दो शादी-शुदा दोस्त चुपके मिलते सेक्स के लिए अकेले में!

दो शादी-शुदा दोस्त चुपके मिलते सेक्स के लिए अकेले में!

नमस्कार दोस्तों, आप सभी की प्रतिक्रिया के लिए धन्यवाद। हम शादी-शुदा दोस्त चुपके मिलते सेक्स के लिए अकेले में। तबी आपको आनंद प्रप्त होगा पूरी तरह से। आइए अब अच्छे हिस्से पर चलते हैं।

पिछली बार वह चाहती थी कि मैं अपने कपड़े उतार दूं और तब वह मेरी गोद में बैठी थी और मेरे शरीर पर हाथ मल रही थी।

मैं उसे पीठ पर हाथ फिरने लगा था और कमर पे हाथो से मसाला रहा था। फिर वो उठी, और मेरे को आंख मार के इशारा किया।

उसने कहा: चलो करते हैं।

फिर मैंने उसे बिस्तर पर लिया, और उसकी लाल पैंटी को धीरे से 2 उनग्लियों से उतरा और नीचे तक लाया। वो शर्मा रही थी और उसे आंखें बंद कर ली।

मैं उसकी टाइट और परफेक्ट शेप्ड और क्लीन शेव्ड चूत को देख कर एक दम खुश हो गया। कैसे बताउ, बस समझो की मजा आ गया। फिर धीरे से मैं उसके ऊपर ले गया और उसे स्मूच करने लगा।

उसका चिकना बदन एक दम मुलायम और सॉफ्ट था, जिसको छोटे ही मजा आ जाए। मेरा शेयर गरमा और उसका ठंडा था, एसी रूम में जो फील आती है। ये सब वो ही समझ पाएगा, जिसे महसूस किया हो। गरम और ठंडे का कॉम्बिनेशन अलग ही लेवल पर होता है।

मैं अपने हाथ उसके हिस्सेदार पे फिरते हुए उसके स्तन को मसाला लगा, और हम लिप किस कर रहे थे। हम दोनो की जीब आप में खेल रही थी और मैंने धीरे से उसे कमर को दबते हुए उसके लोअर एब्स पर अपना हाथ लेगाया।

उसे अपने हाथ से मेरे हाथ को रोकने की कोषिश की, लेकिन क्या करे उसके छोटे हाथ मेरे हाथ को रोक नहीं खातिर। फ़िर मैं धीरे से उसकी पुसी होठों के पास अपनी उन लोगों को सहलाने लगा, और वो तुरंत कामने लगी। ऐसे जैसे उसे शॉक लगा हो।

उसे इतना सुख मिल रहा था, उस वक्त उसका चेहरा देखने वाला था। उसके चेहरे पर संतुष्टि दिख रही थी।

फिर मैं बड़े आराम से अपनी एक उंगली धीरे-धीरे उसकी पुसी पे रगड़ करने लगा। मैं थोडी-थोड़ी उन्गली अंदर की तरफ ले जाने लगा। उसकी टाइट चुत बहार जितनी सॉफ्ट एंड स्मूद थी, और उससे भी ज्यादा सिल्की और जूसी थी। वो पहले ही 2 बार झड़ चुकी थी, और उसकी चुत एक दम पानी-पानी हो गई थी।

मुझे उस गरमी में मजा आ रहा था अपनी उनग्लियों से खेलने में। मैं उसके रस से उसकी चुत को सहलाता रहा, और 2 अनग्लियों से मसाला रहा। वो अपनी आंखें बंद करके जैसे अलग ही दुनिया में चली गई थी। फ़िर वो मेरे को अपनी तरह से लगने लगी, और तंग से पकाने लगी।

मैं धीरे से उसके स्तन को चूसने लगा और छूत भी कर रहा था साथ में। मैं जैसे लिख रहा हूं, और वो पल याद कर रहा हूं। इतने लंबे समय के बाद आज भी मेरी हालत मानो खराब है।

मैं अपने आपको कंट्रोल नहीं कर पा रहा हूं। आइए कहानी पर वापस आते हैं। मेरे सामने सेक्सी सा बदन था। एक दम मुलायम और चिकने शरीर थी। क्यूट बूब्स और परफेक्ट शेप्ड पुसी थी। सिचुएशन के हिसब से सात आसमान पे खोई हुई लड़की, और उसके हिस्से का आनंद लेता हुआ मैं। वो क्या गजब पल।

अब मैं उसे ज़ोर-ज़ोर से फिंगरिंग करने लगा, और वो मून करने लगी। वो अपने आप को कंट्रोल नहीं कर पा रही थी। फिर मैंने अपनी उनग्लियां बहार निकला ली। मैं धीरे से अपने दो हाथो से उसे कमर पे मसाला रंग, अपने होंठ से हमें स्तन से नीचे बढ़ने लगा छुमते रंग।

जैसे ही मैं उसके पेट तक पहुंचा, और उसकी नाभि को छुमते हुए नीचे की और बढ़ने लगा, वो उठी और मुझे रुकने की कोशिश की। वो मुझे बोली-

आयुषी: प्लीज मत करो।

मुख्य: बेबी बस आनंद लें।

वो मुझे मन करने की पूरी कोषिश कर रही थी, और मैंने डायरेक्ट उसे पुसी के थोड़े ऊपर अपने होठों से किस करना शुरू कर दिया। फिर अपने हाथों से उसके स्तन को दबते हुए हमें दिया, और उसे बिल्ली को अपने होठों से पहले किस करना लगा।

जब मैं अपनी उन लोगों से उसकी चुत मसाला रहा था, तब मैं उसे और से लेकर बाहर तक मसाला रहा। उसकी वजह से उसके पुसी होठों अभी भी रसदार द बहार से। फिर जब मैं वहा किस करना लगा, तो एक दम अलग ही नशा सा चढ रहा था मुझे।

अब मैं एक हाथ से उसके स्तन को मसाला रहा था, और दूसरे हाथ को उसकी पुसी होठों को खोलने लगा। मैं अपनी जिंदगी से पुसी होठों को चाटने लग गया।

अब वो ज़ोर-ज़ोर से आवाज़ निकलने लगी, और मेरे सर पे हाथ रख कर सहलाने लगी, और धीरे से दबने लगी। मैं उसके चुत को चाट-ते हुए, उसके रस का मजा लेटे हुए, उसके नशे में खो सा गया था।

अब तो मैं उसे चुत को जैसा था जाना चाह रहा था, और उसके अंदर घुमने की कोषिश कर रहा था। मुझसे ऐसे बिलकुल रहा नहीं गया, और मैं हर 1 या 2 मिनट में सांस लेने के लिए अपने आपको थोड़ा बहार ला रहा था।

फ़िर सांस लेकर वापस जैसे ही अंदर की, तो चाट-ते हुए उसका रस पीठे हुए ही भूलभुलैया लेने लगा। कुछ डर बाद उसे मुझे बोला की अब बस, प्लीज बस करो। तब मैं समझ गया और फिरसे हमें किस करते हुए नाभि पे और ऊपर स्तन तक गया।

फ़िर जब मैंने उसकी आँखों में देखा, वो तो जैसे अलग ही नशे में थी। हम दोनो के बीच कुछ अलग ही लग रहा है और कनेक्शन महसूस हो रहा था।

फिर उसे मुझे होठों पर झटपट देकर मेरे को लिता कर मुझे आखिर में नग्न कर दिया। वो मेरे लिंग को अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी। मैं से बिलकुल अपने आपको रोक नहीं पा रहा था, इसलिए इतनी डर से जो हमारे बीच हुआ, उसके बाद मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ। उसे कहने के लिए-

मैं: बेबी प्लीज इसे हिलाना बंद करो। वर्ना मैं कंटोल नहीं कर पाऊंगा।

आयुषी : अच्छा जी, ठीक है। जैसे आप कहो, मगर मुझे ये पूरा चाहिए।

मैं: ठीक है, तो अपनी फैंटेसी बताओ की कैसे करना है।

आयुषी : मुझे स्टैंडिंग में बेंड होके करना है।

फिर मैं उठा, और उसके पीछे से हग करके उसके कान पे किस किया। मैंने उसे बिस्तर के कोने पे मोड़ करने को कहा। उसे अपने बाल आए की तरह कर दिए, और बेड के कोने पे अपने दो हाथो से बैलेंस करते हुए बेंड हुई।

उसकी हाइट मेरे लिए थोड़ी छोटी थी, तो मुझे अपने पेयर फेला कर खड़ा होना पड़ा। और मैंने पहले उसे चुत में पीछे से 2 उनग्लियों से रगड़ किया। उसके बाद अपने 7 इंच के लुंड को उसकी चुत में पीछे की तरफ से और किया, और पुश करने लगा।

वो इतनी गीली थी, और उसकी स्थिति बड़ी परफेक्ट थी, तो मेरे लिए इतना मुश्किल नहीं था और जाने में। लेकिन जैसे ही मैंने अपने आपको और समय, वो अपनी दोनो लेग्स को टाइट करने लगी। फिर उसे कहा-

आयुषी: प्लीज धीरे-धीरे करो।

मैं बड़े धीरे-धीरे उसे स्ट्रोक्स देने लगा। कॉमन इश्यू ये है, की जब मैं धीरे-धीरे करता हूं, तो मेरे दीमाग में खलबली मचती है। और मुझसे कंट्रोल नहीं होता।

अब मुझे थोड़ा वाइल्ड होने का मन किया, तो मैं उसे कमर पे अपने दोनो हाथो से पकाते हुए थोड़ा अपनी स्पीड बढ़ाने लगा। वो भी इसे एन्जॉय कर रही थी। हमने लगभग 4 से 5 मिनट के बारे में हमें स्थिति में भूलभुलैया लिए, और मैंने कहा-

मैं: बेबी मैं आ रहा हूँ।

तो अपने हाथो को बिस्तर पर आगे बढ़ते हुए जाने दो, और मैं उसके ऊपर पीछे चलो कर धीरे-धीरे स्ट्रोक देने लगे उसके अंदर ही झड़ गया। फिर हम दो ओर में जाने दो एक-दूसरे की बाहो में। मैंने उसके माथे पे किस करके उसे कहा-

मेन: बेबी थैंक यू।

उसे कहा: बहुत मजा आया मुझे, और मैं पहली बार इतनी संतुष्ट हुई।

फिर हम एक-दूसरे को देखते हुए थोड़ी देर ले गए। इसके बाद के किस और दिलचस्प और अनोखे है। जुड़े रहे मेरे साथ, और जाने रहें मेरे जिंदगी की कहानी।

इसे पढ़ने के लिए आप सभी का धन्यवाद और मुझे आशा है कि आपको मेरी सेक्स की कहानी अच्छी लगी होगी।

मुझे पता है ये कुछ ज्यादा ही लंबी थी। लेकिन मुझे हर डिटेल देना थी, जो मैंने दे दी।

Escorts in Delhi

This will close in 0 seconds