कामुक मौसी की मस्त जवानी का मजा – Xxx मौसी सेक्स कहानी

कामुक मौसी की मस्त जवानी का मजा – Xxx मौसी सेक्स कहानी

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “कामुक मौसी की मस्त जवानी का मजा – Xxx मौसी सेक्स कहानी”। यह कहानी शुभम की है आगे की कहानी वह आपको खुद बताएँगे मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

Xxx मौसी सेक्स कहानी में मेरी मौसी ने मेरे साथ सेक्स करके मजा लिया और मैंने भी उनकी चूत चोद कर मजा लिया! दरअसल, मेरी मौसी को मेरे मौसा से मजा नहीं आता था.

दोस्तो, मैं शुभम हूँ, मैं उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ।
आज मैं आपको इस Xxx मौसी सेक्स कहानी में मेरे और मेरी मौसी के साथ घटी घटना के बारे में बताना चाहता हूं.

मेरी मौसी का नाम Ishika और उनके अभी तक कोई बच्चा नहीं हुआ है.
उसका फिगर देख कर मेरा मन उसे चोदने का हो गया.

मौसी के घर में केवल मौसा और उनकी माँ ही रहते हैं।
मौसा एक कंपनी में मैनेजर हैं. वे अधिकतर घर से बाहर ही रहते हैं।

मौसी की सास जो अपना ज्यादातर समय मंदिर में बिताती हैं, वहीं मौसी अक्सर घर पर अकेली रहती हैं।

ये घटना तब की है जब मैं कॉलेज में पढ़ता था. एक दिन मैं मौसी के यहाँ गया.
जब मैं उसके घर से बाहर आया तो देखा कि उसके घर का दरवाजा खुला हुआ था.

मैं सीधे उसके घर के अंदर गया और उसे आवाज मारी.

उस वक्त मौसी जी नहा रही थीं.
उसने जवाब में कहा- तुम बैठो, मैं अभी नहा कर आती हूँ.

अपनी मौसी से नहाने की बात सुनकर मेरे मन में उन्हें नहाते हुए देखने की इच्छा होने लगी.

मैंने एक बार इधर उधर देखा और फिर धीरे से उसके बाथरूम के दरवाज़े के पास आ गया।
तभी मैंने देखा कि उसके बाथरूम के दरवाजे में एक छोटा सा छेद था.

जब मैंने छेद से अंदर देखा तो मैं अचानक चौंक गया.
अंदर मौसी पूरी नंगी होकर नहा रही थी, उसने कुछ भी नहीं पहना था और अपने Big Boobs को मसल रही थी और साफ कर रही थी.

ये सीन देख कर मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया और मेरा मन हुआ कि अभी इसे पकड़ कर चोद दूं.

मौसी अपने बूब्स से खेलती रही और मैं उसे देखता रहा.
वह दरवाजे की ओर मुंह करके अपने बूब्स को सहला रही थी और साथ ही अपनी चूत में उंगली भी कर रही थी।

मैंने सोचा कि मौसी को पता नहीं चला कि मैं बाहर खड़ा सब कुछ देख रहा हूँ.
लेकिन मौसी समझ गयी थी कि मैं बाथरूम के बाहर खड़ा हूँ.

फिर मैं इतना नशे में हो गया कि मुझे होश ही नहीं रहा कि मैं कहां खड़ा हूं और क्या कर रहा हूं.
उसी समय मेरा हाथ मेरे लंड पर चलने लगा और मैं अपने लंड को मसलने लगा.

तभी किसी तरह अचानक बिजली कड़की और मौसी ने झटके से दरवाजा खोल दिया.

उस समय मैं अपने लंड को हाथ में पकड़ कर मुठ मार रहा था.

उसने मुझे अपना लंड हिलाते हुए देख लिया.
वो बोलने लगी- अन्दर क्या देख रहे थे … और क्या कर रहे हो? शर्म नहीं आती।

मैं हैरान था कि ये क्या हो गया. मेरी मौसी मेरे सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थीं, उनके बूब्स मुझे बहुत फूले हुए लग रहे थे।

वो मेरे लंड को देख रही थी.
मैं अचानक डर गया और सॉरी बोलने लगा.

मैं उस समय बहुत असमंजस स्थिति में था. परन्तु उस समय न जाने कैसे मेरे मस्तिष्क की बत्ती जल उठी।
मुझे लगा कि मौसी ने अचानक दरवाज़ा खोला और मेरे सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थीं. मौसी ने ऐसा क्यों किया?

ये बात याद आते ही मैंने एक बार फिर से अपना लंड पकड़ कर हिलाया.
फिर उसने इधर-उधर देखा और अपने होठों पर मुस्कान ला दी।

मेरा लंड खड़ा देख कर मौसी बोलीं- तुमने किसी को देखा नहीं क्या?
मैंने धीमी आवाज में कहा- नहीं!

उसने मेरा हाथ पकड़ कर अन्दर खींचते हुए कहा- अन्दर आओ, सब देख लो. वैसे तो आपने सब कुछ देख लिया है.
ये सुनकर मुझे ऐसा लगा जैसे मेरी लॉटरी लग गई हो. (Xxx मौसी सेक्स कहानी)

मैं अंदर गयी और अपनी गांड से धक्का देकर दरवाज़ा बंद कर दिया.

मौसी मुझे बाथरूम के अंदर ले जाकर बोलीं- चलो, अब मैं तुम्हें भी नहला दूंगी. तुम जल्दी से अपने कपड़े उतारो और मेरे साथ नहाओ.

इतना कह कर मौसी ने मेरे कपड़े उतार दिये और मैंने अपने कपड़े बाथरूम में शेल्फ पर रख दिये।

मैं पूरा नंगा था और मौसी मेरे ऊपर पानी डालने लगी. मैं भी उनके साथ नहाने लगा और नहाते समय मेरा लंड मौसी के पेट को छूने लगा, जिसे वो अपने पेट से रगड़ रही थी.

मैंने मौसी से कहा- क्या मैं आपके बूब्स दबा सकता हूँ?
मौसी मेरे लंड को अपने पेट से दबाते हुए बोलीं- हाँ, दबाओ और पियो भी इसे!

ये सुनते ही मैं मौसी के बूब्स को दबाने लगा और उनके दोनों बूब्स को एक-एक करके पीने लगा.

मौसी सेक्स से उत्तेजित हो गईं और कामुक कराहने लगीं.
वो आ आ आ की आवाज करते हुए मुझे अपना दूध पिलाने लगी.

मैंने उसे दीवार से चिपका दिया और उसके दोनों बूब्स को चूसने और मसलने लगा। मौसी भी अपने हाथ से अपने बूब्स पकड़ कर मुझे पिला रही थी और साथ ही अपने पेट से मेरे लंड को दबा रही थी.

मेरा लंड खूंटे की तरह सख्त हो गया था और उसके पेट में घुसने की कोशिश कर रहा था।

फिर जब उससे खुद पर काबू नहीं रहा तो उसने मेरा लंड पकड़ लिया और सहलाने लगी.
वो बोली- ये तो लोहे जैसा सख्त हो गया है. मुझे बहुत तड़प हो रही है शुभम, बस अब मुझे मत तड़पाओ… अब जल्दी से इसे मेरे अंदर डाल दो।

मैंने मौसी से कहा- ठीक है मौसी, तुम ज़मीन पर लेट जाओ. मैं अभी तेरी Tight Chut में अपना लंड घुसाता हूँ.
मौसी ने लंड को सहलाते हुए कहा- यहां ये ठीक से नहीं हो पाएगा. चलो बिस्तर पर चले।

मौसी और मैं उसके बेडरूम के अंदर उसके बिस्तर पर आ गए और मैंने मौसी को पकड़ लिया और उसे चूमने लगा।
मौसी भी मेरा साथ देने लगीं. (Hindi Sex Story)

मैं उसके होंठों को चूमने लगा और उसके बूब्स को चूसने लगा. फिर मौसी की चूत को चाटने लगा.
तो मौसी को और भी ज्यादा उत्तेजित होने लगी.

वो गांड उठाते हुए कहने लगी- जल्दी से अन्दर डालो … मुझे अब और मत तड़पाओ.
मैंने कहा- मौसी एक बार चूस लेती तो लंड चिकना हो जाता. आपको इसका आनंद भी ज्यादा आएगा.

जैसे ही मौसी ने यह सुना, वह अपने घुटनों के बल बैठ गई और मेरे लंड पर हमला कर दिया, जैसे वह मेरे कहने का ही इंतजार कर रही हो. (Xxx मौसी सेक्स कहानी)

उसका लंड चूसने का स्टाइल बहुत ही रफ था.
शायद उसे मेरे जैसा लंड चूसने का बिल्कुल भी अनुभव नहीं था।

एक तो मेरा लंड खीरे की तरह बहुत लंबा और मोटा है.
बड़ी मुश्किल से लंड का टोपा ही मौसी के मुँह में घुसा.

फिर मौसी ने लंड को पकड़ लिया और जीभ से उसके सिरे को चाटने लगीं.
मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा था. पहली बार ऐसा लगा जैसे मैं किसी कुंवारी लड़की से अपना लंड चुसवा रहा हूँ.

कुछ देर बाद मैंने उसके बूब्स दबाते हुए उससे कहा- अब Chut Chudai की बारी है.
वह तुरंत चिल्लाते हुए पीठ के बल लेट गयी.

मैंने उसके दोनों पैरों को फैलाया और उसकी चूत पर अपनी जीभ रख दी.

तभी तो मानो मौसी की चूत में दर्द होने लगा और वो बिस्तर की चादर पकड़ कर कराहने लगी- आह आह शुभम, ये क्या कर रहा है… आह प्लीज़ लंड अन्दर डालो! मैंने उसकी एक न सुनी और उसकी चूत को चाट कर रसभरा कर दिया.

फिर मैंने मौसी को घोड़ी बनाया और अपना लंड उसकी चूत पर रखा और अंदर डालने लगा.

जब मेरे मोटे लंड का टोपा उनकी चूत को फाड़ने लगा तो मौसी चिल्लाने लगीं- धीरे करो, आह… तुम्हारा बहुत मोटा है.
मैंने उसकी कमर पकड़ी और अपना आधा लंड अन्दर डाल दिया.

मैंने कहा- मौसी, आपने तो न जाने कितनी बार मौसा का लंड खाया है.. फिर भी चिल्ला रही हो।

मौसी कराहते हुए बोलीं- आह, मार डाला तुमने मुझे… अगर तेरे मौसा के पास लंड होता तो मैं तुमसे क्यों चुदाई करवाती… आह, उनका लंड के नाम पर एक छोटा सा खिलौना झूलता रहता है, जिसमें से सिर्फ पेशाब करने का काम ठीक प्रकार से किया जा सकता है। तुम्हारा तो बहुत मोटा है … आह मेरी तो फट रही है. (Xxx मौसी सेक्स कहानी)

मैं- अभी तो आधा ही अन्दर गया है मौसी… आज तो मैं तुम्हें फाड़ ही डालूँगा.
मौसी बोलीं- आह … तुम्हारा तो बहुत बड़ा है. ये पूरा अन्दर नहीं जायेगा. जितना हो सके उतना करो.

मैंने अपना हाथ आगे बढ़ाया और उसके बूब्स को मसलते हुए कहा- चिंता मत करो मौसी, ये बिल्कुल अन्दर जाएगा.. बस थोड़ा सा दर्द होगा। ले आह…पूरा ले लेना.

मैंने एक ज़ोर का झटका मारा और पूरा लंड एक ही बार में उसकी चूत में चला गया.
मौसी दर्द से छटपटाने लगी.

मैं थोड़ा रुका.
फिर कुछ देर बाद मैंने धीरे-धीरे झटके देना शुरू कर दिया.

कुछ देर बाद मौसी को मजा आने लगा.
वो Moti Gand हिलाते हुए बोली- आह थोड़ा तेज करो … अच्छा लग रहा है. आह थोड़ा तेज़ … अब बहुत मज़ा आने लगा.

मैं तो बस मौसी की चूत को भोसड़ा बनाने में लग गया.

ऐसे ही सेक्स करते हुए हमें 20 मिनट हो गये.

जब मेरा पानी निकलने वाला था तो मैंने मौसी से कहा- मौसी, झड़ने वाला हूँ. लंड के ऊपर छतरी तक नहीं है. जल्दी बताओ माल कहा निकलू? मौसी बोलीं- अन्दर ही निकालो … मेरी चूत की प्यास बुझा दो.

मैं जोर-जोर से धक्के लगाने लगा और हम दोनों एक साथ स्खलित हो गये।
दस मिनट तक हम ऐसे ही एक दूसरे से चिपके रहे.

कुछ देर बाद मेरा लंड फिर से हरकत करने लगा और हम फिर से सेक्स का मजा लेने लगे.
चुदाई के बाद हम दोनों फिर से नहाने के लिए एक साथ बाथरूम में आये.

वहाँ नहाते समय मुझे शरारत सूझी तो मैंने मौसी के बूब्स पकड़ लिये और सहलाने लगा और मौसी ने मेरा लंड पकड़ कर खड़ा कर दिया। बाथरूम में मैंने मौसी को एक बार फिर से चोदा. (Hindi Sex Stories)

फिर हम दोनों नहा कर बाहर आये और कपड़े पहनने लगे.
मौसी बोली- ये बात किसी को मत बताना.

मैंने मौसी को चूमा और पूछा- मौसी, मजा आया?
मौसी हंस कर बोलीं- हां … बहुत मजा आया. आप बहुत अच्छा सेक्स करते हैं. मुझे तुम्हारे मौसा के साथ कभी भी सेक्स का सुख नहीं मिला. उसका लंड छोटा है.

मैंने कहा- अब मैं तुम्हारे लिए हूँ!
मौसी हंसने लगी.

फिर मुझे भूख लगने लगी तो मौसी खाना बनाने के लिए किचन में चली गयी.
मैं भी उनके साथ आया.

खाना बनाते समय मौसी ने गाउन पहना हुआ था.
मैंने पीछे से उसका गाउन उठाया और उसके बूब्स दबाने लगा.
उसे भी मजा आने लगा. (Xxx मौसी सेक्स कहानी)

मैंने उसका गाउन उठाया और पीछे से उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और उसे चोदने लगा.
वो भी मेरे साथ सेक्स का मजा लेने लगी. इस तरह हम दोनों ने किचन सेक्स भी किया.

उस दिन हमने 4 बार सेक्स किया.
चुदाई का मजा लेने के बाद हम दोनों ने खाना खाया और सोने चले गये.

अब जब भी मेरा मन होता है या मौसी का मन होता है तो मैं उनके घर चला आता हूं. हम दोनों साथ में खूब मस्ती करते हैं. मैं हफ्ते में 2 या 3 बार मौसी के घर जाता हूं और जब भी मौका मिलता है, उसे चोदता हूं.

दोस्तो, आप लोगों को मेरी Xxx मौसी सेक्स कहानी कैसी लगी? कृपया मुझे ईमेल द्वारा बताएं.

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasystory.com” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds