी चूत को देखने लगा। उसकी चूत क्लीन शेव्ड थी और बड़े होंठों वाली गुलाबी थी।
मैं पागलों की तरह अपनी चूत चाटने लगा।

इसी बीच मैंने अपनी पूरी जीभ उसकी चूत में डाल दी और भाभी आहें भरने लगी- हां, रोहित अपनी भाभी की चूत को और जोर से चाटता है।
और मेरा सिर मेरी चूत पर दबने लगा।(Bhabhi Sex Story)

कुछ देर चूसने और मेटने के बाद भाभी अपने चरम पर पहुंच गईं और गिरने लगीं। मैंने सारा पानी चाट लिया और भाभी के पानी का नमकीन थोड़ा खट्टा स्वाद पी लिया।

अब हम फिर से किस करने लगे। भाभी को चूमते हुए मेरे लंड और पोनी को सहलाने लगा. सहलाते हुए उसने मेरे लंड को फिर खड़ा कर दिया।

मैं फिर नीचे आया और अपनी भाभी की चूत में उंगली करने लगा। भाभी की फुफकार निकलने लगी उह…आह…हाय…हां…और कहने लगी- अब और नहीं जी सकती, अपनी भाभी को चोदो।(Bhabhi Sex Story)
तो मैंने भाभी की टांगें फैला दीं और लंड की टोपी उसकी चूत पर रगड़ने लगी।

भाभी तड़पने लगी और कहने लगी- मैं अब और नहीं जी सकती, प्लीज मुझे चोदो।
तो मैंने लंड को छेद पर धकेल दिया, अपना पूरा 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड एक ही बार में चूत में डाल दिया।(Bhabhi Sex Story)
भाभी चिल्लाने लगी- तुमने रोहित को मार डाला…एक झटके में कोई इतना बड़ा लंड डाल देता है?

कुछ पल रुकने के बाद मैं अपनी भाभी को चोदने लगा, धीरे-धीरे मेरे धक्कों की रफ़्तार तेज़ हो गई और भाभी फुफकारते हुए बड़बड़ा रही थी – उह… आह… हाय… याह… आह्ह ह… तुम्हारी भाभी… आह… उम्म।

पंद्रह मिनट की धक्का-मुक्की के बाद मैं गिरने ही वाली थी और अपनी भाभी को बताया।
तो भाभी बोली- अंदर झाडू लगाओ!
मैंने जोर जोर से धक्का देना शुरू किया तो भाभी का पानी टूट गया और मैं भी उसकी गर्मी से गिरने लगा। गिरने के बाद वह अपनी भाभी के पास लेट गया और अपनी सास के साथ खेलने लगा।(Bhabhi Sex Story)

मैंने भाभी से पूछा – तुमने आज सुबह मेरा लंड एकदम से मुँह में क्यों ले लिया?
तो उन्होंने कहा- मैं बहुत दिनों से देख रहा था कि तुम मेरी मां और गांड को ताना मारते थे और मुझे भी बदलाव के लिए नया मुर्गा चाहिए था। लेकिन तुम बहुत शर्मीले थे, इसलिए मुझे पता था कि तुम कोई पहल नहीं करोगे, इसलिए मैंने तुम्हारे लंड पर हमला कर दिया।(Bhabhi Sex Story)

इस बात पर मैंने भी मज़ाक के मूड में कहा- भाभी, तुम्हारी इस सर्जिकल स्ट्राइक से मेरा लंड ढेर हो गया।
और हम दोनों हंसने लगे।

बाद में जब फिर से मूड आने लगा तो मैंने भाभी से कहा- भाभी, चलो एक और चक्कर लगाते हैं !!
तो भाभी भी इस बात के लिए राजी हो गईं।(Bhabhi Sex Story)

मैंने एक बार फिर अपनी भाभी की तरह उसी पोजीशन में किस किया।

इसके बाद हमारे बीच सेक्स का सिलसिला शुरू हो गया और अब भी जब मैं अपने मामा के घर जाता हूं तो कम से कम एक बार तो मैं हमेशा अपनी भाभी को किस करता हूं। (Hindi Sex Story)
दोस्तों आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी कृपया मुझे मेल द्वारा बताएं।

Hyderabad Call Girls

This will close in 0 seconds