मौसी की बेटी की भड़कती कामवासना – कजिन सिस पोर्न कहानी

मौसी की बेटी की भड़कती कामवासना – कजिन सिस पोर्न कहानी

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “मौसी की बेटी की भड़कती कामवासना – कजिन सिस पोर्न कहानी”। यह कहानी अखिल की है आगे की कहानी वह आपको खुद बताएँगे मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

कजिन सिस पोर्न कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी मौसी के घर एक शादी में गया तो उनकी जवान बेटी मुझसे ज्यादा घुलने-मिलने लगी थी. वह रात को मेरे साथ सोई और…

कामुकता के प्रेमियों को नमस्कार.
मेरा नाम अखिल है, मैं 22 साल का हूँ।

मैं 6 फीट लंबा हूं और मेरे लंड का आकार काफी अच्छा है। यह सात इंच लंबा और ढाई इंच मोटा है। ये किसी भी लड़की की चूत फाड़ने के लिए काफी है.

आज मैं पहली बार आप सभी के सामने अपनी सच्ची सेक्स कहानी लिख रहा हूँ.

यह घटना एक साल पहले की है जब मेरी मौसी के बड़े बेटे की शादी थी.
मैं अपने परिवार के साथ उनके घर गया.

हम सब शादी से दो दिन पहले ही पहुंच गये थे. हम लोग रात के करीब आठ बजे वहां पहुंच गये.

मौसा हमें लेने अपनी कार से स्टेशन आये थे.
हम सब उनके साथ घर गये और सबसे मिले। फिर सबने खाना खाया और आपस में बातें करने लगे.

आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि मेरी मौसी का एक बेटा है, जिसका नाम अमन है और एक बेटी है, जिसका नाम Ayushi है.

आयुषी 21 साल की है और उसका फिगर सेक्सी है. उनके स्तनों का आकार 32 इंच है. वह बहुत सेक्सी लड़की है. उसे देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाये.

हालाँकि मेरे मन में उसके लिए ऐसी कोई वासनापूर्ण भावना नहीं थी, लेकिन समय को कुछ और ही मंजूर था।

हम सबको बातें करते हुए काफी समय हो गया था. मौसी ने हम सबके सोने के लिए पास में ही एक फ्लैट किराए पर ले लिया था, इसलिए हम सबको सोने के लिए वहीं जाना पड़ा। आयुषी सबके साथ वहां आई थी. (कजिन सिस पोर्न कहानी)

नीचे दो कमरे और एक हॉल था.
ऊपरी मंजिल पर तीन कमरे थे। ऊपर के कमरों में पहले से ही कुछ मेहमान ठहरे हुए थे। हमें नीचे के कमरों में सोना पड़ा.

मैं हॉल में ही फर्श पर बिछे गद्दे पर लेट गया.
सोफे पर ठीक से सोने में दिक्कत हो रही थी तो मैं उस पर लेट गया.

कुछ देर बाद आयुषी सभी को सो जाने के लिए कहकर बाहर आ गई।

जब मैंने उसे देखा तो मुझे लगा कि शायद वो अपने घर वापस जा रही है.
लेकिन वो सोने के लिए अपना कम्बल लेकर आई और मेरे बगल में लेट गई.

मुझे थोड़ा अजीब लगा. मैंने सोचा कि उसे यहीं सोना होगा.
वैसे भी शादी वाले घर में होता ही यह है कि जिसे जहां जगह मिलती है, वह वहीं लेट जाता है।

लेटते ही उसने आंखें बंद कर लीं और सोने लगी. मैंने भी उसे परेशान नहीं किया.
आयुषी थक गई और जल्दी सो गई. वो मेरे सीने पर हाथ रख कर सो गयी थी.

सब लोग सो गये थे लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी. मैंने अपना फोन चलाना शुरू कर दिया.
कुछ देर बाद मुझे नींद आने लगी तो मैं भी सोने लगा. (Hindi Sex Story)

कुछ देर बाद मैंने महसूस किया और देखा कि आयुषी मुझसे चिपकी हुई है. उसके ऊपर से कंबल हटा हुआ था.
जनवरी की रात थी इसलिए थोड़ी ठंड थी. मैंने आयुषी को कम्बल ओढ़ाया और सो गया.

सुबह जब मैं उठा तो वो मेरे पास नहीं थी.

मॉम बोलीं- हम सब आज शादी की शॉपिंग करने जा रहे हैं. उठो और जल्दी से नहा लो.
मैंने हाँ कहा और नहा कर तैयार हो गया.

मैं चाय नाश्ता करने बैठा ही था कि तभी आयुषी अपना कप लेकर मेरे पास आई।
मैंने मुस्कुरा कर उसकी तरफ देखा. (कजिन सिस पोर्न कहानी)

वह भी मुस्कुरा दी. आयुषी ने मुझसे पूछा कि क्या तुम रात को ठीक से सोये?
मैने हां कह दिया।

वह फिर मुस्कुराई. मैंने उसे मुस्कुराते हुए देखा तो पूछा- क्यों, क्या हुआ?
वो बात को टालते हुए बोली- कुछ नहीं. क्या मैं मुस्कुरा भी नहीं सकती?

मेंने कुछ नहीं कहा।
फिर हम सब शॉपिंग करने गये.

वह कार में मेरे करीब बैठी थी.
उसके बदन की गर्मी से मुझे एक अजीब सा आराम मिल रहा था.

वो भी मेरी गोद में हाथ रख कर बैठी थी जिससे मेरे लंड को कुछ हो रहा था.
अब लंड को समझ नहीं आता कि यह किसका हाथ है और इसे कब खड़ा होना चाहिए या नहीं होना चाहिए।

मेरा लंड सख्त होने लगा.
आयुषी को भी लंड की कठोरता का अहसास होने लगा.

उस वक्त मेरी हालत अजीब हो गई थी. ना तो साला लंड बैठने को तैयार था और ना ही आयुषी अपना हाथ हटा रही थी.

मैं उससे हाथ हटाने के लिए भी नहीं कह सकता था. कार में सभी लोग एक दूसरे से सटकर बैठे थे.
खैर… किसी तरह शॉपिंग हो गई और लौटते वक्त भी वो जानबूझ कर मेरे करीब ही बैठी।

गाड़ी से उतरते समय उसने मेरे लंड को पकड़ कर ऐसे मसल दिया मानो उसने नीचे उतरने के लिए किसी चीज का सहारा ले लिया हो. (कजिन सिस पोर्न कहानी)

मेरे लंड से दर्द उठा. मैंने दर्द भरी नजरों से उसकी तरफ देखा और वो आंख मार कर नीचे उतर गयी.
रात को वो फिर मेरे पास सोने आ गयी. हम दोनों काफी देर तक बातें करते रहे.

उसने पूछा- कॉलेज कैसा चल रहा है?
मैंने कहा- ठीक चल रहा है.

फिर उसने पूछा- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?
मुझे अजीब लगा, मैंने कहा- क्यों पूछ रही हो?
उसने कहा- सबकी होती है तुम्हारी भी होगी!

मैंने कहा- नहीं, अभी मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.
वह फिर मुस्कुरा दी.

मैंने पूछा- क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है?
वो बोली- नहीं, मैंने घर वालों के डर से अभी तक किसी लड़के से दोस्ती नहीं की है.

मैंने कहा- ये थोड़ा अजीब है कि इतनी खूबसूरत लड़की का कोई बॉयफ्रेंड नहीं है.
उसने पूछा- मैं तुम्हें कैसी लगती हूँ?

मैंने कहा- हीरोइन की तरह!
वह मुस्कराने लगी।

उसके बाद उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- मैं भी तुम्हें पसंद करती हूं.
ऐसे ही बातें करते करते हम दोनों सो गये.

रात को जब मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि उसका हाथ मेरे अंडरवियर में था और वो मेरे लंड को आगे-पीछे कर रही थी. इससे मेरा लंड खड़ा होकर लोहे की रॉड जैसा हो गया था.

मैंने भी अपना हाथ उसके Big Boobs पर रख दिया और उन्हें दबाने लगा।
उसके बाद मैंने उसकी ब्रा के अंदर हाथ डाल दिया और उसके मम्मों को दबाने लगा.
उसके स्तन काफी बड़े थे.

उसके बाद मैंने उसकी पैंटी में हाथ डाला और उसकी चूत की फांक में एक उंगली डाल दी.
वह सिहर उठी. (कजिन सिस पोर्न कहानी)

क्या रसीली चूत थी, पूरी पानी से भीगी हुई थी।
उंगली घुमाने पर भी मलाई जैसा मुलायम अहसास हो रहा था.

उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल थे जो उसकी चूत को और भी खूबसूरत बना रहे थे.

चूत में उंगली करने के बाद वो अचानक खुल गईं और मुझे चूमने लगीं.
उसकी चूत उत्तेजित हो चुकी थी और मैं भी उसे चोदने के मूड में था.
मैं भी उसके मम्मों को चूसने और दबाने लगा.

कुछ ही देर में वो बहुत गर्म हो गयी थी.
उसके बाद हम दोनों ने अपने सारे कपड़े उतार दिये.
मैंने कहा- क्या तुम लंड मुँह में लेना चाहोगी?

वो जल्दी से तैयार हो गयी और लंड के पास मुँह करके लेट गयी. उसने मेरा लंड पकड़ा और अपने मुँह में ले लिया.
वो मेरे लंड को अपने मुँह में आगे-पीछे करने लगी, इससे मैं सातवें आसमान पर था।

कुछ ही देर में उसने लंड को चूस-चूस कर लाल कर दिया था.
कुछ देर बाद मैंने कहा- मैं झड़ने वाला हूँ.

वो बोली- राजा, अपना माल मेरे मुँह में गिराओ, मैं पीना चाहती हूँ।
मैंने सारा वीर्य उसके मुँह में उगल दिया. उसने बिल्ली की तरह मेरा वीर्य मलाई समझ कर खा लिया और लंड चाटने लगी.

उसके बाद मैंने उसे वापस अपने सीने से लगा लिया और उसके होंठों को चूमने लगा.
वो भी मेरा साथ देने लगी. (Hindi Sex Stories)

वो बोली- अब मुझे मत तड़पाओ, चोदो मुझे!

वो बहुत गरम हो गयी थी.
उसकी चूत पाव रोटी की तरह फूली हुई थी.

मैं उसकी टाँगों के बीच आ गया और उसकी टाँगें फैला दीं और अपनी जीभ उसकी चूत के बीच में रख दी।
उसकी चूत से एक अलग सी खुशबू आ रही थी. (कजिन सिस पोर्न कहानी)
मैं चूत को चूसने लगा.

अब वह ऐंठने लगी.
कभी मैं उसकी चूत को काट भी लेता तो कभी उसकी चूत के छेद में अपनी जीभ डालने लगता.

उसने भी मेरा सिर पकड़ कर अपनी चूत पर दबा दिया.
कुछ देर तक अपनी चूत चटवाने के बाद वो झड़ गयी और उसका सारा रस मेरे मुँह में चला गया.

मैंने भी सारा पानी चाट लिया और उसकी चूत साफ़ कर दी।

उसके बाद मैंने उसकी चूत पर थोड़ा थूक लगाया और लंड को अन्दर डालने की कोशिश करने लगा.
लेकिन जैसे ही मैं झटका मारता तो लंड फिसल जाता.

ऐसा दो तीन बार हुआ क्योंकि उसकी बहुत Tight Chut थी.
ये देखकर वो हंसने लगीं.

मैंने भी मन में सोच लिया कि इस बार तो लंड अन्दर डाल कर ही रहूँगा.

मैंने फिर से थोड़ा थूक चूत पर लगाया और लंड का टोपा छेद पर रखा और एक जोरदार झटका मारा.
इस बार आधा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ सीधा अन्दर चला गया. (कजिन सिस पोर्न कहानी)
मुझे ऐसा लग रहा था मानो मेरा लंड किसी जलती भट्टी में घुस गया हो.

वह चिल्लाने की कोशिश करने लगी.
तो मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया.

वह संघर्ष करने लगी.
मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया.

वो कहने लगी- प्लीज़ इसे बाहर निकालो, मैं मर जाऊँगी, मुझे बहुत दर्द हो रहा है।
लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी, अपना लंड चूत में ही फंसाये रखा.

कुछ देर बाद वो शांत हो गई तो मैंने भी अपना लंड अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया।
अब उसे भी मजा आ रहा था.

वो कामुक सिसकारियां लेने लगी- आह आह आह … ओह आओ और तेजी से Chut Chudai करो … आह आह मजा आ रहा है. मैं भी अपना लंड तेजी से अन्दर-बाहर करने लगा।

मैंने कहा- अभी तो लंड आधा ही गया है.
वो बोली- तो फिर पूरा डाल कर चोदो!

मैंने एक तेज़ झटका मारा और पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया.
करीब पंद्रह मिनट की जोरदार चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था.

मैंने देखा तो वो फिर से झड़ चुकी थी. मैंने कहा कि मैं झड़ने वाला हूँ, कहाँ निकालूँ?
उन्होंने कहा कि अंदर ही निकाल दो. (कजिन सिस पोर्न कहानी)

कुछ जोरदार धक्कों के साथ मेरा वीर्य उसकी चूत में समा गया.
मैं भी ढीला पड़ गया और उसके ऊपर लेट गया और उसके होंठों को चूसने लगा.

उसने कहा- अखिल आई लव यू.
मैंने भी उससे कहा ‘मैं भी तुमसे प्यार करता हूं।

उस रात हमने तीन बार जोरदार चुदाई की, जिसमें एक बार मैंने उसे कुतिया बनाकर उसकी Moti Gand भी मारी.
अगले दिन शादी थी. उसके बाद मैं पांचवें दिन वापस आ गया.

अब हम दोनों फोन पर बातें करने लगे और फोन पर ही सेक्स करने लगे.
अब हम जब भी मिलते हैं तो सेक्स जरूर करते हैं.

तो दोस्तो, आप सबको मेरी मौसेरी बहन की चुदाई कैसी लगी?
आप सबको मेरी कजिन सिस पोर्न कहानी कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएं.

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasystory.com” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Mumbai Call Girls

This will close in 0 seconds