स्कूल की गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा पूरी रात

स्कूल की गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा पूरी रात

नमस्ते, मेरा नाम अमन है। आज में आपको बताने जा रहा हूँ की कैसे में अपनी “स्कूल की गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा पूरी रात”

मेरी उम्र 23 साल है और मैं एक इंजीनियर हूँ. ये बात तब की है जब मैं एक एग्जाम देने मुंबई गया था. मुझे अपनी स्कूल फ्रेंड आशिका के साथ मुंबई जाना था. मेरा और आशिका का ट्रेन में रिजर्वेशन था.

हम दोनों परीक्षा से एक दिन पहले अपने-अपने घर से मुंबई के लिए निकले क्योंकि हमारा रिजर्वेशन था और हमारी ट्रेन रात को 8:30 बजे दिल्ली से थी। आशिका और मैं दोनों बचपन से लेकर 12वीं कक्षा तक साथ-साथ पढ़े हैं

इसलिए उनका और मेरे परिवार का बड़ा घराना है। हम सही समय पर स्टेशन पहुंच गये और अपनी सीट ढूंढ कर लेट गये. आशिका पढ़ाई के कारण थकी हुई थी इसलिए कुछ ही देर में उसे नींद आ गई. (गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा)

मुझे आसानी से नींद नहीं आती इसलिए मैंने अपना ईयरफोन निकाला और गाने सुनने लगा. मुझे हमेशा ट्रेन की खिड़की खोलने की आदत है. मुझे बाहर का नजारा देखना पसंद है इसलिए मैंने खिड़की खोल दी.

रात का समय था, सभी लोग सो रहे थे और ट्रेन में सभी की लाइटें बंद थीं। मेरे सामने वाली सीट पर सो रही आशिका ने अपनी सुविधा के अनुसार क्रॉप टॉप और कैपरी पहन रखी थी।

वैसे मैंने आशिका के बारे में कभी नहीं सोचा था कि वो भी इतनी खूबसूरत है और ये भी मेरे लिए एक विकल्प हो सकती है, लेकिन मैंने उस पर कभी इस नज़र से ध्यान नहीं दिया क्योंकि उसे देखकर मुझे भाई-बहन का एहसास होता था.

ट्रेन की खिड़की से आ रही तेज हवा के कारण उसका क्रॉप टॉप उड़ रहा था. अचानक से उसका टॉप का निचला सिरा उघड़ कर नाभि के ऊपर हो गया। जैसे ही मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया.

मुझे डर भी लग रहा था कि कोई देख न ले. फिर भी मैं डरते डरते उसकी नाभि को देख रहा था. उसका गोरा और पनीर जैसा मुलायम सपाट पेट.. और नाभि के पास काला तिल बहुत आकर्षक लग रहा था।

ये सब मुझे उसे छूने के लिए मजबूर कर रहा था. लेकिन मैं डर गया था इसलिए कुछ नहीं कर सका.. बस देखता रहा। उसे देखते देखते मुझे कब नींद आ गयी, पता ही नहीं चला.

फिर जब सुबह हुई तो वो मुझसे पहले उठ गयी थी. अब मुंबई बस एक स्टेशन दूर था. जैसे ही आशिका मुझे उठाने लगी तो उसकी नजर मेरे लोअर पर पड़ी…वहां तंबू बना हुआ था। ये बात उन्होंने मुझे बाद में बताई.

आशिका ने हंसते हुए मुझे उठाया. उसने अपना मुलायम हाथ मेरे सीने पर रखा और मीठी आवाज में कहा- अमन उठो … मुंबई आने वाला है. वो मुझे उठाने के साथ-साथ मेरे तंबू को देखकर हंस भी रही थी.

जब मैं उठा तो मुझे समझ नहीं आया कि आशिका पागलों की तरह क्यों हंस रही है. मैंने उससे पूछा, लेकिन उसने कुछ नहीं बताया. (गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा)

फिर मैं उठा और उससे पानी की बोतल ले ली, गेट के पास वॉशबेसिन पर जाकर कुल्ला किया, मुँह धोया और वापस जाकर बोतल उसे लौटा दी। वह अब भी हंस रही थी.

मैंने उसकी तरफ गुस्से से देखा और ‘पागल..’ कह कर अपना सामान पैक करने लगा. कुछ देर बाद हमारी ट्रेन मुंबई पहुंच चुकी थी. हम लोग नीचे उतरे और प्लेटफार्म से बाहर आ गये.

वह अब भी हंस रही थी. उसकी आंखों में शरारत थी. मैंने देखा कि आशिका अभी भी मुझ पर बेवजह हंस रही थी. मुझे बहुत गुस्सा आया और मैंने तय कर लिया था कि मैं इसे सबक सिखाकर रहूंगा.

एक होटल जिसे मैंने ऑनलाइन बुक किया था, मैंने दो अलग-अलग बिस्तरों वाला एक कमरा बुक किया था। उसके बाद हमने स्टेशन से टैक्सी ली और उस होटल में पहुंच गये.

मैंने रिसेप्शन पर अपनी बुकिंग बताई और उससे अपने कमरे की चाबी ली और अपने कमरे में आ गया। अभी सुबह के 9 बजे थे. मैंने कमरे का दरवाज़ा खोला ही था कि आशिका जाकर बिस्तर पर कूद गई और लेट गई.

क्योंकि वो बहुत थक चुकी थी, हालाँकि मैं भी बहुत थक गया था। तो मैं भी अपने बिस्तर पर जाकर लेट गया. हम गहरी नींद में थे, लेकिन मेरी परीक्षा 10 बजे से थी… आशिका की परीक्षा 2 बजे से थी।

मैं परीक्षा देने के लिए तैयार होने लगा. जब तक मैं तैयार हुआ तो देखा आशिका सो चुकी थी. मैं परीक्षा केंद्र पर फोन नहीं ले जा सकता था इसलिए मैंने आशिका को अपना फोन दिया और उससे कहा कि मैं परीक्षा देने जा रहा हूं

तुम ध्यान से उठना और अगर घर से फोन आये तो बात करना. उसे झपकी आ गई और वह मान गई और मैंने कमरे को बाहर से दूसरी चाबी से बंद कर दिया और परीक्षा देने के लिए बाहर चला गया।

मैंने एग्जाम दिया, एग्जाम खत्म होने के बाद मैं होटल वापस आ गया. तब तक 2 बज चुके थे. मैंने सोचा कि आशिका परीक्षा देने गयी होगी. जैसे ही मैं अपने कमरे में पहुंचा तो देखा कि आशिका अभी भी सो रही थी.

मैंने उसे जगाया. जैसे ही उसने समय देखा तो 2 बज रहे थे तो वह जोर-जोर से रोने लगी। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँ. मैंने उसे गले लगाया और समझाया कि अब रोने से कुछ नहीं होगा, चिंता मत करो.

वो मेरे सीने से लग कर रो रही थी. मैं उसके बड़े स्तनों को महसूस कर सकता था। इससे मेरा लंड खड़ा होने लगा. उसने मेरे लंड को अपनी चूत पर महसूस किया और तुरंत मुस्कुराने लगी.

मुझे लगा कि वह पागल हो गई है, अभी रो रही थी और अब हँस रही है। आशिका ने मुझसे कहा- ये तुम्हारा तंबू तो ट्रेन में भी खड़ा था. इसीलिए मैं सुबह से हंस रही थी. (गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा)

मैंने भी उसे गले लगाते हुए कहा- हां, रात को जब तुम्हारा टॉप ऊपर हुआ तो मैंने तुम्हारी नाभि देखी थी.. वो बहुत प्यारी थी, इसलिए उसे देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया।

आशिका ने लंड शब्द सुना तो मेरी छाती पर मुक्का मारने लगी और बोली- ये कैसी हवस है.. क्या तुमने कभी सेक्स नहीं किया?

मैंने कहा- अगर किया होता तो बात कुछ और होती. मैं आज तक तुम्हें ये नहीं बता पाया कि तुम मेरी ऑल टाइम क्रश हो. लेकिन पारिवारिक रिश्ते के कारण मैं तुम्हें कभी बता नहीं सका.

वो हैरानी से मेरा चेहरा देखने लगी. मैंने उससे कहा- अच्छा छोड़ो, एग्जाम के बारे में मत सोचो.. मैं किसी को नहीं बताऊंगा। तुम रो मत, मुझे अच्छा महसूस नहीं हो रहा है।

आशिका ने मेरी बात अनसुनी कर दी और मुझ पर छींटाकशी करते हुए साहसपूर्वक बोली- क्या तुम मेरे साथ सेक्स करोगे. हमारा आज का दिन है… कल हमारी ट्रेन है… सोचो!

इस पर मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और अपनी ओर खींच लिया. मैं बिना किसी झिझक के उसे चूमने लगा. वो भी मुझे चूम रही थी. मैंने उसे बहुत देर तक चूमा, वो कहने लगी- तुम मेरे होंठों को खा जाओगे।

Visit Us:-

मैंने हंसते हुए उसे छोड़ दिया और उसका टॉप उतार दिया. उसके अन्दर उसने गुलाबी रंग की ब्रा पहनी हुई थी. मैंने एक पल के लिए उसके मादक स्तनों को देखा और धीरे से उसकी ब्रा उतार दी।

उसने शरमा कर अपनी नज़रें झुका लीं और अपने हाथ अपने चेहरे पर रख लिये। मैं तो उसे देखता ही रह गया. मैंने पहली बार उसके दूध देखे थे.. तो मैं अपने आप पर काबू नहीं रख पाया।

मैंने अपने हाथ से उसके स्तनों को सहलाया, फिर धीरे से एक निप्पल को अपने होंठों में दबा लिया। मेरे होंठों का स्पर्श होते ही उसने अपने शरीर को बहुत तेज कंपकंपी के साथ हिलाया।

मैंने उसके दूध को हाथ से पकड़ा और निप्पल को खूब चूसा. वो भी बहुत कामुक हो रही थी. इसके बाद उसने मेरे कान पर किस किया. उसके गर्म होंठों का एहसास हुआ तो मैं भी गनगना उठा. (गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा)

उसने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिये. फिर गाल पर किस किया. ऐसा करते करते उसने मेरी शर्ट उतार दी. मैं बस उसे देखने जा रहा था. मैं उसकी आंखों में शरारत देख सकता था.

उसने बड़े प्यार से मेरे सीने के निपल्स को चूमा और अपने होंठों में दबा कर चूसने लगी. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँ. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, ऐसा लग रहा था मानो मैं सातवें आसमान पर उड़ रहा हूँ।

मेरा लंड बहुत सख्त हो गया था. मुझे बहुत दर्द हो रहा था और मैं बहुत अधीर थी. मैंने अपना हाथ उसकी कमर पर रखा और अपनी उंगलियाँ उसके लोअर की इलास्टिक में फंसा दीं।

वो समझ गयी और लोअर उतारने में मेरा साथ देने लगी. लोअर के बाद मैंने उसकी पैंटी भी नीचे खींच दी. मैंने जिंदगी में पहली बार किसी लड़की की चूत देखी थी.

उसने मेरा लंड पकड़ लिया और अपनी चूत पर रगड़ने लगी. मैंने उसकी चूत के दाने को छेड़ा तो वो आह करके उठ गई. उसने मेरे कान में कहा- पहले एक बार चोद लो … फिर कुछ करना.

मुझे भी आग लग रही थी, मेरा लंड तन गया था. मैंने उसे बिस्तर पर गिरा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया। लेटते ही उसने अपनी टांगें फैला दीं.

मैंने अपना लंड उसकी चूत की दरार में रखा और घुसा दिया. उसकी चूत में बहुत सारा पानी था इसलिए चूत पूरी गीली हो चुकी थी. मेरा लंड एकदम से अन्दर सरक गया.

जब लंड का मोटा सुपारा चूत की फांकों में घुसा तो उसकी कराह निकल गयी. मैंने उसकी आहों और कराहों को नजरअंदाज करते हुए अपना लंड फिर से जोर से उसकी चूत में डाला, इस बार लंड काफी अंदर तक चला गया.

उसे बहुत दर्द हो रहा था. चूंकि यह मेरा भी पहली बार था तो मुझे भी बहुत दर्द हो रहा था. लेकिन सेक्स का जोश इतना ज्यादा था कि मुझे इस दर्द में भी मजा आ रहा था.

चार-पांच झटकों के बाद वो भी दर्द सहने के लायक हो गयी. चूंकि दोनों भरे हुए बैठे थे तो हम दोनों पांच मिनट में ही झड़ गये. इस पहले स्खलन के बाद इतनी थकान हो गई कि हमें कब नींद आ गई, पता ही नहीं चला.

हम दोनों शाम को करीब 7 बजे उठे तो हम दोनों एक दूसरे से नजर नहीं मिला पा रहे थे. एक बार फिर से मेरा चोदने का मन हो गया और हम दोनों फिर से गर्म होने लगे. (गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा)

पूरी रात चुदाई का माहौल चलता रहा. सुबह चार बजे सो गये. अगले दिन जब वह उठे तो उन्हें हल्का बुखार था। शाम की ट्रेन थी इसलिए मैंने उसके दर्द को ख़त्म करने के लिए कुछ गर्भनिरोधक दवा ला दी। खाना वगैरह खाकर हम दोनों फिर सो गये.

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds