पड़ोसन भाभी की गर्म चुत की देसी लंड से धमाकेदार चुदाई | Bhabhi sex story 

पड़ोसन भाभी की गर्म चुत की देसी लंड से धमाकेदार चुदाई | Bhabhi sex story 

हेलो दोस्तों मेरा नाम दिलीप है. मैं बैंगलोर में रहता हु. मेरे पड़ोस में एक भाभी रहती है. भाभी का नाम प्रीती है और भाभी उनके हस्बैंड के साथ रहती है जो मार्केटिंग की जॉब करते है. उनका 1 छोटा सा बेटा भी है.भाभी से हम लोगों का परिवार के जैसे चलता है.

मैंने कभी भाभी को गलत नज़रो से नहीं देखा था. हम लोग परिवार की तरह थे और कई बार हम भैया-भाभी के साथ घूमने जाते थे. लॉकडाउन  के बाद भाभी लोग दूसरी कॉलोनी में चले गए. उनका हमारे यहाँ आना-जाना थोड़ा कम हो गया.

(Bhabhi sex story)

फिर एक दिन भाभी का फ़ोन आया की उनके बेटे आयु की तबियत सही नहीं थी और उसको डॉक्टर के पास लेके जाना था.

मैंने हां कर दी. फिर मैं उनको लेके गया और वह आयु रोने लगा.तो भाभी बोली: गाडी में इसको आगे बिठा लो.और वो मेरे पीछे बैठ गयी. फिर गाडी चलते वक़्त आयु एक-दम से खिसका जिसको बचाने के लिए मैंने एक-दम से ब्रेक लगा दी और भाभी मेरे ऊपर आके चिपक गयी. (Bhabhi sex story)

उनके बूब्स मेरी बैक में टच हो गए थे और डब रहे थे. उन्होंने कुछ नहीं कहा. फिर वो उतर कर आयु को गोदी में लेके बैठ गयी. मैं इस इंसिडेंट से उत्तेजित हो गया था और रात को उनके बारे में सोच के हिला लिया.

अब जब भी भाभी घर आती मैं उनके मम्मो को घूरता. पर वो हमेशा अपनी साड़ी से ब्लाउज को पूरा कवर करती थी.

मैं अक्सर जब भी वो आती उस दिन उनको याद करके रात को लंड हिलाता .फिर एक दिन भैया सुबह जल्दी भाभी को हमारे घर ड्राप कर गए. उस दिन कोई पूजा थी.

मैंने नोटिस किया की आज भाभी ने ब्लाउज को कवर नहीं किया था.उन्होंने रेड साड़ी एंड ब्लाउज पहना था. उनके बूब्स शेप में दिख रहे थे. पूरे दिन मैं उनके बूब को देखने के लिए उनके पास किसी न किसी बहाने से चला जाता. फिर शाम को प्रीती भाभी ने कहा- (Bhabhi sex story)

भाभी: दिलीप मुझे घर ड्राप कर दे.मैंने हां कर दी.

वो अपने बेटे को ब्रेस्टफीडिंग करा रही थी और अपने ब्लाउज का हुक लगाना भूल गयी. जैसे ही वो उठी उनका ब्लाउज नीचे से ऊपर खिसक गया और मम्मे बाहर आ गए. उन्होंने तुरंत एडजस्ट किया.मैंने ये देख लिया और खुद को कण्ट्रोल नहीं कर पा रहा था. फिर मैंने उनको घर में ड्राप किया.

आते टाइम मैंने उनको पास बुलाया और उनसे पूछ लिया की ब्रा नहीं पहनी थी आपने . उन्होंने गुस्से में देखा और मैंने फिर कहा-

मैं: ब्लाउज टाइट पहना करो. आज आपके मम्मे भार आगये थे आते टाइम मैंने देखा.वो थोड़ी से अकबका गयी और हां कहते हुए बिना पीछे मुड़े अंदर चली गयी. मैं वापस घर आया. मेरे दिमाग में वही इंसिडेंट घूम रहा था. मैंने तभी उनको मैसेज किया की-मैं: आज बहुत सेक्सी लग रहे थे. (Bhabhi sex story)

उनका रिप्लाई आया-

भाभी: क्या बोल रहे हो?

में: वही आपके बूब्स.

भाभी: पागल हो गए हो दिमाग खराब है क्या तुम्हारा?

में: सही में बहुत सेक्सी लग रहे थे.थोड़ी देर बाद मुझे लगा मैंने गलत बोल दिया. मैंने उनको कॉल किया पर उन्होंने नहीं उठाया. फिर मैंने मैसेज में बोला कॉल के लिए. तब उन्होंने फ़ोन पिक किया.

मैंने उनको बार-बार सॉरी बोला पर वो भड़क गयी थी और कहने लगी-

भाभी: मैंने कभी नहीं सोचा था की तुम ऐसा करोगे. आज के बाद मैं कभी तुम्हारे घर नहीं आउंगी.फिर 4-5 दिन मुझे डर लगा रहा की वो कही मेरे घर में ना बता दे. पर ऐसा कुछ नहीं हुआ. फिर एक दिन उनका कॉल आया.

उन्होंने कहा वो मेरे घर में बता देंगी मेरी इस हरकत का. मैं डर गया. मैंने उनसे बार-बार सॉरी बोला और कहा-(Bhabhi sex story)

मैं: अब ऐसा नहीं होगा दोबारा.वो जैसे-तैसे मान गयी और उसके बाद से कभी बात नहीं की. कुछ दिन बाद हम नए घर में शिफ्ट हुए . वही आगे उन्होंने भी नई हाउस परचेस किया था तो वो लोग भी 2-3 महीने बाद वह आ गए .

वो मेरे घर आती थी पर मेरे से बात नहीं करती थी. फिर एक दिन मेरे पेरेंट्स को रिलेटिव्स के यहाँ जाना था 2-3 दिन के लिए शादी में.

तो मेरी मम्मी प्रीती भाभी से मेरे खाने का और मेरा ख़याल रखने के लिए कह कर गयी और उन्होंने हां भी कर दी. भैया भी उस दिन टूर पे गए थे 4-5 दिन के लिए.

भाभी का कॉल आया की आ जाओ खाना बना लिया है. फिर वह लंच करने के बाद मैं घर वापस आ गया.इवनिंग में भाभी का कॉल आया की इलेक्ट्रिसिटी है क्या क्यूंकि उनके घर में नहीं थी.मैंने कहा: हमारे यहाँ भी नहीं है.तभी मैंने उन्हें बताया: बारिश के कारण लाइट गयी होगी.तब वो खाना लेकर मेरे घर में ही आ गयी.(Bhabhi sex story)

हमारे यहाँ 1 कमरे में इमरजेंसी सप्लाई थी. हमने खाना खाया और वो वापस जाने लगी.तो मैंने बोला : लाइट नहीं है तो यही रुक जाओ जब आएगी तब चले जाना.वो रुक गयी पर लाइट रात को 11:30 तक नहीं आयी तो वो जाने लगी.

(Bhabhi sex story)

पर बाहर निकलते ही बारिश बहुत तेज़ हो गयी और वो आयु को लेके अँधेरे की वजह से आधे रास्ते से ही वापस आ गयी. वो पूरी गीली हो गयी थी.वो अंदर आयी तो मैंने उन्हें देखा.

उनके बूब्स शेप में दिख रहे थे और उन्होंने ये देख लिया. फिर वो गुस्से में वापस जाने लगी.मैंने कहा: सॉरी मैंने उस इंटेंशन से नहीं देखा. आप आयु को लेके कैसे जाओगी बारिश में?फिर वो आयी तो मैंने उन्हें टॉवल दिया.फिर मैंने कहा: आप यही बेड में सो जाओ मैं नीचे सो जाता हु. (Bhabhi sex story)

तो उन्होंने मुझे बोला : तुम भी ऊपर आ जाओ. बीच में आयु को सुला के मैनेज कर लेंगे.कुछ देर बाद इमरजेंसी सप्लाई भी बंद हो गयी तो रूम में अँधेरा हो गया. वो थोड़ा डर रही थी अँधेरे से तो वो करीब आके लेट गयी. मैं समझ गया था.फिर मैंने उनसे पुछा: इतना क्यों डरते हो?उन्होंने कोई रिप्लाई नहीं किया.

हम दोनों को ही नींद नहीं आ रही थी. फिर भाभी ने मुझसे पूछ लिया-भाभी: सच बताओ तुम मेरे बूब्स पर क्यों घूर रहे थे? सच बताना. पहले कभी देखा नहीं क्या?में: कहा भाभी नहीं देखा.भाभी: तुम्हारी कोई gf नहीं है क्या?

में: नहीं.भाभी: तो मैं ही मिली थी?

में: पता नहीं भाभी पर आप बहुत अट्रैक्टिव लगी. (Bhabhi sex story)

भाभी गुस्सा हो गयी और फिर कुछ नहीं बोली. तभी आयु रोने लगा. अँधेरे के कारण भाभी उसे ऐसे ही ब्रेस्टफीडिंग करने लगी ब्लाउज ओपन करके. हम बात कर रहे थे इसलिए मैं उनकी तरफ करवट करके लेता था और वो मेरी तरफ.तभी अचानक लाइट आ गयी तो मैंने देखा की भाभी का ब्लाउज ओपन था और एक बूब बाहर था.

भाभी एक-दम से उठ के कवर करने लगी. उन्होंने देखा की मैं उन्हें घूर रहा था तो वो चिल्लाने लगी.भाभी: बेशरम शर्म नहीं आती क्या?में: सॉरी वो एक-दम से.भाभी: तो थोड़ा भी कण्ट्रोल नहीं है क्या? हवस भरी पड़ी है.तभी भाभी ने देखा की मैंने सिर्फ शॉर्ट्स पहना था और मेरा खड़ा था.

उन्होंने मुँह फेर लिया. मैं अपने आप को कण्ट्रोल नहीं कर पाया और भाभी से बोला –

मैं: भाभी एक बार किस लेने दो प्लीज.तो वो और भड़क उठी और बोली: रुक मैं तेरे घरवालों को फ़ोन पर बताती हु.तभी मैं आगे बढ़ा और बोला : बता दो.तो वो रुक गयी. मैं समझ गया की भाभी भी कुछ चाहती थी पर डर रही थी आगे बढ़ने से.

(Bhabhi sex story)

मैंने कहा: जो भी हमारे बीच में होगा मैं किसी को नहीं बताऊंगा. प्लीज.उन्होंने कुछ नहीं बोला और वही बैठी रही. बार-बार इंसिस्ट करने पर वो बोली-भाभी: शर्म नहीं आती तुम्हे?तो मैंने कहा: सिर्फ एक बार के लिए बोल रह हु और आपको इतना है तो अभी तक यही क्यों रुके हो?

तभी भाभी ने उठ कर मेरी तरफ से आयु को उठा कर साइड में किया और मेरे पास आ कर बोली-भाभी: क्या मिलेगा तुमको दबाने से? जो इतना बोल रहे हो

मैंने कहा: एक बार बस.वो बोली: नहीं.मैंने फिर बिना पूछे उनको किस करना चालु किया. वो पहले रोकने लगी पर बाद में वो भी चालु हो गयी.

कुछ देर बाद मैं अपना हाथ उनके बूब पर रख के दबाने लगा. वो एक-दम से अलग हो गयी और मुझे स्लैप कर दिया. मैंने अपनी शॉर्ट्स उतार दी और कहा-मैं: अब इसे खड़ा की हो तो शांत भी करो.मेरा डिक देख के पता नहीं उन्हें क्या हुआ की वो पास आ कर रब करने लगी. (Bhabhi sex story)

तब मैंने उन्हें किस करना चालु किया और बूब्स प्रेस करने लगा. हम दोनों एक-दुसरे के कपडे उतारने लगे. प्रीती भाभी ने ब्रा नहीं उतारने दी.फिर मैंने उनकी चुत में अपना लंड घुसाया और एक बार में अंदर डालने की कोशिश की. पर लंड मोटा था और चुत टाइट तो वो रोने लगी और उनकी आँखों में आंसू आ गए.

मैंने उनको सॉरी कहा.वो बोली: मत रुक.और मैंने फिरसे धक्का लगाया तो वो चिल्ला दी और फिर मोअन करने लगी.

मैंने 10 मिनट ऐसे ही लंड से स्ट्रोक लगता रहा. मैंने उनसे बोला : मैं आपके बूब्स चूसना चाहता हु.तो वो बोली: नहीं.तो मैंने उनके दोनों हाथ पकडे और ब्रा फाड़ दी.

वो गुस्सा हो गयी. फिर मैंने उसके दोनों बूब्स को बारी-बारी दबाया और चूसा.भाभी कहने लगी: क्या जानवरो की तरह कर रहा है. (Bhabhi sex story)

छोड़ दे अब तो.मैंने कहा: नहीं.तो वो बोली: छोड़ेगा नहीं?फिर प्रीती भाभी खुद से काउगर्ल पोजीशन में आ गयी और बूब्स मेरे मुँह में लगा के ऊपर-नीच होने लगी.

हमने उस रात बहुत सेक्स किया. फिर जब सुबह में उठा तो मैंने देखा की वो नहाने गयी थी और बाथरूम का दूर ओपन था.

तो मैं भी अंदर घुस गया.वो मुझसे बोली: शर्म नहीं आती तुझे?मैंने कहा: कैसी शर्म? सब तो देख लिया हुआ.और फिर शावर में उसको खड़े-खड़े ही निचे से उसकी चुत में लंड सेट किया .

वो रोकने लगी पर मैंने स्ट्रोक लगाना चालु कर दिया और उसके बूब्स उछलने लगे. मैंने उन्हें हाथ से पकड़ा और दबाने  लगा. थोड़ी देर बाद हम दोनों का हो गया.अगले 2 दिन वो यही रुकी रही और हमने रोज़ सेक्स किया. 

(Bhabhi sex story)

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds