वर्जिन क्लासमेट के साथ खेत में रोमांस – हॉट रोमांस स्टोरी

वर्जिन क्लासमेट के साथ खेत में रोमांस – हॉट रोमांस स्टोरी

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “वर्जिन क्लासमेट के साथ खेत में रोमांस – हॉट रोमांस स्टोरी”। यह कहानी विशाल की है आगे की कहानी वह आपको खुद बताएँगे मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

जीएफ के साथ हाफ सेक्स का मजा मुझे मेरे गांव की एक लड़की ने दिया, जिससे मेरी दोस्ती थी. उसने कभी खड़ा लंड नहीं देखा था, इसलिए वो मेरा खड़ा लंड देखने की जिद करने लगी.

मेरा नाम विशाल है, मेरी उम्र इस समय 25 वर्ष है।
यह कुछ साल पहले की बात है, मेरा पॉलिटेक्निक का आखिरी साल था।

वहां मेरी एक दोस्त हुआ करती थी, जिसका नाम Ayushi था.

वह 19 साल की गेहुंए रंग की लड़की थी.

उसके होंठ गुलाबी थे और ठुड्डी पर एक तिल था।
उनकी ऊंचाई पांच फीट थी.

आयुषी केचुचे बड़े थे और Moti Gand थी। वो टाइट सलवार सूट पहन कर आती थी. उसकी जांघों पर सलवार ढीली थी, इसलिए धूप में उसकी गोल कसी हुई जांघें सलवार के अंदर से दिख रही थीं. (हॉट रोमांस स्टोरी)

हम दोनों स्कूटी पर एक साथ गांव से शहर जाते थे। वो चलाती थी, मैं उसके पीछे बैठता था.

मैं उससे लम्बा था.
जब मैं स्कूटी पर उसके पीछे बैठता था तो मुझे उसके Big Boobs की दरार आसानी से दिख जाती थी।

वह अपना बैग अपनी कमर पर लटकाती थी, जिसके कारण उसकी बड़ी गांड को अपनी जाँघों के बीच दबाने की मेरी कोशिश नाकाम हो जाती थी।

तब वह इस बात से अंजान थी.
वह सुंदरता से भरपूर थी.

मेरे पास एक काला लंड है जो सात इंच लंबा और तीन इंच मोटा है, जिसका लंड का टोपा पूरी तरह से गुलाबी है।
दोस्तो, मुझे पोर्न फिल्में देखना पसंद है.. इसलिए मैं अक्सर अपने मोबाइल में कोई न कोई पोर्न फिल्म रखता हूँ।

एक बार कक्षा में उसने कैलकुलेटर का उपयोग करने के लिए मुझसे मेरा फोन ले लिया।

मैं पोर्न मूवी डिलीट करना भूल गया.
ये मुझे बाद में याद आया.

जैसे ही मैं अपना फोन वापस लेने गया तो मैंने देखा कि आयुषी का चेहरा शर्मिंदगी से लाल था और वह लगातार फोन में देख रही थी.

इससे मुझे समझ आ गया कि वो पहली बार लड़कियों को लंड पर उछलते हुए और Chut Chudai करवाते हुए देख रही थी. दोस्तो, आयुषी ने जो सेक्स फिल्म देखी थी, असल में उसमें एक देसी लड़की नंगी लेटी हुई थी; एक आदमी उसे जोर-जोर से चोद रहा था।

हालाँकि उस फिल्म में चोदू लड़के और उसके हथियार को नहीं दिखाया गया था. मैं अपनी बेंच पर वापस आया और उसे देखने दिया।

अब उसे पता चल गया था कि मैं चूत का प्यासा था और मैं उसके स्तनों, गांड और जांघों को क्यों घूरता रहता था; मैं उन्हें छूने की कोशिश करता रहता हूं.

चूँकि उस दिन शनिवार था इसलिए दोपहर में कॉलेज की छुट्टी हो गयी।
हम दोनों घर के लिए निकल पड़े. (हॉट रोमांस स्टोरी)

मैंने उससे कहा- अपना बैग मुझे दे दो, तुम्हें चलाने में आसानी होगी.
आज वह भी मान गयी.

जो गांड और जांघें मैं पोर्न में देखता था, आज मैं उन्हें अपनी जांघों के बीच महसूस कर रहा था.
उसकी गांड के स्पर्श से मेरे लंड में सिहरन सी दौड़ गयी.

मेरे लंड में तनाव आ गया.

जैसे ही आयुषी को अपने मखमली नितंबों पर सलवार के अंदर कैद मेरे घोड़े की तरह तने हुए लंड का एहसास हुआ तो वह तुरंत आगे बढ़ी और स्कूटी की स्पीड बढ़ा दी। हम दोनों जल्दी ही गांव पहुंच गये.

रात को करीब 11 बजे उसने मुझे मैसेज किया- हाय!
मैं- हाय आयुषी, क्या बात है?

आयुषी- आज मैंने तुम्हारे फोन पर कुछ देखा. तुम इतने गंदे हो, मुझे नहीं पता था!
मैं- सॉरी यार आयुषी.

आयुषी- यार मुझे ये सब बताने में शर्म आ रही है.
मैंने हिम्मत करके पूछा- वैसे तुमने क्या देखा आयुषी?

आयुषी- तुम्हें पता ही होगा कि मैं क्या बात कर रही हूं.
मैं- मैं तुम्हारे जैसा स्मार्ट नहीं हूं. मेरा तो घोड़े जैसा है.

आयुषी- क्या कहा तुमने.. तुम्हारा क्या घोड़ा जैसा है?
मैं- अरे! मस्तिष्क और क्या है?

आयुषी- ठीक है.
मैं: आयुषी, ये सब मेरा निजी मामला है. अगर मुझे यह पसंद आया तो मैं देखूंगा. किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है और आप इतने समय से मेरे साथ हैं… क्या मैंने कभी आपको कुछ कहा है या मेरे बारे में किसी से कुछ सुना है? (हॉट रोमांस स्टोरी)

दोस्तो, आयुषी को मेरी बात अच्छी लगी और उसका गुस्सा शांत हो गया।

आयुषी- ठीक है, मैं तुम्हारी दोस्त हूँ इसलिए गुस्सा हो गई… सॉरी, बाय.
मैं- यार तुम मुझसे दोस्ती तो नहीं तोड़ोगे ना?

आयुषी- अरे नहीं बाबा, सो जाओ!

दोस्तो, जब कोई लड़की किसी दूसरी लड़की के स्तनों को जोर-जोर से हिलते हुए देखती है तो उसकी Tight Chut में कसाव न हो, गांड कांपने न लगे और स्तनों के चुचूक सख्त न हो जाएं… ऐसा संभव नहीं है। उस सेक्स वीडियो को देखकर आयुषी के निपल्स खड़े हो गये होंगे.

अगले दिन रविवार को आयुषी ने यह बात साफ भी कर दी.

आयुषी का मैसेज आया- हाय.
मैं- हेलो आयुषी, कल के लिए माफ़ी चाहता हूँ।

आयुषी- ठीक है. मैं आपसे कुछ पूछना चाहता था।
मैं- हाँ बताओ आयुषी!

आयुषी- पहले वादा करो कि गुस्सा नहीं करोगे … और सच बताओगे.
मैं- क्या मैंने कभी तुम पर गुस्सा किया।

मेरे कहने के बाद आयुषी ने जो मैसेज भेजा, उसे पढ़कर मैं हैरान रह गया.

आयुषी का मैसेज था कि तुम्हारे फोन में एक लड़की खेत में जमीन पर नंगी लेटी हुई है. वो जोर जोर से हिल रही थी. कहीं से थप-थप, थप-थप की आवाज आ रही थी और लड़की कह रही थी ‘आह आह उह उह, बहुत बड़ा है भाई, पूरा अन्दर मत डालो…’।

इतना कह कर आयुषी चुप हो गयी.
मैंने लिखा हम्म. (हॉट रोमांस स्टोरी)

आयुषी- वो क्यों कह रही थी कि वो बहुत मोटा है… और क्या कह रही थी अंदर मत डालो?

मैं: मेरा मतलब कि आपने वह वीडियो बहुत ध्यान से देखा!
आयुषी- बताओ न यार.

मैं: साफ़ साफ़ बता दूँ तो गुस्सा तो नहीं करोगी?
आयुषी- मैंने ही पूछा था. आप बताइये.

मैं- यार आयुषी, वो लड़की और उसका भाई खेत में कुछ कर रहे थे.
आयुषी- कुछ मतलब… क्या कर रहे थे? क्या उसका भाई उसे पीट रहा था और वह नंगी क्यों थी?

मैं: वह उसे नहीं मार रहा था बल्कि वह पेल रहा था।
आयुषी- क्या कहा तुमने? वह उसे किस चीज़ से पेल रहा था?

में : अरे बेवकूफ, वो दोनों सेक्स कर रहे थे.
आयुषी- हे भगवान… भाई बहन सेक्स, हाँ… कोई लड़की अपने भाई के साथ कैसे कर सकती है?

मैं: आयुषी, जो लड़की वह (लंड) चाहती है उसे यह किसी से भी मिले उसे फर्क नहीं पड़ता।
आयुषी- वह क्या … मुझे साफ़ साफ़ बताओ.

मैं: यार साफ़ साफ़ बताऊंगा तो गुस्सा हो जाओगी.
आयुषी- नहीं करूंगी, मैं तो बस ये जानना चाहती हूं कि वह चीज़ क्या है?
मैं: आयुषी, उस चीज़ को पुरुष जननांग अंग कहते हैं.

आयुषी- अच्छा, तुम्हारा दिमाग घोड़े जैसा है… और अब तुम अंग्रेजी बोल रहे हो। देखो, साफ-साफ बताओ.

मैं- यार, उसका भाई उसकी चूत में अपना लंड डाल रहा था.
आयुषी- छी: … क्या गंदी बातें कर रहे हो … पेशाब करने के लिए लंड का इस्तेमाल होता है.

मैं: तुम बेवकूफ हो, तुम सिर्फ एक किताबी कीड़ा हो। तुम रहने दो.. मैं खुल कर समझाऊंगा, फिर गुस्सा हो जाएगी.
आयुषी- मैं ऐसा नहीं करूंगी, तुम बताओ.

मैं- यार आयुषी, लंड सिर्फ पेशाब करने के लिए ही नहीं बल्कि चोदने के भी काम आता है. क्या आप सेक्स के बारे में कुछ नहीं जानते?

आयुषी- तुम चुदाई शब्द मत बोलो. यह गंदा है… और मैं बस इतना जानती हूं कि सेक्स गंदा है। मुझे नहीं पता था कि इसमें लंड का इस्तेमाल होता है.

मैं- यार, ऐसे शब्द ही मुझे आते हैं. जानना हो तो बताओ?
आयुषी : ठीक है, तुम किसी तरह बताओ कि उसका भाई उसे क्यों हिला रहा था और वह आअहह की आवाजें क्यों निकाल रही थी?

मैं- आयुषी, उस लड़की का भाई अपना लम्बा और मोटा घोड़े जैसा लंड उसकी गांड में डाल कर धक्के मार रहा था, जिससे उसकी बहन के सुडौल स्तन जोर-जोर से हिल रहे थे। आयुषी- छीः…तुम बहुत गंदे हो! (हॉट रोमांस स्टोरी)

मैं चुप रह गया।

आयुषी- अच्छा तुम्हें कैसे पता चला कि उसका लंड लम्बा और मोटा है?
दोस्तो, इस मैसेज में आयुषी ने लंड शब्द का इस्तेमाल किया था, जिसका मतलब था कि आयुषी बेचैनी महसूस कर रही थी।

मैंने जवाब दिया- यार, उस लड़की के मम्मे जोर-जोर से हिल रहे थे क्योंकि उसके भाई का लंड मोटा होगा, जिस वजह से उसे अपनी बहन की गांड में जोर से धक्का लगाना पड़ा… और वो आह आह उह उह बहुत मोटा है भाई… पूरा अंदर मत डालो… वह यह कह रही थी.

आयुषी- उफ़्फ़ हे भगवान… ये भी गंदा है. लेकिन इसे सुनकर ही मेरा दिल धड़क रहा है.
मैं: अरे पगली, इस धक धक का मतलब है कि तुम्हारा भी घोड़े की तरह लंबे और मोटे लंड पर कूदने का मन कर रहा है।

आयुषी: छीः तुम अपने दोस्त से क्या कह रहे हो?
मैंने आंख मारने वाला इमोजी भेजा.

आयुषी- वैसे तुम्हें कैसे पता चला कि लड़का अपनी बहन की गांड चोद रहा था.. चूत नहीं?
दोस्तों, क्या आपने ध्यान दिया? ये आयुषी का सबसे बोल्ड और लंड खड़ा करने वाला वाक्य था.

मैंने जवाब दिया- अब तुम गंदे हो रहे हो, गांड चोदने की बात कर रहे हो?
आयुषी- आप जवाब दीजिए. (हॉट रोमांस स्टोरी)

मैं- ठीक है.. तो सुनो, वो जोर-जोर से धक्के मार रहा था और उसकी बहन चिल्ला रही थी.. वो लंड को पूरा अन्दर जाने से रोक रही थी। ऐसा तभी होता है जब किसी लड़की की मखमली गांड मारी जा रही हो.

आयुषी- यार, तुम्हारी बातों से मुझे ऐसा लग रहा है कि…
मैं- बताओ, तुम्हारा क्या?

आयुषी- वही तो मैं भी देखना चाहती हूँ!
मैं- देखना चाहती हो, साफ-साफ बताओ. हम दोस्त हैं, दोस्त.

आयुषी- मुझे खड़ा लंड देखना है.
मैं- सच में … लेकिन क्यों?

आयुषी- क्योंकि मैं जानना चाहती हूं कि लंड में ऐसा क्या होता है … कि एक बहन अपने भाई के लंड पर अपनी गांड रगड़ने से एक बार भी नहीं कतराती. वो भी खेत में छिपकर!

मैं- ठीक है, ये बात है. ठीक है फिर सेक्सी मूवी डाउनलोड करो और देखो. जिसमें एक खड़ा हुआ लंड दिखा जायेगा. बिग कॉक टाइप करके देखो!

आयुषी- मैं ये गंदा काम नहीं करूंगी.
मैं: तो क्या मैं इसे डाउनलोड करके दे दूं?

आयुषी- मैं फोन पर नहीं, असल में देखना चाहती हूँ!
मैं- यार ये कोई आसान काम नहीं है.

आयुषी- क्या मतलब? मैं एक लौड़े की झलक भी बर्दाश्त नहीं कर सकती?
मैं: अरे मूर्ख, ऐसी बात नहीं है. मेरे कहने का मतलब यह है कि खड़े लंड की व्यवस्था कैसे होगी?

आयुषी- ओह ठीक है… ये बात है!
मैं: हाँ. (हॉट रोमांस स्टोरी)

आयुषी- तुम्हारे पास नहीं है क्या?
मैं- हे भगवान… क्या तुम सच में मेरा लंड देखना चाहती हो?

आयुषी- हाँ, वो लड़की अपने भाई के लंड को अपनी गांड पर चढ़ा सकती है… तो मैं अपने दोस्त का तो देख सकती हूँ!

मैं- अच्छा, ठीक है. मैं तैयार हूँ। लेकिन हम ये कहा करेंगे?
आयुषी- जैसे वो लड़की खेत में अपने भाई का लंड ले रही थी, वैसे ही मैं भी खेत में छिपकर तुम्हारा लंड देखना चाहती हूँ.
मैं- ठीक है, मैं तुम्हें दिखाऊंगा.

अगले दिन हम करीब 2.30 बजे कॉलेज से निकले.

आयुषी स्कूटी चला रही थी.
जाते-जाते आयुषी ने खुद ही पूछा- बताओ कहाँ रुकना है?

मैंने कहा- यार आयुषी, मैंने वैक्स नहीं किया है. नीचे झांटो का जंगल है।
ये सुनकर वो हंस पड़ी और बोली- कोई बात नहीं, मैं बस एक बार देखना चाहती हूं.

आयुषी ने गन्ने के खेत के किनारे स्कूटी रोक दिया।
मैंने कहा- चलो स्कूटी भी खेत के अन्दर रखते हैं, नहीं तो किसी को शक हो जायेगा।
आयुषी- ठीक है. (हॉट रोमांस स्टोरी)

हम दोनों स्कूटी से उतर गये.
आयुषी स्कूटी अंदर ले गई और मेरी तरफ देखकर बोली- अब क्या?
मैंने कहा- थोड़ा अन्दर चलते हैं.

ऐसा करते समय आयुषी घबरा रही थी और यह जानने के लिए भी उत्सुक थी कि करीब से देखने पर लंड कैसा लगता है।

मैंने आयुषी का हाथ पकड़ा और उसे खेत के बीच में ले गया जहाँ कोई हमारी बातें भी नहीं सुन सके। आयुषी मेरे ठीक सामने खड़ी थी और कभी छुपकर अपने बाल संवारती तो कभी अपना सलवार सूट।

उसने हिम्मत करके कहा- अब दिखाओ.
मैंने मौके का फ़ायदा उठाया और कहा- मैं आपके सामने खड़ा हूँ, प्लीज़ आप खुद ही मेरी पैंट खोल कर देख लो!

दोस्तों उस समय मेरा लंड पैंट के अंदर थोड़ा खड़ा हुआ था.

आयुषी आगे बढ़ी, लेकिन पहले उसने लंड को बिना निकाले पैंट के ऊपर से पकड़ लिया.
मेरा आधा लंड उसकी पकड़ से बाहर था. (हॉट रोमांस स्टोरी)

मैंने कहा- आयुषी, तुम घुटनों के बल बैठ जाओ और दोनों हाथों से लंड की लंबाई महसूस करो.
आयुषी ने अपनी चुन्नी उतार कर एक तरफ रख दी और दोनों हाथों से लंड पकड़ लिया.

चुन्नी हटाने के बाद आयुषी के तने हुए स्तनों की गोलाई और बीच की दरार साफ़ दिखाई दे रही थी।
आयुषी ने मेरी पैंट खोली और घुटनों तक सरका दी।

पसीने के कारण मेरा अंडरवियर मेरे लंड से चिपक गया था। उसने मेरे लंड की मोटाई को देखा और अपना थूक निगलने लगी.
तनाव के कारण मेरे लंड का सिर अंडरवियर से बाहर निकल रहा था।

आयुषी शरमा कर दूसरी ओर देखने लगी.
मैंने उसका एक हाथ पकड़ा और अपने लंड पर रख दिया।

आयुषी ने मेरी तरफ देखा और तुरंत अपना हाथ हटा लिया. मैंने आयुषी से कहा- मेरा अंडरवियर उतारो. जैसे ही उसने कच्छा नीचे सरकाया, मेरा काला लंड लटकता हुआ उसकी आंखों के सामने आ गया. (हॉट रोमांस स्टोरी)

आयुषी लगातार लंड को घूरे जा रही थी.
उसने हिलते हुए लंड को हाथ में पकड़ लिया.
वो लंड को नीचे करती लेकिन लंड अपने आप ऊपर आ जाता.

उसने पूछा- कितना बड़ा होगा?
मैंने कहा- आप ही नाप लो.

आयुषी ने अपने बैग से छह इंच का स्केल निकाला और लंड पर रख दिया.
उनका पैमाना भी एक इंच छोटा पड़ गया.
मतलब मेरा लंड सात इंच लम्बा था.

लंड की लंबाई नापने के बाद आयुषी ने अपनी कलाई मेरे लंड के पास रखी और बोली- हे भगवान… यह तो मेरे हाथ जितना मोटा है. (हॉट रोमांस स्टोरी)

ये सुन कर लंड फुंफकारने लगा.

इसी बीच आयुषी का फोन बजने लगा.
उसने एक हाथ से लंड उठाया और दूसरे हाथ से फोन.

उनके घर से कॉल आया था.
उसने कहा- मम्मी, मैं अभी कॉलेज में हूं और आधे घंटे बाद कॉलेज से निकल जाऊंगी.
ये सब उसने हकलाते हुए कहा.

आयुषी ने फोन रख दिया और जाने के लिए कहने लगी.
मैंने कहा- अपना लंड दिखाने के बदले मुझे कुछ दो!

आयुषी ने अपने होंठ चबाये और बोली- मैं तुम्हें क्या दे सकती हूँ?
मैंने कहा- आयुषी, कृपया अपने गुलाबी, गीले होंठ मेरे लंड पर रगड़ो!

यह सुन कर आयुषी अपना थूक निगलने लगी.
जैसे ही मैंने हिम्मत जुटाई और अपना तना हुआ लंड उसके होंठों के पास लाया, तो वह तुरंत पीछे हट गई।

वो बोली- आपके बाल बहुत गंदे लग रहे हैं और पसीने की बदबू भी आ रही है.
मैंने उदास चेहरा बनाया. (हॉट रोमांस स्टोरी)

आयुषी बोली- चलो मैं इसे अपने हाथों से हिला देती हूँ.
मैंने कहा- ठीक है, लेकिन तुम्हें लंड को अपने थूक से रगड़ना होगा!

आयुषी सहमत हो गई.

पहले उसने लंड पर थूका, फिर अपनी मुट्ठी से थूक को पूरे लंड पर फैला दिया. कुछ ही देर में लपड़ चिपड़ लपड़ चिपड़ की आवाज मुझे और आयुषी दोनों को मदहोश करने लगी.

कुछ देर बाद आयुषी बोली- मुझे अब घर जाना चाहिए, मम्मी का फोन आया था.
मैंने कहा- आयुषी, मुझे एक काम और करना है प्लीज़!

वो बोली- बताओ क्या करना है?
मैंने कहा- यार. मैं अपना लंड तुम्हारी जाँघों के बीच रगड़ना चाहता हूँ।

पहले तो वो शरमाई, लेकिन मैंने उसके दोनों हाथ अपने हाथ में ले लिए और उसे समझाने लगा.
आयुषी सहमत हो गई.

मैंने आयुषी से कहा- अपनी सलवार उतारो.
आयुषी बोली- अगर तुम्हें अपना लंड रगड़ना है तो तुम ही सलवार उतारो.

मैंने झट से उसकी सलवार का नाड़ा ढीला कर दिया. सलवार अपने आप नीचे सरक गयी. आयुषी की जांघों की गोलाई और कसाव किसी फिटनेस गर्ल की तरह था.

मेरे लंड का अग्रभाग खिंच कर मेरी नाभि तक पहुँच गया था। आयुषी बोली- अब देर मत करो, आओ अपना काला अजगर मेरी जाँघों पर रगड़ो! (हॉट रोमांस स्टोरी)

मैंने आयुषी की जाँघों पर थूका और अपना लंड आयुषी की पैंटी के ठीक नीचे उसकी जाँघों के बीच रख दिया और आयुषी को अपनी बाहों में ले लिया और जोर से धक्का मारा और लंड को रगड़ने लगा। आयुषी की पैंटी गीली हो गयी थी. उसकी साँसें गरम और तेज़ हो गयी थीं.

धक-धक की आवाज गूँज रही थी। आयुषी मुझसे कस कर चिपकी हुई थी.

मैंने आयुषी के दोनों नितम्बों को अपने हाथों में लेकर दबाया तो आयुषी के मुँह से ‘आह आह आह आह इइइइ उउउ’ की आवाजें निकलने लगीं।

आयुषी की पैंटी गीली हो गयी थी. इस तरह लगातार पंद्रह मिनट तक लंड को जाँघों पर रगड़ते-रगड़ते मैं स्खलित हो गया।

आयुषी की जांघों पर वीर्य टपक गया था. आयुषी का ये पहली बार था. उसके पैर कांप रहे थे.

मैंने आयुषी की जाँघें साफ़ कीं। इसी बीच उनके घर से दोबारा फोन आया. इस बार आयुषी डर गई और बाहर खड़े अपने स्कूटी की ओर चलने लगी.

मैंने कहा- अरे रंडी, सलवार तो पहन ले.

वो मुस्कुराई और अपनी सलवार ऊपर करके बाँधी और खेत से बाहर चली गई।
मैं भी अपने कपड़े ठीक करके पीछे-पीछे आ गया।

आधी चुदाई के बाद हम दोनों पसीने से भीग गये थे.
वो बोली- मैं स्कूटी नहीं चला पाऊंगी … मुझे घबराहट हो रही है.

मैंने स्कूटी चलाई और घर आ गया.

आपको मेरी हॉट रोमांस स्टोरी कैसी लगी, कृपया मुझे मेल लिखकर बताएं.

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasystory.com” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds