दोस्त की मामी की गांड मारी | Family sex story

दोस्त की मामी की गांड मारी | Family sex story

wildfantasystory family sex story मेरे दोस्त की मामी के साथ सेक्स की है. मैंने दोस्त के कहने से उन्हें फोन कॉल पर कैसे पटाया और होटल में ले जाकर चोदा.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राहुल है. मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ.
मेरी हाइट 5 फीट 10 इंच है और रंग गोरा है. मैं एक औसत दिखने वाला लड़का हूँ.

आज मैं अपनी पहली कहानी लिखने जा रहा हूँ, आशा करता हूँ कि यह wildfantasystory family sex story आपको पसंद आएगी.

मेरी यह कहानी दोस्त की मामी के साथ मेरी लाइफ की पहली सेक्स की सत्य घटना है.

मैं और मेरे दोस्त के घर पास-पास में ही है, हम दोनों में अच्छी दोस्ती है.

एक दिन ऐसे ही बात बात में उसने बताया कि उसकी मामी उसके पीछे पड़ी हैं. उसको परेशान करती हैं.
तो मैंने कहा- उनका नंबर मुझे दे दे. देखता हूँ कि मामी चालू माल हैं या नहीं. इससे तेरा पीछा भी छूट जाएगा और यदि वो चालू नहीं हुईं तो तू अपने हिसाब से देख लेना कि क्या करना है. (Family sex story)

दोस्त ने नम्बर दिया.
मैंने उसके सामने ही मामी को मैसेज किया और मिस कॉल कर दिया.

थोड़ी देर में उनका जवाब आ गया और पूछने लगीं कि कौन हो और नंबर कहां से मिला.
पर मैंने कुछ नहीं बताया और कॉल काट दिया.

उसके थोड़ी देर बाद वापस कॉल आया और इस बार हमारी बात शुरू हो गयी.
मैंने उन्हें अपनी लच्छेदार बातों से खुश कर दिया और वो मुझसे बात करने लगीं.

उसके बाद कॉल और मैसेज का जवाब आना शुरू हुआ तो बातचीत का सिलसिला शुरू हो गया.

दोस्त की मामी के बारे में बता दूँ कि उनकी उम्र 29 साल है और उनका एक बेटा है. (Family sex story)
मामी का नाम माया है उनका फिगर 34-30-38 का है.

उसके बाद जब उनसे बात होना शुरू हुई तो पता चला कि उनका पति दारू पीकर घर आकर झगड़ा करता है.
उन दोनों की आपस में कुछ ठीक नहीं बनती है.

माया मामी से मेरी दोस्ती आगे बढ़ती रही और धीरे धीरे खुल कर बातें होनी लगीं.
पर अभी तक मैंने उन्हें ये नहीं बताया कि मैं उन्हें जानता हूँ और उनसे कैसे जुड़ा.

व्हाट्सैप पर मैसेज से बातें होने लगीं उसके बाद कॉल पर भी बातें चलने लगीं.
दिन में वीडियो कॉल पर भी बातें होने लगीं.

काफी देर देर तक और कई कई बार बातें होने लगीं.
उनसे कॉल पर बात दिन में ही हो पाती थी क्योंकि रात में बात करने पर उनका पति शक करता था.

रात के उनके पति के सोने के बाद मैसेज से बात हो जाती थी.
फिर एक दिन मैंने उन्हें अपने दिल की बात बता दी कि मैं उन्हें पसंद करता हूँ और उनसे मिलना चाहता हूँ.

उन्होंने भी कहा कि वो भी मुझसे मिलना चाहती हैं. (Family sex story)
वीडियो कॉल पर तो बहुत बार बात हो चुकी थी.

हम दोनों ने एक दूसरे को अपनी अपनी फोटो भेजना चालू कर दी और उनकी तारीफ़ करना शुरू कर दी.
इस तरह से सेक्स चैट होना शुरू हो चुकी थी.

रात रात भर दोनों एक दूसरे को अपने नग्न जिस्म की फ़ोटो भेजते और एक दूसरे में खो जाते.
वीडियो काल में एक दूसरे को देख कर अपना अपना पानी निकाल देते थे.

ऐसे ही दोनों की तड़प दिन पर दिन बढ़ती चली गई.

उसके बाद मिलने का प्रोग्राम बन रहा था.
पर उन्हें थोड़ा दूर होने से और घर से उतनी देर बाहर रहने की टेंशन थी क्योंकि सास सवाल जवाब करती थी और पति को बता देती थी.

फिर बहुत दिनों बाद मौका मिला.
तब उनकी एक सहेली की शादी थी.
हम दोनों ने मिलने का प्लान बनाया. (Family sex story)

मामी ने कहा- मैं शादी का बोल कर चली जाऊंगी और देर शाम तक घर आऊंगी.

इसके लिए उन्होंने अपनी सहेली का भी सहारा लिया और उसे अगले दिन घर भी बुला लिया, जिससे ये लगे कि वो उसके साथ ही जा रही हैं.

मैंने उनसे अगले दिन 9 बजे सुबह मिलने को कहा था.
उसके बाद हम गार्डन में गए.
वहां हम पहली बार मिले और बात शुरू हुई.
दोनों एक दूसरे को पास पाकर गर्म हो रहे थे.

धीरे धीरे एक दूसरे से खुलने लगे, एक दूसरे के जिस्म से खेलने लगे पर पब्लिक प्लेस था और सबके होने से थोड़ा डर भी रहे थे.

फिर उन्होंने कहा- कहीं और चलते हैं. यहां बहुत सारे लोग हैं.
मैं समझ गया कि ये क्या चाहती हैं.

वहां से निकलते समय मैंने अपने उस दोस्त को कॉल किया, जिसका होटल है.
उसने कहा- ठीक है आ जाओ, इंतजाम हो जाएगा.

उसके बाद कार में एक दूसरे को छूना और परेशान करना चलता रहा. (Family sex story)

फिर हम दोनों होटल पहुंच गए और सीधे ऊपर के रूम में चले गए.
हम दोनों बेड पर बैठ गए.

अभी एक अलग माहौल बन गया था.
दोनों ही हिचक रहे थे.

फिर नार्मल बातें शुरू हुईं तो शर्म चली गयी.

मैंने उनको बेड पर गिरा दिया और होंठ से होंठ मिला कर चुम्मी का मजा लेने लगे.

मैं एक हाथ से  के बूब्स दबाने लगा.
वो धीरे धीरे कसमसा रही थीं और गर्म होती जा रही थीं.

जिसने भी मैरिड भाभी से सेक्स किया होगा, उसको पता ही होगा कि उनमें कितनी आग और सेक्स की प्यास रहती है. मजा ही आ जाता है … बस एक बार माहौल बन भर जाए.

Wild Fantasy Story

फिर धीरे धीरे दोनों ने एक दूसरे के कपड़े खोलना शुरू किए.

मुझे साड़ी में सेक्स करना बहुत पसंद है, धीरे धीरे कपड़े खोलने का अलग ही मजा है.
जल्द ही वो सिर्फ ब्रा पैंटी में थीं.

उसके बाद मैंने मुँह से ब्रा का हुक खोल दिया और पीठ पर किस करने लगा.
मामी की सिसकारियां और तेज हो गईं.

फिर मैं उनके एक दूध को मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे को हाथ से दबाता रहा.

बहुत देर दबाने चूसने के बाद मैंने पैंटी में हाथ डाल दिया. (Family sex story)
बिल्कुल चिकनी चूत थी और गीली हो चुकी थी.

फिर धीरे से मैंने चूत में उंगली डाल दी और किस करने लगा.
मामी की सिसकारियां अब ‘आह उह्ह्ह …’ में बदलने लगी थीं.

मैंने ये देख कर अपनी उंगली की रफ्तार और तेज कर दी.

मामी मेरी पीठ पर अपने नाख़ून गड़ाने लगीं.

वो कहने लगीं- बस अब जल्दी से लंड डाल दो … बर्दाश्त नहीं हो रहा है.
मैंने कहा- अभी रुको तो … अभी इतनी जल्दी नहीं पेलूँगा.

उसके बाद मैंने उनकी पैंटी उतार कर उनके दोनों पैरों को खोल दिया और चूत में अपना मुँह लगा दिया.

वो बहुत जोर से ‘अआह्ह उह्ह्ह …’ करने लगीं. (Family sex story)

मगर मैंने चूत चाटना चालू रखा और वो कसमसाती हुई मेरे सर को अपनी चूत में दबाती रहीं.

मामी कहने लगीं- आंह … ऐसा मजा पहली बार मिल रहा है … मैं तो तेरी दीवानी हो गयी हूँ.
थोड़ी देर के बाद वो मेरे मुँह में झड़ गईं.

अब तक मामी का दो बार पानी निकल चुका था.
वो कहने लगीं- प्लीज मुझे चोद दो न!

मैंने कहा- रुको अभी … जरा लंड को चूस दो.
अपना लंड मैंने उनके मुँह में डाल दिया.
वो मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं.

सच में बड़ा झकास लंड चूस रही थीं वो … जन्नत का मजा आ गया.
थोड़ी देर तक लंड चुसवाने के बाद मैं उनके मुँह में ही झड़ गया. वो भी सारा पानी पी गईं.

उन्होंने लंड को मुँह से निकाला ही नहीं, उसे लगातार चूसती रहीं. (Family sex story)
नतीजा ये निकला कि लंड फिर से खड़ा हो गया.

मैंने भी अब देर नहीं की और उन्हें नीचे लेटा कर उनकी गांड के नीचे तकिया रख लिया.
लौड़े पर कंडोम लगा कर उनकी चूत की फांकों में लंड का सुपारा रगड़ा.

मामी की चूत तो गीली थी ही … मैंने लंड को छेद पर रख कर धीरे से अन्दर डाल दिया.
तब मामी ने कराह कर कहा- आह थोड़ा रुको … तुम्हारा मेरे पति से बड़ा है.

उसके बाद मैंने एक तेज झटका और मामी की चूत चिर गई.
मामी कसमसाने लगीं और चिल्ला पड़ीं- आह मार दिया … मेरी फट गई.

मैंने उनके होंठ बंद किए और एक झटका और मार दिया.
मामी पूरी हिल गईं और छटपटाने लगीं.

मैंने उन्हें छोड़ा नहीं और धक्के देना शुरू कर दिया. (Family sex story)

उन्होंने अपने दसों नाख़ून मेरी पीठ पर गढ़ा दिए और रूम में अआह उह्ह्हह की आवाज होने लगी.

कुछ देर बाद जब वो भी कमर उठा कर साथ देने लगीं तो चुदाई का मजा आने लगा.
मैंने मामी के दोनों पैर हवा में उठा कर उन्हें दबादब चोदने लगा.

फच फच की आवाज होने लगी क्योंकि मामी की चूत पूरी गीली हो चुकी थी.
फिर मैंने उन्हें पलट कर घोड़ी बनाया और पीछे से लंड डाल दिया.

मैं माया के बाल पकड़ कर झटके मारने लगा.
ये सब मैंने वीडियो देख देख कर सीख लिया था.

मामी की आवाज और तेज हो गयी थी; उनका पानी निकलने को था.

कुछ पल बाद वो झड़ गईं पर मेरा अभी हुआ नहीं था.
वो छोड़ने के लिए कहने लगीं पर मैं रुका नहीं.(Family sex story)

कुछ देर बाद मामी फिर से चार्ज हो गईं.
उसके बाद मैंने उन्हें ऊपर आने को कहा.

वे मेरे खड़े लंड को पकड़ कर चूत में डालने लगीं और लंड अन्दर लेकर कूदने लगीं.

अपनी चूचियां चुसवाती हुई मामी कहने लगीं- इतना मजा लाइफ में आज पहली बार आया है. अब तो जब बोलोगे, मैं मिलने आ जाउंगी.
हम दोनों को सेक्स करते हुए 25 मिनट हो चुके थे.

मैंने उन्हें वापस नीचे लिया और जोर जोर से झटके देने लगा.
वो समझ गईं कि मेरा होने वाला है, इसलिए उन्होंने मुझे और जोर से पकड़ लिया.

फिर मेरा पानी कंडोम में निकल गया.
मैं उनके ऊपर ही लेट गया.(Family sex story)

हम दोनों हांफ रहे थे.
फिर दोनों बाथरूम में गए और एक दूसरे को साफ करने लगे.
उधर फिर से माहौल बनने लगा.

वो बोलीं- वापस बेड पर चलते हैं.
हम दोनों फिर से बेड पर आ गए.

हमारे पास अभी बहुत समय बचा हुआ था तो हम फिर से एक दूसरे से गुंथ गए और दूसरा राउंड शुरू हो गया.

इस बार मैंने उनको बेड के कोने पर लेकर लंड चूत में डाल दिया और झटके देना शुरू कर दिए.
हर झटके के साथ मामी के बूब्स जबरदस्त हिल रहे थे.

थोड़ी देर बाद हमने पोजीशन बदल ली और अलग अलग आसन में मैंने उन्हें काफी देर तक चोदा.
वो भी मेरे लंड से चुदाई करवाके मस्त हो गयी थीं.

फिर बेड पर लेटे हुआ मेरा लंड उनकी गांड को छू रहा था तो मैंने गांड पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.
वो समझ गईं कि मैं क्या चाहता हूँ.(Family sex story)

तो वो मना करने लगीं- नहीं, मैंने आज तक पीछे नहीं लिया है और पति को भी नहीं करने दिया है. मैंने सुना है उधर से करने में बहुत दर्द होता है.
मैंने उन्हें समझाया कि थोड़ा सा ही दर्द होगा. मैं धीरे धीरे करूँगा. ज्यादा दर्द हो तो बता देना, मैं छोड़ दूंगा.

वो कहने लगीं- जब चूत का ये हाल हुआ है, तो गांड का क्या होगा?
पर थोड़ी देर में कैसे भी करके मामी गांड मरवाने के लिए मान ही गईं.

मैंने वैसलीन ली, जो उनके पर्स में थी.

खूब सारी वैसलीन मैंने उनकी गांड के छेद पर लगा दी.(Family sex story)
कंडोम में तो चिकनाहट होती ही है.

फिर मैंने जैसे ही लंड का टोपा अन्दर डाला, वो चिल्लाने लगीं और मना करने लगीं ‘अआह्ह्ह आह्ह … मत करो … नहीं पेलो … निकाल लो.’

यदि मैं निकाल लेता तो वो फिर नहीं डालने देतीं … इसलिए मैं बस थोड़ी देर रुका रहा और पीठ पर किस करता रहा.
इससे वो शांत हो गईं.

उसी समय मैंने एक झटका और मार दिया.
अब मैंने सोच लिया था कि रुकना नहीं है, यदि रुका तो नहीं हो पाएगा.

इसलिए मैंने धक्के मारना चालू रखे.
वो बोले जा रही थीं- आंह फाड़ दी आज तो … आंह छोड़ दो … रुक जाओ प्लीज. छोड़ दो!

फिर जब थोड़ी देर बाद उन्हें मजा आने लगा तो साथ देने लगीं.(Family sex story)
मैंने भी तेजी लाते हुए झटके देना शुरू कर दिए.

हर झटके के साथ कमरे में आह उह्ह फच फच की आवाज बढ़ती चली गयी और धक्के लगते ही गए.
थोड़ी देर बाद गांड ज्यादा टाइट होने की वजह ज्यादा देर रुकना नहीं हो पा रहा था.
जिससे ये हुआ कि 10-15 धक्के देने के बाद दोनों का पानी एक साथ निकल गया.

हम दोनों बेड पर गिर गए.
मैंने देखा कि मामी की गांड से खून निकल रहा था.

फिर बाथरूम में जाकर खुद को साफ़ किया, पर चलने में थोड़ी दिक्कत हो रही थी.

मैंने पूछा- आपकी सास पूछेंगी कि क्या हुआ तो आप क्या कहेंगी?
मामी ने कहा- बोल दूंगी कि पैर में मोच आ गयी है. इतनी अच्छी चुदाई और ऐसे पल के लिए इतना झूठ तो बोलना ही पड़ेगा.

उसके बाद हम दोनों ने एक दूसरे को गले लगा लिया और फिर से मिलने का वादा करके हम अपने अपने घर को निकल गए.
उस दिन होटल के रूम में हमने 4 बार चुदाई की और दोनों ने अपनी अपनी प्यास बुझाई.

मुझे मामी कि चुदाई में इतना मजा आया था कि कैसे बताऊं.(Family sex story)
बस ये समझ लीजिए कि जो ख़ुशी पहले सेक्स के बाद प्राप्त होती है, वो मिली थी.

जिसने इस सुख को महसूस किया होगा, वही समझ सकता है.

मामी को उनके घर के पास ड्राप करके मैं अपने घर आ गया.
उसके बाद तो हमारा मिलना चलता रहा.
वो सब कैसे कैसे हुआ, वो कहानी अगली बार बताऊंगा.(Family sex story)

मामी की चुदाई के बाद तो मैंने बहुत सारी महिलाओं और लड़कियों के साथ सेक्स किया है.
यदि आप लोगों का प्यार मिलता रहा और जवाब मिलता रहा, तो उनकी सेक्स कहानी भी आपके लिए लिखता रहूँगा.
क्योंकि लोगों का प्यार ही तो है जो एक दूसरे से जोड़ कर रखता है.

आपको सेक्स की शुरूआत दोस्त की मामी के साथ कैसी लगी?
कमेंट करके और मेल करके जरुर बताना. मुझे इंतजार रहेगा.
wildfantasystory family sex story 
मेरी ईमेल आईडी है
[email protected]

(Family sex story)

Escorts in Delhi

This will close in 0 seconds