बहन ने भाई को चुत का गुलाम बना दिया | बहन की चुदाई की कहानी पार्ट-2

बहन ने भाई को चुत का गुलाम बना दिया | बहन की चुदाई की कहानी पार्ट-2

बहन ने भाई को चुत का गुलाम बना दिया। नंगी बहन की चुदाई पार्ट-2  में आप का स्वागत है। आइये जानते है कैसे मैने अपने छोटे भाई का 6  इंच लम्बे लंड से अपनी गरम चुत की पियास को बुझाया और अपनी चुत का गुलाम बना दिया।

जैसा की आप जानते है मैं अपने भाई के लंड को आगे-पीछे करने लगी थी।
दो मिनट हुए थे। भाई के लंड की पिचकारी छूट गई।
उसका गाढ़ा गाढ़ा सफेद वीर्य मेरे मुंह और निप्पलों पर गिर गया था।

मैंने अपनी जीभ से कम को चाटा।

अब मैं चुदने के मूड में हूँ।

मैं और मेरा भाई दस मिनट तक बिस्तर पर लेटे रहे।
मैंने पूछा- भाई और मजा चाहिए?
उसने कहा- हां दीदी।

यह सुनकर मैं आशु के पास आ गयी।  मेरा वजन अधिक था लेकिन उसने इसे सहन कर लिया।
मैं उसकी गर्दन पर, होठों पर, बाजू पर, छाती पर किस करने लगी।

मैं धीरे से नीचे आयी और लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी .
उसके मुँह से कामोत्तेजक आवाजें निकलने लगीं- आह… ओह… हाय… Shehnaaz दीदी… आह… बहुत मजा आ रहा है… प्लीज… करती रहो… आह… ऐसे… आह।

मैंने कहा- अब तुम मेरे ऊपर आ जाओ और जैसा मैंने किया वैसा करो।
भैया मेरे पास आए और किस करने लगे। मैंने अपनी आँखें बंद कर लीं और अपने भाई से लिपट गई।

आशु मेरे निप्पलों को चूसने लगा। मैं तरप गयी। औरत की हवस उसकी चूत से ज्यादा उसके निप्पलों में होती है

 बस अगर निप्पलों को अच्छे से रगड़ा जाए तो सेक्स बहुत जल्दी हो जाता है।

मैंने सिसकते हुए कहा- आह… भाई प्लीज मेरी चूत की चटाई करो … आह।
उसने कहा- हां बहन।
अब वो मेरी चूत को चाटने लगा.
मेरे मुंह से कामोत्तेजक आवाजें निकलने लगीं- आह… हुह.. मम्म… आह… प्लीज… अपनी जीभ मेरी चूत में घुसा दो।

उसने कहा- दीदी, तेरी चूत से खारा पानी निकल रहा है.
मैंने कहा- चूत का पानी पी लो!

वो मेरी चूत का पानी चाटने लगा.

मैं फुफकारती हूँ- आह… आशु… अपनी नंगी बहन की चूत की चुदाई करो … आह, आशु, इसमें लंड घुसाओ और चोदो.

मैंने उसे अपनी टांगों के बीच बैठा लिया और अपना लंड मेरी चूत पर रख दिया.

मैंने लंड को चूत पर रखते हुए कहा- अब धक्का मारो!
भैया ने अंदर डाला लेकिन लंड फिसल गया।

मैंने कहा- फिर से ऐसे ही करना।
उसने कहा- दीदी, थोड़ा पैर फैलाओ।

मैंने अपने पैर और फैला लिए।
अब उसने फिर कोशिश की। लेकिन लंड चूत के अंदर नहीं जा पा रहा था.

मैंने उससे कहा- भाई थोड़ी सी क्रीम लंड पर लगा दो और मेरी चूत पर भी लगा दो.
उसने ठीक से क्रीम लगाई और अपना लंड मेरी चूत के छेद पर रख दिया और बोला- दीदी, अब लगा दूं?

मैंने कहा- हाँ भाई, जल्दी लगाओ! मुझे चुदने की बेचैनी हो रही है

आशु ने जोर से धक्का दिया तो आधा लंड मेरी चूत की दीवारों को फाड़ते हुए मेरी चूत में घुस गया.


मैं इस झटके के लिए तैयार नहीं थी; मैं चिल्लायी- ओए…मार डाला…उफ्फ मेरी चूत…फट गई।

भाई का लंड अंदर जाते ही मेरी वर्जिनिटी का खात्मा हो गया और साथ में भाई-बहन का रिश्ता भी खत्म हो गया.

अब मैं लुगाई हो गई थी।

आशु ने जब एक और धक्का दिया तो लंड अंदर जाने लगा क्योंकि चूत बहुत गीली थी.

यह वास्तव में चुत में दर्द हो रहा था। मैं आंखें बंद किए लेटी थी।

अब भाई ने लंड से चूत को चोदना शुरू किया.
मैंने अपनी गांड उछाली और अंदर ले जाने लगा।

मुझे किस करने में मजा आने लगा। दर्द खुशी में बदल गया।
उसकी रफ़्तार तेज़ होती गई और मेरी सिसकियाँ भी- आह…आशु..तेरी बहन की चूत फाड़ दी! आह … भाड़ में जाओ!

मेरा चरमसुख अपने चरम पर था। मैंने बेडशीट को अपने हाथों से पकड़ लिया और जब मेरा सर बेड से टच हुआ तो लंड का दबाव चूत में और बढ़ गया.

मैं सिसकते हुए चुद रही थी- आह… हाय… आशु.. तुमने मुझे रंडी बना दी है… भाड़ में जाओ भैया… जोर से चोदो।

मेरे बोलते ही उसकी गति बढ़ जाती थी।

अब मेरे भाई ने मुझे घोड़ी बना कर चोदा ना सुरु किया।
नीलू ने मेरा पीछा किया। उसने मुझे पीछे से चोदना शुरू कर दिया और मेरी खुशी और बढ़ गई।

बीस मिनट तक चोदने के बाद मेरी चुत ने आशु का निकलने वाला था।
मैंने भैया से कहा- भैया, कब तक निकालो गए मुझे चुत में दर्द हो रहा है ?


उसने कहा- दीदी, अभी नहीं।
मैंने कहा- ठीक है भाई… पर ध्यान से चुत से खून आरहा है ।

अब मैं फिर से नीचे आ गयी हूं और मेरा भाई मेरे ऊपर है।

मैंने कहा – जब निकले तब बताना और अपना वीर्य चूत में मत छोड़ना,(Dont Cum in My Pussy) नहीं तो मैं तुम्हारे बच्चे की माँ बन जाऊँगी।

इतना बोलने के दो मिनट हुए थे कि वह जोर-जोर से सिसकने लगा-आह… दीदी…आह… होने वाला है..आह।

फिर भैया ने अपने गर्म वीर्य से मेरी चूत को भर दिया।

मैंने भी अपना पानी छोड़ दिया।

वह मेरे ऊपर लेट गया और हांफने लगा।

हम दोनों चढ़े और फर्श पार किया।

दस मिनट बाद भैया मेरे पास से उठे और नीचे मेरी चूत की तरफ देखने लगे। खूनम खान चूत से वीर्य बह रहे था

उसने कहा- दीदी, तुम्हारी चूत से खून निकल आया।

मैंने कहा – हाँ नीलू, चूत में एक झिल्ली है, तुम्हारे लंड ने वो झिल्ली तोड़ दी है.

इस तरह हम दोनों ने उस दिन चार बार सेक्स किया।

अब जब भी घर में ताऊ जी-ताई जी नहीं होते थे, कॉलेज की छुट्टी के बाद हम जोर-जोर से चुदाई करते है। 

मुझे अपने भाई के लंड से चुदाई करने में परम आनंद मिला।

दोस्तों नंगी बहन की चुदाई सच है। आपको भाई बहन की चुदाई की कहानी कैसी लगी जरूर बताएं।
मेरी ईमेल आईडी है (infowildfantasystory.com)

Escorts in Delhi

This will close in 0 seconds