बूब्स और चुत दिखा कर मुठ मरवाई।

बूब्स और चुत दिखा कर मुठ मरवाई।

आज मैं आपको अपनी कहानी बताने जा रहा हूं जो कि बूब्स और चुत दिखा कर मुठ मरवाई थी। ऐसी और अधिक भारतीय सेक्स कहानियों को हिंदी और अंग्रेजी में पढ़ने के लिए वाइल्ड wildfantasystory.com पर जाएं।

मैं और Maya Arora अलग शहर में रहते हैं इसलिय हम सिरफ फिन पे ही बात कर पाते हैं कभी कभी ही मिल पाते हैं जब जो मेरे (अपने घर) शहर में आती है या फिर जब मैं वहा जाता हूं हम दोनो फोन सेक्स करता है जब भी मन करता है, और ये बात उसे विद्या को भी बता के राखी है की हम लोग फोन सेक्स करते हैं

एक बार मैं बहुत दिनों से माया अरोड़ा से मिल नहीं पाया था सिरफ फोन सेक्स ही चल रहा था उसि बीच विद्या को कुछ किताबों की जरूरत पड़ी तो उसे मुझसे कहा मैंने कहा मेरे पास किताबें है पर कहा राखी है ध्यान नहीं होगा कहा ठीक है ढूंढ लो फिर कॉल कर देना मैं लेने आ जाऊंगी।

फिर माई है बात को भूल गया। फिर इक मेरे घर में कोई नहीं था तो मैं बीएफ की सीडी लगा कर देख रहा था अचानक दोर बेल बाजी मैंने टीवी बैंड करके देखा विद्या मेरे घर आ गई और मुझसे किताबें मांगे लगी मैंने कहा की धुंध के दे दोंगा उसे और कहा दे दिया चलो अभी धोंडो।

उस दिन मेरे घर में भी मैं नहीं था मैंने कहा चलो साथ में हम दोनो मेरे कमरे चले गए और मेरे स्टडी टेबल माई बुक्स ढूंढ़ने लगे न जाने हुए भी 2-3 बार बड़े बड़े स्तन मुझसे परा गए ध्यान नहीं दिया..

किताबें धो के हम दोनो वपस हाल में उसने पुचा कब जा रहे हैं माया अरोड़ा से मिलने मैंने कहा अभी तो कुछ और दिन नहीं जा सकता बहुत कम है तो उसे पूछ और जिंदगी कैसी चल रही है। मैंने कहा कौन सी लाइफ यार लाइफ में तो अब एक ही काम ध्यान में रहता है तो उसे झटके से कहा क्या सेक्स।

तो मैंने कहा यार पहले से फोन से काम हो जाता था पर अब तो सच में होने के बाद ही चेन आएगा मैं तो पहले से ही गरम था मैंने उससे कहा और तेरा क्या हाल है तेरा लड़का फ्रेंड तो यही है तो टॉप उसे है पर हम लोग ये सब काम नहीं करते मेरा मज़ाक से कहा कुन क्या उसके पास नहीं।

वो मुझे घोरते हुई बोली आसी बात नहीं पर हम लोग शादी के बाद ही ये सब करेंगे मैं बोला हां यार शादी के बाद ही ठीक रहता है साथ में दिन रात रहो तो जब मन बाद तब कर सकते हैं। मैंने उसे ऐसे ही कहा दिया यार पता नहीं आज कल कुन बहुत ज्यादा सेक्स करने का मन करता है।

तो उसे नियंत्रित करें करो थोड़ा बहुत तो सब लगता है पर सब तो ऐसे नहीं बोले रहते न मैंने कहा पर मुझे आज कल बहुत ज्यादा मन करता है और मैं अभी बहार जा भी नहीं सकता तो उसे कहां की अगर कोई कॉल करेगा बेवफाई होगी।

मैंने कहा वहा तो मैं जाउगा भी नहीं तो फिर हाथ से कर लिया करो उसके मोहन से ये बात सुनकर माई हेयरन हो गया मैंने कहा तुझे कैसा पता लड़कों हाथ से करता है उसे कभी कभी मेरे बीएफ को ज्यादा होता सेक्स है तो मैं फोन में सेक्स की बात करती हूं और वो हाथ से कर देता हूं।

मैंने कहा पर मैं अबी क्या करूं तो उसे कहा की माया अरोड़ा को फोन लगा और कहो की समस्या है। फिर तुम हाथ से कर लेना मैंने कहा मैंने इस्तेमाल किया फोन लगा पर वो शैद कूलगे में है। फोन बैंड है मैंने विद्या से “क्या आप मेरी मदद कर सकते हैं”।

तो उसे कहा मैं ये सब तुम्हारे साथ कैसे कर सकता हूं तो अच्छे अच्छे दोस्तों हूं मैंने कहा यार बहुत ज्यादा समस्या है ‘प्लीज’ तो उसे मन कर दिया मैंने कहा सिरफ तुम सलवार उतर के थोड़ी देर बाद खड़ी हूं चेंज कर रही हो उर माई तुम्हारे देख कर हाथ से कर लूंगा मेरा काम भी हो जाएगा।

फिर भी उसे माना कर दिया मैं उसके पास बैठा और उसका हाथ पकाड के बोला pls यार बात समझ उसे कहा की कोई आगा तो मैंने उससे कहा की कोई नहीं आएगा, अभी अभी ही बहार गए हैं वो मेरी हलत पे दया खाते हुए बोली माई सिरफ सलवार थोड़ा नीच करुंगी और कुर्ता तोड़ा ऊपर उठाउंगी।

मैंने कहा थिक है उसे कहा पर मुझे चुना भी मत मैंने कहा बिलकुल नहीं छूंगा। और वो थडी दूर खादी हुक्का सलवार का नाडा खोलने लगी और कुर्ते को उठने लगी उसके जाली वाली सफेद ब्रे और पिंक कलर की पेंटी क्या लग रही थी मेरा लौड़ा तो तन से खड़ा हो गया।

मैंने कहा क्या मैं यही पे मुथ मार लूं उसे कहा थाक है पर मेरे सामने नहीं और वो पलट गई उसके पलटे ही उसे गनंद दिखी दीये तो मेरे तो दिमाग के 12 ही बज गए पर मैंने कहा मैंने कहा पेचे से क्या देखा तुम्हारे लिए हाय देख अरही है ऊपर का समान तो कुछ दिख नहीं रहा है।

उसे कह थिक है मैं तुम्हारे ट्रैफ मोह कर लेटी पर माई अपन फेस कुर्ते से धक लूंगी मैंने कहा था, ऐसा ही किया थोड़ा डर मैंने हाथ चलते हुए कहा यार माजा नहीं आरा है तो कुछ सेक्सी हमें भी क्या होगा और उसके फेस से उसका कुर्ता नेचे गिर गया और उसे मेरे हाथ में मैं लंड देख लिया।

वो भी थोड़ी गरम हो गई और मुझसे बोली पर सेक्सी बातें मैं तुम्हारे साथ कैसे करूं मैं सिर्फ अपने बीएफ के साथ करती हूं मैं उसके पास गया और उसके पालतू जानवर को चुनने वाले बोला की अभी मुझे अभी भी उसे पालतू हूं लिपट गई और बोली की नहीं pls मुझे कुछ मत करना माई ये सब सिरफ तुम्हारी समस्या के लिए कर रही हूं।

मैंने उसके गले को चोम्ते हुए कहा की अब छोड भी यार अगर हम दोनो में सेक्स होता भी है तो कोई गलत नहीं है हम दो जवान है फिर उसे कहा की लेकिन मैं सब अपने बीएफ के साथ ही करना मैं भी तो मैं हूं अरोड़ा से. बहुत पर करता पर ऐसी मजबूरी हो गई है की इतना कह कर मेरा इस्तेमाल फिर इक किस कर दिया।

वो बोली अगर आलोक (विद्या का बीएफ) को या माया और तेज़ यस को पता चुदाई गया तो मैंने कहा कैसा पता चलेगा तेरे मेरे शिव ये बात किसी को भी पता नहीं चलेगा और धीरे से उसके लिए स्तन को सहलाने लगा वो और सी “पर तु सब”।

और मैंने किस करते हुए कहा कुछ भी नहीं होगा और इस्तेमाल करें यहां से बिस्तर पर बिठा दिया और उसके कुर्ते को पूरा उतर दिया सिरफ सफेद जाली वाली ब्रा में ऊपर का भाग तो जैसे चंदन सा चमक रहा क्या गोरी गोरी होने और मैंने कुर्ते मेरी तरफ रख दिया।

उसे अपने दो हाथ से अपने स्तन को छुने की कूशीश कर रही थी अमीन उसके दोनो हाथ को हटाकर इस्तेमाल गले से लगा कर कहेगा पागल डर मत कुछ नहीं होगा फिर उसे भी मुझसे लिपटा लिया और कहां से कहीं से भी बात करेगा।

मैंने कहा हम दोनो के अलवा किसी को पता भी नहीं चलेगा और उसका सलवार भी उतर दिया अब वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में थी और कुछ जिझक रही थी मेरा लंड तो पहले से ही बहार था मनी और अपना पेंट भी।

अब मैंने उसके बूबक को सहलते-2 किस करना चालू कर दिया वो भी गरम हो कर मुझे चुनेंगे मैंने धीर से उसका ब्रा भी उतर दिया और उसके बड़े बड़े स्तन देख कर मैं पोरी तर्हा से उनपे झपट और पाड़ा और हुक्का मुझे चूमने लगी।

मैने यूज बूब्स से लेकर पेट तक चूमते उसकी पेंटी भी उतर दी उसकी गुलाबी चूत के ऊपर छोटे छोटे बाल देख कर मैंने पूछा शेव की थी क्या उसे कहा हां कुछ दिन पहले ही वही थी और मैं उसे छू सिस लगा लगा “आह आह”।

मैंने उससे पूछा मेरा चोगे तो वो डेरे से मुस्कुरा दी माई समझौता गया की इसका मतलब है ही है और मैंने उके मोह के पास लंड ले गया और कहा अब चूस भी ले कोई देख रहा है तो थोड़ा ही है और मैं भी इस्तेमाल किया है मूह मे ले लिया और जरूर चुनेंगे मैं उसके स्तन को सहला रहा था।

फिर मैंने कहा की पलट जा मैं तेरा चुना हूं तू मेरा चुना वो मान गई हम दोनो 69 सेक्स पॉज़िशन में एक दोसरे का चुना लगा करीब 5-7 मिनट के बाद मैंने इस्तेमाल किया लेटा दिया और कहा अब मैं तो तुझे छोड़ दूंगा बार चूता रही हूं यहां से मैंने कहा ठीक है, मैं आपका करोड़ रुपए लूंगा।

और वो चुप चाप लेट गई और माई क्रीम की बोटाले ले आया और थोड़ा सा उसके छोड पे और थोड़ा सा मेरे लंड पे लगा उसे चूत से इतना पानी आ रहा था की क्रीम की जरारात ही नहीं थी चूत के पानी के पानी के साथ -पानी होगया.

फिर मैंने अपना लंड उसके चूत पे रखा और उसके स्तन को पके हुए हुए बोला के देख शूरू में थोड़ा दर्द होगा पर थोड़े डर में ही मजा आएगा उसे कहा की थिक है पर तुम धेरे ही और डालना मैंने धर से  लंड धक्का देने लगा जैसी ही लंड का ऊपरी हिसा एंडर गया।

वो शेख पड़ी “मम्मी आह्ह्ह आह्ह छोड दे मोहित बहुत दर्द हो रहा है’ मैंने लंड को थोड़ा और और डालने की कोशिश कितो वो और सिस्किया लेने लगी” आह्ह आह्ह वहां से मोहित” धीरे मैं भी उस और जोर से लिपटा गया और यहां से लंड को और अंदर दाल दिया।

वो सिसकते हुए मुझे और लिपटा ली और उसके मोह को माई छुमने लगा और मैं धेरे लंड चलाने लगा और थोड़े देर तक दर्द सहने के बाद उसे “आह्हह हह आह” की आवाज भी उसके स्तन हो गए मैंने मजा आ रहा है की नहीं।

मुझे अपने ऊर खिचती हुई बोली की बहुत मजा आ रहा है और वो भी चुत उठा उठा के चुदने लगी थोड़ी देर करने के बाद अचानक मेरा लंड बाहर आ गया मैंने इस्तेमाल किया। फिर से चूत में दाल दिया और चुदाई चलो कर दी हम दोनो को बहुत मजा आ गया था और करीब 12-15 मिनट के बाद मैंने झड़ने लगा।

इसे भी पढ़े – पड़ोसन की काम वासना

तो मैंने कहा की एंडर ही झड़ जाओं तो उसे कहा तुम्हारी मरजी मैंने कहा था, और फिर ही झटका तबी तो पूरा माजा आएगा और मैंने स्पीड बड़ा दी और थोड़ी डेर में बहुत जोर से और मैं एकदम से हम दोन लिया था वैसे ही मिले रहे फिर हमने देखा की उसे चूत से खून निकला रहा था वो खून देख कर रोने लगी मैंने इस्तेमाल किए हुए कहा की पहली बार में काई लड़की सील टूटने के करन खून आता ही है।

और फिर मैं बाथरूम ले गया और उसे छू साफ की और फिर दोनो ने अपने कपड़े पहनने और वो मुझसे बोली किसी को पता तो नहीं चलेगा न ही तो माई तो मार जाऊंगी मैंनेकाहा हैं पागल किसी को और कैसे पता चलेगा फिर चलेगा दिया वो भी मुझसे लिपटते हुए बोली लेकिन हमें ऐसा नहीं करना चाहिए था मैंने कहा जो हो गे सो हो गया अब सोचने से बोलने से कुछ बदल तो नहीं जाएगा दोस्तो मैं ऐसे ही और एक मौके की तलाश में हूं कि विद्या जरूर हूं कि मैं क्या हूं टाइट है और मजा भी बहुत आया इसका इस्तेमाल करने में मुझे..

Escorts in Delhi

This will close in 0 seconds