गर्लफ्रेंड की छोटी बहन को चोदा और लिया ब्रेकअप का बदला

गर्लफ्रेंड की छोटी बहन को चोदा और लिया ब्रेकअप का बदला

हेलो दोस्तों। मेरा नाम शोभित है. मेरी उम्र 22 साल है मैं दिल्ली में रहता हूँ वैसे तो मेरा घर यूपी में है,

लेकिन मैं दिल्ली में पढ़ता हूं। मैं एक बड़ी U.P. में हूँ।

आज की कहानी में पढ़े कैसे मैं अपनी गर्लफ्रेंड की छोटी बहन को चोदा और लिया ब्रेकअप का बदला

आज की कहानी : कहानी में पढ़े कैसे मैं अपनी गर्लफ्रेंड की छोटी बहन को छोड़ा और लिया ब्रेकअप का बदला

आप लोग नहीं जानते तो आप लोगों को बताएं कि दिल्ली की लड़कियों का कोई जवाब नहीं। जिस लड़की को भी आप लोग देखकर बस फिदा हो जाएं। मैं जहां रहता था वहां भी लड़कियों की भरमार थी।

इसी के लिए मैं रोज़ शाम को घूमने के लिए ज़रूर घूमता था। घूमना तो एक निकला था। मैं तो बस लड़कियों को ताड़ने के लिए नारियल था। मैं थोड़ा हरामी प्रोफेशनल का लड़का हूं।

जब मैंने कॉलेज शुरू किया था तब मेरा एक सीधा लड़का था बस अपनी पढ़ाई पर ध्यान देता था लेकिन बाद में मेरे कुछ कमीने दोस्तों के साथ ने मुझे बना कर रख दिया| और धीरे धीरे लड़कियाँ

उनकी बातें करना, उनका फ्लर्ट करना, उनसे सेक्स करना तो मेरी आदत में शामिल हो गया था अब तो मैं बस क्यूट की तलाश में रहती थी।

इस सेक्स की आदत की वजह से कई बार मैंने पेड सेक्स भी किया था| क्योंकि अब तो मुझे चोदे बिना रह नहीं पता था। अब इसके बारे में कुछ और भी बताएं तो बताएं। मैंने अपनी उम्र के हिसाब से अपने शरीर को अच्छे तरीके से बनाया है।

मैंने 18 साल की उम्र में जिम करना शुरू कर दिया था। यही वजह है कि मेरा शरीर एक दम मजबूत और मजबूत है। मेरी लंबाई भी अच्छी लिखी है। इन वजहों से लड़कियां भी मुझसे पे मरती हैं। इसी बॉडी के दम पर मैंने कई लड़कियों को पटा कर चोदा था।

ये बात करीब 1 साल पहले की है. ये मेरी जिंदगी की एक सच्ची घटना पर आधारित है। मैं आपातकाल से ही अपना पर्सनल रूम ले कर रहता हूँ। मेरा रूम मेरे कॉलेज से काफी दूर है इसी के लिए मुझे ऑटो पोर्ट्रेट से जाना है।

सुबह मेरा कॉलेज 8 बजे होता है लेकिन मेरे साथ एक बात ये है कि मुझे रात में जल्दी नींद नहीं आती और सुबह जल्दी उठना नहीं आता। इसी के लिए मैं हमेशा अपने कॉलेज के लिए लेट हो जाता हूं।

पहले मैं कुछ दिनों तक अकेला कमरा लेकर रहा था लेकिन बाद में मैंने एक फ्लैट ले लिया और अपने दोस्तों के साथ रहने लगा। अब दोस्तों के साथ तो पूरी रात जम कर मस्ती करने लगा। पूरी तरह से पूरी रात हम बहुत दारूसई तो कभी लड़कियां लड़के के साथ बार में जाते हैं। एक बार की बात है मैं सुबह उठकर लेट जाता हूं। उस दिन मेरा एग्जाम था.

मैंने घड़ी देखी तो मेरे होश उड़ गए मैं जल्दी जल्दी जल्दी तैयार हो गया। और अपने कॉलेज के लिए खोजें। मुझे भी पसंद है ऑटो में मैंने मेरे बगल में एक हॉट सी गर्ल देखी थी। उसे देखते मैं तो एक दम लट्टू हो गया।

अब मुझे किसी भी परीक्षा को लेकर कोई टेंशन नहीं है. वह भी मेरे ही कॉलेज की थी. उस दिन मैं पूरे रास्ते उसे देखता रहा, वो भी मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी. मुझे लगा कि इस बार मुझे ऐसा लग रहा है जैसे मुझे प्यार हो गया है।

अब मैं बस उसके बारे में जानने की कोशिश करने लगा. उसका नाम सिमरन था.

अब तो मैं बस उससे मिलने के बहाने ढूंढने लगा. धीरे-धीरे हम दोस्त बन गये. मुझे लगा कि शायद अब ये मेरी जिंदगी की आखिरी लड़की है. मुझे उसे प्रभावित करने की कोशिश करनी होगी. अब मेरी जिंदगी में कोई दूसरी लड़की नहीं आएगी. अब हमारे नंबर बदल गए हैं. मैं बात करने लगा. मैं पूरी रात उससे बातें करने लगा.

एक दिन मैंने उसे प्रपोज भी कर दिया. उसने भी मुस्कुराते हुए हाँ कह दी. उस रात मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा और मैंने अपने फ्लैट में बहुत बड़ी पार्टी रखी. खूब शराब पी। पूरी रात नाचती रही.

मैं बहुत खुश था कि मुझे अपने जीवन का साथी मिल गया। लेकिन मेरी ख़ुशी ज़्यादा देर तक नहीं टिकी. मेरे एक दोस्त ने मुझे बताया कि सिमरन मुझे धोखा दे रही है। उसके कई बॉयफ्रेंड हैं. पहले तो मुझे इस पर विश्वास नहीं हुआ लेकिन बाद में जब मुझे पता चला कि यह सच है तो मुझे बहुत गुस्सा और दुख हुआ।

अब मैंने तय कर लिया था कि अब इसे इसकी सजा जरूर मिलेगी. मुझसे कुछ नहीं कहा. बस सामान्य रूप से बात की. फिर मैंने एक बार फिर उससे कहा कि मैं उसे डेट पर अमृतसर ले जाना चाहता हूं. वह सहमत। मैंने शाम को अपने दोस्त की कार ली और फिर उसे लेकर चला गया, हम सिर्फ दो लोग थे।

वो मुझसे ऐसे चिपकी हुई थी जैसे मुझे कुछ पता ही न हो. मैंने नाटक भी किया. हम अमृतसर पहुंचे. हमने एक होटल में खाना खाया और फिर मैंने वाइन ऑर्डर की. और हम पीने लगे. मैंने सब कुछ पहले से ही योजनाबद्ध कर लिया था।

इसलिए मैंने एक कमरा बुक कर लिया था और एक कार ले ली थी. शराब पीने के बाद मैंने कहा कि रात बहुत हो गई है, अब आज यहीं रुकेंगे और कल सुबह निकलेंगे. वह सहमत। मैंने कमरे की चाबी ली और उसके साथ कमरे में चला गया। कमरे में पहुंचते ही मैंने तुरंत उसे बिस्तर पर पटक दिया. उन्होंने कहा कि मुझे आसानी से चोट लग जाएगी.

मैंने दरवाज़ा बंद कर दिया और कहा- तुमने मेरे साथ जो किया, उससे मुझे बहुत दर्द हुआ है. उसे समझते देर न लगी कि मैं उसके बारे में सब कुछ जान चुका हूँ। मैं जल्दी से उसके ऊपर आ गया. और उसे चूमने लगा, उसने मुझे धक्का दिया लेकिन मैंने उसे कस कर पकड़ लिया. इसलिए वह खुद को आजाद नहीं कर पाई.

मैं भूखे शेर की तरह उस पर झपटा. मैंने कहा- कुतिया, आज मैं तुझे तेरे किये की सज़ा दूँगा। तुम्हें चुदाई का बहुत शौक है इसलिए आज मैं तुम्हें छोड़ दूँगा. उसने कहा शोभित मुझे माफ कर दो। लेकिन मैं वहां रुकने वाला नहीं था. मैंने उसकी स्कर्ट खींच कर फाड़ दी. और उसके स्तनों को जोर जोर से दबाने लगा और वह चिल्ला रही थी.

साथ ही वो कराह भी रही थी. आह्ह… आह्ह… छोड़ो मुझे… आह्ह…. मैंने कुछ देर तक उसके स्तनों को खूब चूसा और उसके स्तनों का रस भी पिया. अब उस कुतिया को मजा आने लगा. जैसे मैं उसे सज़ा नहीं बल्कि मज़ा दे रहा हूँ। मैंने अपना हाथ उसकी चूत पर रखा और वो पागल हो गयी.

वह बोली- नहीं शोभित, ऐसा मत करो. मैं कहाँ बताने वाला था? अपनी दो उँगलियाँ अन्दर डालो. उसके मुँह से जोर से कराह निकली आह्ह… आआह्ह…. मैं अपनी दोनों उंगलियाँ तेजी से अन्दर-बाहर करने लगा। वो बहुत जोर से चिल्लाने लगी. वो बोली- प्लीज़ ऐसा मत करो.. मुझे दर्द हो रहा है।

मैंने कहा- दीदी, आपने मुझे धोखा दिया और मुझे भी बहुत दर्द हुआ. मैंने उसके सारे कपड़े उतार दिये. अब वो पूरी नंगी थी. मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए और उसके मम्मों को जोर-जोर से दबाने लगा। दूसरे हाथ से अपनी चूत में उंगली कर रही थी.

फिर मैंने उसका हाथ अपने लंड पर रख दिया. उसने झट से उसे हटा दिया, मैंने उसके स्तनों को कस कर दबाया और फिर से अपना लिंग उसके हाथ में दे दिया।

फिर मैंने उसे नीचे बैठाया और अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया. और अन्दर-बाहर करने लगा, वो चिल्ला रही थी लेकिन मैं नहीं रुका। और अपना पानी भी उसके मुँह में छोड़ दिया. उसे मजबूरन इसे पीना पड़ा.

फिर मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लेटा दिया और अपना लंड उसकी Tight Chut में डाल दिया. वह चिल्लाने लगी. फिर भी मैं उसे जोर जोर से झटके देने लगा. मैंने कहा- साली रंडी मुझे धोखा देगी, मजा ले.

वो आह्ह…. आह्ह… मैं कर रहा था. करीब 25 मिनट तक मैं उसे ऐसे ही चोदता रहा. जब मैं झड़ने वाला था तो मैंने अपना लिंग बाहर निकाला और सारा वीर्य उसके पेट पर छोड़ दिया।

फिर मैंने उसे तकिये के सहारे कुतिया बनाया और अपना लंड उसकी गांड में डाल दिया. वो जोर से चिल्लाई और मैंने उसका चेहरा बिस्तर के सहारे दबा दिया. और धक्के लगाता रहा. इसी तरह मैंने उसे करीब 7 बार बहुत बुरी तरह से चोदा. मेरा बदला पूरा हुआ. मैंने सुबह-सुबह कार वहीं छोड़ दी।

उसके बाद जब भी वह मुझे देखती तो वह अपना मुंह छुपा लेती थी। कुछ दिनों के बाद उसने वह कॉलेज छोड़ दिया। और वापस अपने घर चली गयी. तब से मैं फिर से वही हो गया, बस चूत का पुजारी।

ऐसे ही कामवासना से भरी कहानी पढ़ने के लिए wildfantasystory.com को सब्सक्राइब करें ताकि आपके पास सबसे पहले सबसे अच्छी कामवासना से भरी कहानी पहुंच पाए

Escorts in Delhi

This will close in 0 seconds