खाला की गांड मारी | Family sex story

खाला की गांड मारी | Family sex story

दोस्तों मेरा नाम जावेद है . मैं अभी 22 साल का हु. मेरी हाइट 5.9 इंच है और लंड  5 इंच है. मेरी खाला का नाम फातिमा है . उनकी उम्र 34 साल है पर अभी भी 28 साल की लगती है.

मेरी खाला दिखने में बहुत माल है. सच में उनके बूब्स का साइज मुझे ध्यान तो नहीं पर इतने बड़े है की हाथ में लेते ही मज़ा आ जाये.

और फातिमा खाला की गांड की क्या ही तारीफ करू देखते ही खड़ा हो जाता है. तो अब आगे बढ़ते है कहानी की तरफ.मैं अपनी खालो को शुरू से ही बहुत पसंद करता था. पहले बस उन्हें पसंद करता था लेकिन अब उनके शरीर को भी पसंद करने लगा था. (Family sex story)

रोज़ मैं उनके नाम की मुठ मारा करता था और उन्हें देखने के बहाने उनके घर चला जाया करता था. क्यूंकि वो ज़्यादा दूर नहीं रहती है.उनके 2 बेटे है जो की बहुत छोटे है और उनके हस्बैंड जो मेरे खालू लगेंगे वो दिखने में ज़्यादा अचे नहीं है.

इसलिए मुझे लगा मेरा चांस बन सकता था. एक दिन किस्मत ने भी मेरा साथ दे दिया.मेरे घर वाले गाओं जा रहे थे. मैंने तो पहले ही मन कर दिया था अपनी जॉब की वजह से.

लेकिन मुझे क्या पता था ये डिसिशन मेरी ज़िन्दगी चेंज कर देगा. (Family sex story)

घर वालो ने सुग्गेस्ट किया की तू अपनी खाला के यहाँ रुक जा एक महीने के लिए. क्यूंकि घर पे कोई भी नहीं रहने वाला था. ये सुनते ही मैं आसमान में उड़ने लग गया. क्यूंकि यही वो चांस था जो मुझे चाहिए था.मैं घर वालो को ट्रैन में बिठा कर खाला के घर आ गया.

फिर उन्होंने मुझे चाय बना के दी और जब वो किचन में थी तब मैं सिर्फ उनकी गांड ही निहार रहा था. शायद उन्होंने नोटिस कर लिया था पर वो क्या बोलती. 2 दिन तो अचे से गुज़रे.

पर 2 दिन बाद संडे का दिन था और मेरे खालू घर पर ही थे. तभी सुबह-सुबह झगड़ने की आवाज़े आ रही थी.

(Family sex story)

मैंने देखा खालू खाला से लड़ रहे थे और खाला रो रही थी. उसके बाद खालू बाहर चले गए. मैं खाला के पास गया और उनके आंसू पोंछे. फिर उन्हें चुप कराया. उन्होंने मुझे अपने सीने से चिपका लिया और फूट-फूट के रोने लगी.

मैंने उनसे कहा चुप होने को तब जाके वो चुप हुई. फिर मैंने उनके गाल पे एक किस  किया और बोलै- में: मैं हु न आप रो मत.फिर उन्होंने भी मुझे एक किस किया गालो पर. उसके बाद मैंने उनका माथा चूमा और फ्रेश होने के लिए चला गया.

थोड़ी देर बाद खाला ने खाना खाने को बुलाया. खाला: जावेद खाना खा ले आके वर्ण ठंडा हो जायेगा. मैं खाने पे आके बैठ गया और खाला से पुछा-

में: सुबह ऐसा क्या हुआ था जो खालू आप पर चिल्ला रहे थे? (Family sex story)

खाला: कुछ नहीं बेटा तू नहीं समझ पायेगा. ये मेरे लिए नयी बात नहीं हैफिर मैंने भी ज़्यादा ज़ोर नहीं दिया. खाना खाने के बाद मैंने खाला के गाल पे किस किया और बोला –

में: खाना अच्छा  बना है बहुत.और खाला ने स्माइल किया और मैं रूम में चला गया. मेरा मन तो कर रहा था खाला के होंठो को चूसने लग जाऊ. पर मुझे सही वक़्त का इंतज़ार था.

कुछ दिन ऐसे ही गुज़रे फिर अगले संडे को सुबह-सुबह फिरसे झगड़ने की आवाज़ आने लगी. मैं समझ गया था खालू और खाला झगड़ रहे थे. इसलिए मैं बीच में नहीं गया उनके.

फिर खालू के जाने के बाद मैं खाला के रूम में गया तो खाला फिरसे रो रही थी. (Family sex story)

मुझे खालू पर बहुत गुस्सा आया पर मैं कर भी क्या सकता था?

में: खाला आप रो मत प्लीज. मुझे अच्छा नहीं लगता आपको रोता देख के. खाला: एक तू है जो मुझे रोता नहीं देख सकता और एक तेरे खालू है जो हर रोज़ मुझे रुलाते है : खाला आप उनकी बातें दिल पे मत लिया करो.

ये सुनते ही खाला फिरसे फूट-फूट के रोने लगी. मैंने उन्हें गले से लगा लिया और उनके आंसू पोंछे. पता नहीं हम दोनों को क्या हुआ की हम एक-दुसरे की आँखों में देखने लगे.

तभी मैंने फातिमा खाला के रस भरे होंठो को चूमना शुरू कर दिया और हम दोनों एक-दुसरे में खो से गए थे. करीब 2  मिनट तक एक-दुसरे एक होंठ चूसने के बाद खाला ने मुझे धक्का दे दिया. (Family sex story)

में: क्या हुआ खाला? आपको अच्छा नहीं लगा?

खाला: ये गुनाह है जो हम कर रहे थे और तुझे शर्म भी नहीं आयी मेरे होंठ चूमते वक़्त. में: खाला हम दोनों ने करीब 2 मिनट तक एक-दुसरे को होंठो को चूमा है. आपने इन 2 मिनट में एक भी बार मुझे हटाने की कोशिश नहीं की. तो फिर इसमें मेरे अकेले की गलती कैसे हुई?

खाला: मैं बहक गयी थी माना. पर तू तो अपने होश में ही था ना. (Family sex story)

में: खाला मैं तो पता नहीं कब से आपके इन रसीले होंठो को चूमना चाह रहा था. और आज वो सपना पूरा हो गया.

खाला: बेशरम तुझे ज़रा सी भी शर्म नहीं आ रही अपनी खाला के बारे में ऐसा सोचते हुए?

में: खाला मोहोब्बत करने में कैसी शर्म? मैं आप से मोहोब्बत करता हु.ये बोलते ही मैं फिरसे उनके होंठो को चूमने लग गया. फिर खाला ने मुझे चांटा मारा और बोला –

खाला: मैं अभी तेरे माँ-बाप को कॉल करके तेरी इस हरकत के बारे में बताती हु. मैं अब डर गया था क्यूंकि अगर मेरे माँ-बाप को पता चल गया तो मैं कही का भी नहीं रहूँगा. मैंने खाला से माफ़ी मांगते हुए कहा- (Family sex story)

में: मुझे माफ़ कर दो खाला. प्लीज घर वालो से कुछ मत कहो. मैं तो बस आपसे मोहोब्बत करता हु और कुछ नहीं. खाला: हम दोनों के बीच ऐसा रिश्ता नहीं बन सकता. मैं तेरी खाला हु.

में: खाला प्यार तो आप भी मुझसे करती हो पर आप ज़माने के डर से नहीं बोल पा रही हो. खाला: मैं सारी बातें भूल रही हु. तू भी भूल जा की हमारे बीच कुछ भी हुआ था. अगली स्टोरी में बताउगा मैंने कैसे फातिमा खाला की गांड कैसे मारी|

(Family sex story)

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds