मौसी की गांड में पडोसी का लंड | Family sex story

मौसी की गांड में पडोसी का लंड | Family sex story

wild fantasy sex कहानी में मैंने अपनी जवान मौसी को उनके पड़ोस के एक अंकल से गांड मरवाते देखा. मेरी चुदक्कड़ मौसी को गांड चुदाई कराने में बहुत मजा आता है.

दोस्तो, कैसे हो आप लोग!
मैं wild fantasy की सेक्स कहानियों का नियमित पाठक हूं और मुझे सेक्स स्टोरीज पढ़ने में बहुत मजा आता है.

अब मैं अपनी कहानी लेकर आप लोगों के सामने हाजिर हूँ.

मेरी यह रीयल सेक्स स्टोरी है मेरी चुदक्कड़ मौसी की है जिसे अपनी गांड चुदाई कराने में बहुत मजा आता है और उसके पास गांड चुदाई का सारा सामान भी है. (Family sex story)

मेरे मौसाजी भी जब बाहर से आते हैं, उसको एक बार जरूर चोदते हैं और सबसे ज्यादा उसकी गांड ही मारते हैं.

wild fantasy sex कहानी शुरू करने से पहले मैं आप लोगों को अपनी मौसी के बारे मैं बता देता हूं.

मेरी मौसी दिखने में बहुत खूबसूरत हैं, एकदम मस्त माल की तरह हैं.
वो किसी का भी लंड खड़ा कर सकती हैं. उनका रंग दूध की तरह बिल्कुल सफेद है.

वैसे मेरी मौसी पाँच बच्चों की मां हैं लेकिन वो पांच बच्चों की मां बिल्कुल नहीं लगती हैं. (Family sex story)
उन्होंने अपने फिगर को काफी मेंटेन किया हुआ है.

मेरी मौसी की गांड बहुत बड़ी है और मोटी है … कमाल की बात ये कि वो एक साथ दो लंड ले सकती हैं.
उनकी गांड का छेद बहुत बड़ा है और थोड़ा सा काला भी है.
मेरे मौसा ने मेरी मौसी की गांड मार मार कर काला कर दिया है.

मैंने बहुत सारे लोगों को मौसी के मोटे चूतड़ों को घूरते हुए देखा है. हालांकि मौसी के बूब्स भी बहुत मस्त और कमाल के हैं.
वो अपनी चूत को हमेशा साफ़ करके रखती हैं और उनकी चूचियां भी एकदम भरी हुई हैं. (Family sex story)

मुझे उनके मम्मों का साईज तो नहीं पता पर वो 36 नम्बर की ब्रा और डबल एक्सएल नम्बर की चड्डी पहनती हैं.

एक बार मैं अपनी मौसी के घर गया हुआ था.
उस दिन मेरी मौसी क्या मस्त माल लग रही थीं … आह एकदम पटाखा माल जैसी लग रही थीं.

मेरा तो मन कर रहा था कि उनको अभी के अभी ही चोद दूं.
मुझे उनकी गांड और चुचे इस बार पहले से थोड़े ज्यादा बड़े नजर आ रहे थे. उनका मुँह भी थोड़ा सूजा हुआ था.

मैं समझ गया कि मेरे मौसा कुछ ही पहले उनको अच्छे से चोद कर गए हैं.

थोड़ी देर तक मैं अपनी मौसी के बच्चों के साथ खेलता रहा. (Family sex story)
फिर वो लोग भी थोड़ी देर बाद स्कूल चले गए.

अब मैं अपनी मौसी के रूम की तरफ चला गया.
कमरे का दरवाजा खुला हुआ था.

मैं चुपके से अन्दर घुसा.
मुझे अन्दर बाथरूम में पानी गिरने की आवाज सुनाई दे रही थी.
मैं समझ गया कि अन्दर मेरी मौसी नहा रही हैं.

मैं चुपके से अन्दर झांककर देखने लगा.
मैंने देखा कि मेरी मौसी ने अपनी पुरानी सुहागरात वाली वीडियो चला रखी थी और मजे से अपनी बड़ी सी गांड हिलाती हुई अपनी चूत में उंगली कर रही थीं. (Family sex story)
कमरे में ही उनकी इस्तेमाल की हुई चड्डी पड़ी थी.

उस वक्त मुझे ये सब देख कर बहुत मजा आ रहा था.
फिर मैंने देखा कि मेरी मौसी बाहर आने वाली हैं तो मैं चुपचाप उनकी एक चड्डी उठा कर रूम से बाहर निकल आया और बाथरूम जाकर उनको याद करते हुए उनकी चड्डी को सूंघते हुए मुठ मार ली.

सच दोस्तो. क्या खुशबू थी उनकी चड्डी की … मैं आपको बता नहीं सकता.

मैं मुठ मारकर वापस बाहर आ गया और खाना आदि खाकर हम सब लोग सो गए. (Family sex story)

फिर सारा दिन यूं ही टीवी देख कर टाइम पास किया.
रात हुई तो खाना खाया और सब सो गए.

मुझे रात को अचानक अजीब अजीब सी आवाजें सुनाई दे रही थीं … जैसे कोई किसी को बहुत जोर से चोद रहा हो.

मैं रूम से बाहर आया. ध्यान दिया तो पाया कि ये आवाजें मेरी मौसी के रूम से आ रही थीं.
मैंने अन्दर झांक कर देखा तो देखता ही रह गया.

रूम के अन्दर मेरी मौसी के एक पड़ोसी अंकल थे.
मैंने उनको बहुत बार मेरी मौसी के घर आते हुए देखा था.
वो अंकल जी भी घर पर तभी आते, जब मेरे मौसाजी घर पर नहीं होते थे. (Family sex story)

मैंने कमरे में झांक कर देखा तो वो अंकल जी मेरी मौसी की गांड को चूमते हुए चाट रहे थे.
और मेरी मौसी को भी अपनी गांड चटवाने में बहुत मजा आ रहा था.
उनके मुँह से बड़ी ही सेक्सी आवाजें निकल रही थीं ‘आह आह जानू … और चाटो आह.’

थोड़ी देर बाद मेरी मौसी ने तड़पते हुए कहा- प्लीज जान, अब तुम जल्दी से मेरी गांड मार लो और मेरी गांड की खुजली मिटा दो. मैंने बहुत दिनों से अपनी गांड नहीं मरवाई है.
लेकिन उन अंकलजी ने जल्दी न करते हुए अपनी चड्डी उतार कर अपना बड़ा सा लंड मेरी मौसी के हाथों में पकड़ा दिया.

अब मैं क्या बताऊं … उन अंकल जी का लंड बहुत ही ज्यादा मोटा था और टाइट था.
उनका लंड मेरे मौसाजी के लंड से काफी बड़ा था. (Family sex story)
मैंने मौसा जी का लंड भी एक बार उस वक्त देखा था, जब वो पेशाब करते हिला रहे थे.

मेरी मौसी ने उन अंकल जी का लंड अपने हाथों में पकड़ा और थोड़ी देर तक उसे हिलाया.

फिर मेरी मौसी ने अंकल जी के लंड को अपने अपने दोनों मम्मों के बीच में रखा और रगड़ना शुरू कर दिया.
अंकल जी को मजा आने लगा.
वो अपने लंड को मौसी के मम्मों से रगड़वाते हुए उनके मुँह में देने की कोशिश कर रहे थे.

थोड़ी देर बाद मेरी मौसी ने उन अंकल जी के लंड को अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपाप की तरह चूसने लगीं.
अब अंकल जी के मुँह से मादक आवाजें निकलने लगीं. (Family sex story)

मौसी मुँह में काफी अन्दर तक लंड लेकर अपने हाथ से अंकल जी के गोटे सहला रही थीं.

इससे बड़ा असर हुआ और थोड़ी ही देर बाद अंकल जी झड़ गए.
मौसी ने उन अंकल जी के लंड का सारा रस मुँह में ही ले लिया और लंड चाटती हुई सारा माल रबड़ी की तरह पी गईं.

फिर मौसी जी ने अंकल जी के लंड को चाटकर अच्छे से साफ कर दिया और उनकी गांड को भी चाट लिया.

अब अंकल जी ने मेरी मौसी को बेड पर लेटा दिया और वो मेरी मौसी के मुँह की तरफ अपना लंड करके लेट गए.

(Family sex story)
अंकल जी ने मौसी जी के मुँह में अपने बड़े से लंड को फिर से डाल दिया और खुद भी मेरी मौसी की चूत को चूमते हुए चाटने लगे.

दोनों की मस्त चूसम चुसाई चलती रही.
इसी बीच मेरी मौसी झड़ भी गई थीं.

मौसी की गांड में पडोसी का लंड

अब चुदाई की बेला आ गई थी.

अंकल जी ने चुदाई का पोज बनाया और मेरी मौसी के गालों पर किस करते हुए कहा- मेरी जान, मेरी रानी, अगर मैं तुम्हें गाली देते हुए चुदाई करूँ, तो तुम्हें बुरा तो नहीं लगेगा ना?
मेरी मौसी ने अंकल जी के होंठों पर किस करते हुए अपने मन की चुदाई करने की इजाजत दे दी. (Family sex story)

अंकल जी ने मेरी मौसी को बिस्तर पर पीठ के बल लेटा दिया और उनकी गांड के नीचे तकिया रख दिया.
मेरी मौसी ने खुद अपने हाथों से उन अंकल जी के लंड पर कंडोम लगाया.

अंकल ने मेरी मौसी की टांगें उठा कर उनकी चूचियों पर कर दीं.
उनकी बड़ी सी गांड अंकल जी के सामने थी.

अंकल जी ने पहले तो मेरी मौसी की गांड में अपनी उंगलियां डालीं और उन्हें धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगे.

कुछ देर के बाद अंकल जी ने मौसी से कहा- साली, तेरी गांड बहुत ही गर्म है और टाइट है. (Family sex story)
मेरी मौसी ने भी कहा- मैं क्या करूँ यार … वो कलमुंहा मुझे अच्छे से चोद कर ही नहीं गया. प्लीज जान, तुम मेरी खुजली मिटा दो ना.

अंकल जी ने ये सुनते ही मेरी मौसी की गांड में तेल लगा दिया और थोड़ा सा तेल अपने लंड पर भी लगा लिया.
फिर अपने लंड को मेरी मौसी की गांड के छेद पर सैट किया और मेरी मौसी से कहा- साली, आज मैं तेरी गांड का भोसड़ा बना दूंगा.

ये कह कर अंकल जी ने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी मौसी की गांड में पेल दिया.
मेरी मौसी की चीख निकल गई- उई मां मर गई!

मुझे एक पल के लिए ऐसा लगा जैसे उन अंकल जी का लंड मेरी मौसी की बड़ी आंत तक पहुंच गया हो.

दोस्तो, थोड़ी देर बाद मेरी मौसी को भी wild fantasy sex में मजा आने लगा.(Family sex story)
वो अपने बड़े बड़े कूल्हे ऊपर उठा उठा कर अंकल जी का साथ देने लगी थीं.
उनके मुँह से ‘आह उह या फाड़ दो मेरी गांड को … आह …’ की आवाजें निकल रही थीं.

वो अंकल जी भी बड़े मजे से मेरी मौसी को किस करते हुए चोदे जा रहे थे.
उनके बड़े से लंड ने मेरी मौसी की गांड में अपनी जगह बना ली थी और अंकल जी का लंड मेरी मौसी की गांड में सटासट चलने लगा था.

अंकल जी गांड मारते हुए अपने एक हाथ से मेरी मौसी की चूत में फिंगरिंग भी कर रहे थे.
उन्होंने अपने दूसरे हाथ से मेरी मौसी के मम्मों को दबाया हुआ था.
वो बड़े मजे से मेरी मौसी की गांड मार रहे थे. (Family sex story)

चूत में उंगली करने से मेरी मौसी फिर झड़ भी गई थीं. चूत का पानी बह कर गांड के छेद तक आने लगा था जिससे मौसी की पूरी गांड गीली हो गई थी.

थोड़ी देर बाद अंकल जी ने धीरे से मेरी मौसी की गांड के नीचे से तकिया निकाल दिया और मौसी को अच्छे से पकड़ कर चोदने लगे.

कुछ देर बाद अंकल जी ने मेरी मौसी को अपनी गोद में बैठा दिया और मेरी मौसी खुद ही अपनी बड़ी सी गांड उठाकर उन अंकल जी के लंड पर उछल कूद करने लगीं.

थोड़ी देर बाद वो अंकल जी झड़ने वाले थे, तो उन्होंने अपना बड़ा सा लंड मेरी मौसी की गांड में से बाहर निकाला और मौसी के मुँह की तरफ कर दिया. (Family sex story)

मेरी मौसी ने अंकल जी के लंड को हिलाना शुरू कर दिया और वो अंकल का लंड अपनी धार मारने लगा.
अंकल का लंड मेरी मौसी के मम्मों पर झड़ने लगा.

फिर मेरी मौसी ने उन अंकल जी के लंड को अपने मुँह में ले लिया और उसे चूस कर अच्छे से साफ कर दिया.

अंकल जी का लंड ढीला हो गया था मगर मौसी को अंकल जी के लंड के साथ खेलने में मजा आ रहा था.
वो कुछ देर तक लौड़े के साथ खेलती रहीं.

इससे अंकल जी का लंड भी सांप की तरह फनफनाने लगा.
अंकल जी ने मेरी मौसी को चूमते हुए दबोच लिया और एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी मौसी की गांड में वापस उतार दिया. (Family sex story)

मेरी मौसी के मम्मों को अपने मुँह में लेकर चूसते हुए हुए वो उनकी चुदाई करने लगे.

उस दिन सारी रात मेरी मौसी की चुदाई चलती रही.
अंकल जी ने मेरी मौसी की हर पोजिशन में गांड मारी.
मौसी की गांड इतनी ज्यादा खुल गई थी कि लंड ने भी हार मान ली थी.

दोस्तो, आज की इस सेक्स कहानी में इतना ही लिख रहा हूँ.
आप लोगों को मेरी मौसी की wild fantasy sex कहानी कैसी लगी, मुझे नीचे कमेंट में जरूर बताएं.
[email protected]

(Family sex story)

Dehradun Call Girls

This will close in 0 seconds