शादी में मिली लड़की की सील तोड़ी अपने फ्लैट पर – वर्जिन गर्ल फ़क

शादी में मिली लड़की की सील तोड़ी अपने फ्लैट पर – वर्जिन गर्ल फ़क

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “शादी में मिली लड़की की सील तोड़ी अपने फ्लैट पर: वर्जिन गर्ल फ़क”। यह कहानी सक्षम की है आगे की कहानी वह आपको खुद बताएँगे मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

वर्जिन गर्ल फ़क कहानी में पढ़ें कि एक लड़की जिससे मेरी मुलाकात एक शादी में हुई, उसने फेसबुक पर मुझसे संपर्क किया, मुझसे दोस्ती की और फिर उसने हमारी दोस्ती को सेक्स की ओर मोड़ दिया.

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम सक्षम है. मेरी हाइट 5 फीट 9 इंच है और रंग गोरा है.

मैं आप लोगों का मेरी वर्जिन गर्ल फ़क कहानी में स्वागत करता हूँ।

मेरी यह कहानी एक सच्ची घटना पर आधारित है जिसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपने मामा के दोस्त की लड़की को चोदा.

यह वर्जिन गर्ल फ़क स्टोरी मेरी और मेरे मामा के दोस्त की लड़की, जिसका नाम Dolly है, के बारे में है.
उसकी उम्र 24 साल है और ऊंचाई 5 फीट 6 इंच है और रंग गोरा है और फिगर साइज 34-30-32 है.

ये घटना तब की है जब मैं अपने मामा के घर एक शादी में गया था. तभी मेरी उससे वहां मुलाकात हुई.
हम दोनों का परिचय मेरे मामा के बेटे ने कराया था.

तब तक मेरे मन में उसके लिए ऐसे विचार नहीं थे. शायद तभी से वो मुझे पसंद करने लगी.

एक दिन मैं अपने फोन पर फेसबुक चला रहा था।
तो वहां किसी ने मुझे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी और मैंने उसे एक्सेप्ट भी कर लिया.

तभी मुझे वहां से एक मैसेज आया. उसमें लिखा था- क्या आप मुझे पहचानते हैं?
मैंने कहा- कौन?

तभी दूसरा मैसेज आया- मैं डॉली हूं… मैं तुमसे शादी में मिली थी.
मैंने कहा- ओह, तुम हो!

फिर हम दोनों बातें करने लगे और बातें करते-करते हम दोस्त बन गये. एक दिन उसने मुझसे मेरा व्हाट्सएप नंबर मांगा और मैंने उसे दे दिया।

और फिर हम व्हाट्सएप पर बात करने लगे.

उसने मुझसे कहा- प्लीज़ मेरी दोस्ती किसी से करा दो!
तो मैंने कहा- किससे करवाऊं?

फिर मैंने कहा- तुम मुझसे ही दोस्ती कर सकती हो!
तो वो बोली- ठीक है. (वर्जिन गर्ल फ़क)

इसके बाद हमारे बीच कुछ नॉनवेज बातें होने लगीं.
और फिर बातें करते करते मैं उससे सेक्स के बारे में पूछने लगा.

इस पर उसने कहा- मैंने अभी तक Chut Chudai नहीं करवाई है.
तो मैंने कहा- क्या तुम्हें कभी सेक्स करने का मन नहीं होता?
इस पर वो बोलीं- नहीं.
मैंने कहा- ठीक है.

फिर उसने कहा- मैं तुमसे मिलना चाहती हूँ.
मैंने कहा- मैं घर पर नहीं रहता. मैं नोएडा में काम करता हूँ.

वो बोली- मुझे भी आना है.
तो मैंने कहा- क्या तुम आ पाओगी?
वो बोली- चलो कोशिश करते हैं.

और फिर एक हफ्ते बाद वो नोएडा आ गईं.

मैं उसे लेने मेट्रो स्टेशन पहुंचा.
और फिर हम मेरे कमरे की ओर चलने लगे.

कमरे में पहुंच कर मैंने डॉली से कहा- फ्रेश हो जाओ, मैं खाना ले आता हूँ.
वो बोली- ठीक है.

हम दोनों ने साथ में डिनर किया.
फिर मैं अपनी ड्यूटी पर चला गया.

अब जब मैं शाम को कमरे में आया तो देखा कि डॉली सो रही थी.
उन्होंने पिंक कलर का टॉप और ब्लैक कलर का लहंगा पहना हुआ था.

पंखे से चल रही हवा के कारण उनका लहंगा उनके घुटनों से काफी ऊपर था, जिससे उनकी पैंटी साफ दिख रही थी.

मेरा मन कर रहा था कि अभी उसे चोद दूं.
लेकिन मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया.

जब मैं घर पहुँचा तो वह जाग चुकी थी, इसलिए मैं उसकी ओर पीठ करके चलने लगा।

इस पर वो बोलीं- कहां जा रहे हो?
मैं रुक गया।

फिर वो बोली- अभी क्या देख रहे थे? मेंने कुछ नहीं कहा!
और मैं हंसने लगा और उसके पास जाकर बिस्तर पर बैठ गया.

फिर मैं इधर उधर की बातें करने लगा. वो बोली- चलो, हाथ-मुँह धो लो, मैं खाना बना देती हूँ। मैंने हाँ में सिर हिलाया और वॉशरूम चला गया और फ्रेश होने के बाद हम दोनों ने खाना खाया।

फिर वो बोली- मुझे नींद आ रही है.
मैंने कहा- ठीक है तुम सो जाओ.

तो उसने कहा- मैं नीचे लेट जाऊँगी, तुम बिस्तर पर लेट जाओ।
मैंने कहा- नहीं, तुम भी यहीं लेट जाओ.

वो मेरी तरफ देखने लगी और फिर मेरे बिस्तर पर लेट गयी. मैंने कमरे की सारी लाइटें बंद कर दीं और उसके साथ लेट गया। अब वो सो चुकी थी और मैं भी थक गया था तो मुझे भी नींद आने वाली थी.

तभी मैंने देखा कि डॉली ने अपना एक हाथ मेरे लंड पर रख दिया.

अब मेरे शरीर में करंट सा दौड़ने लगा. मैंने भी अपना हाथ उसके चूचों पर रख दिया. उसने शायद ब्रा पहनी हुई थी.
मुझे लगा कि वो जाग गई है और सोने का नाटक कर रही है. (वर्जिन गर्ल फ़क)

तो मैं भी उसके Big Boobs को टॉप के ऊपर से सहलाने लगा. फिर वो मेरी तरफ घूम गयी और उसके होंठ मेरे सामने आ गये.

अब मैं उसे चूमने लगा और वो भी मुझे चूमने लगी.

फिर मैंने अपना एक हाथ उसके टॉप के अन्दर डाल दिया और उसकी चुचियों को मसलने लगा.

अब शायद वो गर्म हो गई थी तो मौका मिलते ही मैंने अपने दूसरे हाथ से उसका लहंगा ऊपर उठा दिया और उसकी जांघें सहलाने लगा.

अब वो अकड़ने लगी.
और फिर मैंने अपना हाथ उसकी जाँघों से हटा कर सीधा उसकी पैंटी में डाल दिया और उसकी चूत पर रख दिया।

मुझे लगा कि उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया है.
फिर मैंने अपना हाथ उसकी पैंटी से बाहर निकाला और उससे अपना टॉप उतारने को कहा.

अब वो मेरे सामने काली ब्रा में थी.

फिर मैंने उससे अपना लहंगा उतारने को कहा.
तो उसने वह भी उतार दिया.

अब वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में थी.
मैंने जाकर कमरे की लाइट जला दी तो उसने शर्माते हुए चादर से अपने आप को ढक लिया और बोली- प्लीज़ लाइट बंद कर दो!

तो मैंने कहा- शरमाओ मत, यहाँ सिर्फ हम दो ही हैं!

मेरे बहुत समझाने के बाद वो मान गयी. फिर मैंने उसकी चादर खींच कर उतार दी. मैंने देखा कि उसका बदन रोशनी में चमक रहा था, अब मैं और मूड में आ गया। (वर्जिन गर्ल फ़क)

मैंने उसे अपनी बाहों में ले लिया और बिस्तर पर लिटा दिया और उस पर जानवरों की तरह टूट पड़ा और उसे चूमने लगा।

वो भी मेरा साथ देने लगी और मुझे चूमने लगी.

फिर मैंने उसकी पैंटी और ब्रा उतार कर फेंक दी.
अब वो मेरे सामने पूरी नंगी हो गयी.

फिर मैंने अपने हाथ की एक उंगली उसकी Tight Chut में डाल दी और हिलाने लगा.
वह कराहने लगी.

अब उसकी चूत चाटने की बारी थी!
जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर रखी, वो तड़पने लगी.

अब मेरा लंड भी खड़ा होने लगा था तो मैं जल्दी से अपने सारे कपड़े उतारने लगा.
कुछ ही पलों में मैं उसके सामने नंगा खड़ा था.

वो मेरा 6 इंच लम्बा लंड देख कर डर गयी और बोली- ये मेरा पहला सेक्स है, मैं मर जाऊंगी, इतना बड़ा लंड नहीं ले पाऊंगी.

मैंने कहा- आराम से करूँगा!
वो बोली- ठीक है.

मैंने उससे अपना लंड मुँह में लेने को कहा तो उसने मना कर दिया.
लेकिन मेरे एक-दो बार कहने के बाद वह मान गई और मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी।

अब मुझे मजा आने लगा.

फिर हम 69 की पोजीशन में आ गये. मैं उसकी चूत को चाटने लगा.

अब वो झड़ने वाली थी तो बोली- मैं झड़ने वाली हूँ. मैंने चाटने की स्पीड बढ़ा दी और कुछ ही पलों में वो स्खलित हो गई.
उसका सारा वीर्य बिस्तर पर गिर गया. (वर्जिन गर्ल फ़क)

फिर मैंने उसके मम्मों को चूसना शुरू कर दिया.
वो फिर से गर्म होने लगी.

अब शायद वो चुदाई के लिए तैयार थी.
तो मैंने बिना समय बर्बाद किये अपने लंड पर क्रीम लगाई और उसकी चूत पर रख दिया.

अब मेरे लंड का सुपारा उसकी चूत के छेद को छू गया.
मैंने कहा- थोड़ा दर्द होगा लेकिन बाद में मजा आएगा.

उस कुंवारी लड़की ने कहा- ठीक है!
और मैंने एक ज़ोर का धक्का मारा और मेरा लंड उसकी चूत में चला गया.

अब वो चिल्लाने लगी और कहने लगी- बाहर निकालो, मुझे दर्द हो रहा है.

लेकिन मैं कहाँ मानने वाला था… मैंने एक और धक्का लगाया और इस बार मेरा 6 इंच लम्बा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ सीधा अन्दर चला गया। पहली चुदाई के दौरान वो कुंवारी लड़की रोने लगी.

अब मैंने धक्के लगाना शुरू कर दिया और फिर उसकी आँखों से आँसू निकलने लगे.

वो मुझे मना करने लगी तो मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया. लेकिन मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर नहीं निकाला.
साथ ही मैं उसके मम्मों को दबाने और चूसने लगा. (वर्जिन गर्ल फ़क)

कुछ देर बाद उसे अच्छा लगने लगा तो मैंने फिर से धक्के लगाना शुरू कर दिया.
अब शायद उसे भी मजा आने लगा और वो अपनी गांड मेरी तरफ उठाने लगी.

मैंने भी अपने धक्को की स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से धक्के मारने लगा.
मेरे लगातार धक्को से वो उत्तेजित हो चुकी थी।

अब मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाला और उसे घोड़ी बनने को कहा.
और फिर मैंने उसे पीछे से चोदना शुरू कर दिया.
10 मिनट तक चोदने के बाद वो फिर से झड़ गयी.

फिर मैंने उसे सीधा लिटाया और उसकी Moti Gand के नीचे एक तकिया रख दिया और उसकी चूत को ऊपर की तरफ उठा दिया.

फिर मैंने उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रखा और सामने से उसे चोदने लगा.
वो भी मुझसे कहने लगी- आह, जल्दी करो, मजा आ रहा है. और तेज!
और वो अपने होठों को दांतों से दबाने लगी.

अब मैं उसके ऊपर चढ़ गया था और तेज धक्को के साथ कमरे में अचानक से आवाजें आने लगी थी.

इधर डॉली भी कह रही थी- आज मेरी चूत फाड़ दो मेरे राजा… आह आह! मैंने भी स्पीड बरकरार रखी और कुछ देर बाद उसने मुझे कसकर पकड़ लिया और फिर झड़ गयी।

डॉली अब तक तीन बार स्खलित हो चुकी थी.
अब मेरी बारी थी तो मैं भी पूरी ताकत से धक्के लगाता रहा.

फिर मैंने कहा- मैं झड़ने वाला हूँ!
तो उसने कहा- अपना पानी मेरे बूब्ज़ पर गिराओ।

मैंने भी झट से अपना लंड उसकी चूत से निकाला और उसके मम्मों पर रगड़ दिया.

अब हम दोनों आराम से लेट गये.

कुछ देर बाद उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी जिससे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.
फिर मैंने कहा- अब मैं तुम्हें नये तरीके से चोदूंगा.
वो बोली- ठीक है.

फिर मैंने उसकी दोनों टांगों को उसकी ब्रा से बांध दिया और उसकी चूत में अपना मुँह लगा दिया.
उसकी गुलाबी चूत मेरे सामने थी.

फिर मैंने उसकी गांड के नीचे एक तकिया लगाया और अपना लंड फिर से उसकी चूत में डाल दिया.
उस रात मैंने डॉली को लगातार तीन बार चोदा.

अब मुझे भी थकान महसूस होने लगी और फिर हम दोनों नंगे ही बिस्तर पर सो गये.

सुबह जब मैं उठा तो देखा कि डॉली अभी भी सो रही थी.
मैंने उसे जगाया और कहा- जाकर फ्रेश हो जाओ.

फिर मैंने देखा कि वो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी.
तो मैं उसे उठाकर वॉशरूम में ले गया और फिर हम दोनों साथ में नहाये.

एक बार फिर मुझे सेक्स करने का मन हुआ.
तो मैं फिर से वॉशरूम में जाने लगा.

मैंने उसे टॉयलेट सीट पर बैठाया और उसकी दोनों टाँगें अपने कंधों पर रखीं और उसे वहीं एक बार फिर से चोदा।

फिर मैं उसे उठाकर कमरे में लाया तो देखा कि उसकी चूत लाल हो रही थी।
इसलिए मैंने जल्दी से उसे दवा लगाई और आराम करने को कहा।

इस तरह सेक्स का खेल 6 महीने तक चलता रहा.

मेरे प्यारे दोस्तो, आपको मेरी सेक्सी कहानी पढ़कर मजा आया होगा.
आपको वर्जिन गर्ल फ़क कहानी कैसी लगी, कमेंट करके बतायें?

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasystory.com” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds