नौकरानी की कुवारी बेटी को चोदा और उसकी चुत के मजे लिए

दोस्तो, करीब 10 साल पहले मैं नया नया जवान हुआ था। मेरा लंड तन्ना शूरु हुआ था तब लंड को तलाश थी एक चुत की जो मेरे लंड के प्यास भुजाये।

वैसे तो मेरी एक गर्लफ्रेंड थी पर उससे कभी सेक्स नहीं करता था। एक पड़ोस की भाभी थी जिस पर नजर थी पर कभी हिम्मत ही नहीं हो पाई। बस अपने हाथ जगन्नाथ था।

फिर एक दिन किस्मत चमकी और हमारी नौकरानी अपनी बेटी के साथ आई। नौकरानी कफी उम्र की थी पर उसकी लड़की की उमर करीब 19 – 20 साल होगी। देखने मैं भी वो मस्त थी। बस मैंने सोच लिया के इसे पटाऊगा सेक्स के लिए और नौकरी की बेटी को अपने बिस्तर की रानी बनाउंगा।

किस्मत ज़ोर पे थी। घर पे सिरफ मम्मी थी और बाथरूम में थी। मैंने सोचा के आज परोक्ष रूप से कोशिश करते हैं। मैं नंगा होके सोने की एक्टिंग करने लगा। लंड खड़ा हुआ था और ऊपर चादर डाली हुई थी।

उस लड़की का नाम पूजा था। वो रूम में झाड़ू लगाने आई तो मैं सोने की एक्टिंग करने लगा। वो जैसे ही मेरे बिस्तर के पास आई मैं आंख बंद करके करवट लेने की एक्टिंग करना लगा। और ऊपर से चादर उतर गई। मैं एक दम नंगा था और लंड तना हुआ।

पूजा कोन मैं खड़े होके मेरे को देखे जा रही थी। कुछ देर तक वो मुझे घूरती रही । बस मुझे तो यही मौका चाहिए था। मैंने आंखें खोल के कहा, “पूजा क्या देखे जा रही है?”

वो मुस्कुरा कर  बोली के, “आप ऐसे सोते हो क्या?” मैं बोला के, “आज बस तेरे लिए ऐसे सोया हूं।” बात शुरू हो चुकी थी और वो मुसकुरा रही थी। किसी ने सही ही कहा है के हसी तो फसी।

मुझे तो इशारा ही चाहिए था और उसने तो पूरा कन्फर्म ही कर दिया था। मैं उठ के पास गया और लंड उसके हाथ में देके बोला के, “तेरा ही है जो चाह कर ले।”

वो थोड़ा शर्मा रही थी। मैंने उसकी सलवार का नाडा खोला और अंदर हाथ डाला। उसकी चुत पे पूरे बाल थे पर ऐसा लग रहा था के वो अभी कुंवारी ही है।

मैंने उससे पूछा के, “पहले लंड चखा है तेरी चुत ने?” तो शर्मा की बोली, “नहीं अभी मैं पूरी कुंवारी हूं।” बस अब क्या था? मैंने पूरा प्लान कर लिया था के आज इसे जरूर चोद दूंगा ।

 मम्मी घर पे थी और वो जॉब करती थी तो कुछ देर बाद उन्हे ऑफिस जाना था। मैं भी तैयार होके कॉलेज के लिए निकल गया। पर जाने से पहले पूजा को बोला के 11 बजे आ जाना। “आज तुझे पूरी मस्ती कराऊंगा।”

मैं घर से निकल गया और सीधे मेडिकल स्टोर गया और कामसूत्र का एक पैकेट खरीदा। करीब 10:30 बजे मैं वापस आ गया और पड़ोस से चाबी लेके घर में चला गया।

अब मैं इंतजार नहीं कर पा रहा था। मन मैं पता नहीं क्या क्या सोच रहा था। मुख्य बालकनी मैं खड़ा हो गया पर पूजा नहीं आई। मुझे लगा के आज का कार्यक्रम लगता है फेल हो गया।

करीब 11:20 पे डोर बेल बजी और पूजा दूर खड़ी थी। धीरे धीरे मस्कुरा रही थी। मैंने डोर ओपन करा और उसका हाथ पकड़ के अंदर ले आया। हम दोनो का ही पहली बार था और कुछ ज्यादा पता भी नहीं था।

अपने पे कंट्रोल नहीं कर पा रहा था, मैंने उससे नंगा किया और फिर खुद को  वो थोड़ी महक कर रही थी तो मैं  उससे बाथरूम में ले गया और उसके साथ शॉवर लेने लगा।

उसकी नंगी बॉडी बहुत  ही सेक्सी थी। उसके मम्मे मोटे और निपल्स पिंक कलर के एक दम तने हुए थे। मैं किस करने लगा और वो भी चार्ज हो चुकी थी। लंड हाथ मैं लेके सहलाने लगी।

लंड तो पहले से ही तना हुआ था। वैसे  मैंने पहले ब्लू फिल्म देखी थी मैंने उससे लंड चूसने को कहा। पहले तो वो मना करने लगी पर बाद मैं लंड मुह में ले लिया और चूसने  लगी। कुछ देर चूसने के बाद मैंने उसके मुंह में ही झाड़
दिया ।

वो बोली के ये क्या कर दिया। मै हसने लगा । उसने अपने मुँह को साफ़ करा । मैने उसकी चुत देखी उसपे बहुत बाल थे । मैंने उस्तरा से उसकी चुत के बाल हटाये। उसकी चुत एक दम नई थी जैसे की आज तक किसी ने छुआ न हो 

चुत मैं मैंने जैसे ही उँगली डाली तो वो उचचल पड़ी। उस्का छेद काफी  छोटा था। मै उससे बेड पे ले गया और उसकी चुत चाटने लगा  । जैसे जैसे मैं चुत चाट रहा था वो मस्त होती जा रही थी। और ज़ोर ज़ोर से आवाज़ कर रही थी।

कुछ देर चुत चाटने के बाद उसकी चुत पूरी तरह से गिली हो गई थी। मेरा लंड तना हुआ था और आज इसकी प्यास भुजने वाली थी। मैंने कंडोम लंड पे चढ़ाया  और चुत मैं डालने लगा तो लंड  जा ही नहीं रहा था।

मैंने भी पूरा जोर लगा के जैसे ही लंड उसकी चुत में डाला तो उसकी चीख ही निकल गई। मैंने कहा की पहली बार है तो थोड़ा दर्द होगा और खून भी निकलेगा पर बाद मैं पूरा मजा आएगा। मैं बोहुत धीरे-धीरे धक्के मार रहा था और पूजा के आंखों से आंसु आ रहे थे।

उसकी चुत मैं से खून भी आने लगा। वैसे दर्द तो मुझे भी हो गया था पर इतना पता था के पहली बार तो ऐसा होता ही है। मैं धीरे-धीरे धक्के मरता रहा और धीरे-धीरे दर्द भी मजे मैं बदलने लगा।

पूजा की सील टूट चुकी थी और साथ में मेरी भी। अब मजा आ रहा था । उसने मुझे धक्के  ज़ोर से मारने  को कहा और मैं ढकके पे ढकके मारता रहा। उसकी चुत पिंक से रेड हो चुकी थी कुछ ब्लड की वजह से और कुछ चुदने की वजह से।

करीब 10 मिनट धक्के मारने के बाद मैं पहली बार चुत मैं लंड को झटकने वाला था। जैसे ही मुझे लगा के मैं झड़ने वाला हूं मैंने एक बोहुत जोर का धक्का मारा और पूजा की तो चीख  ही निकल गयी । मेरा लंड झड़ चुका था पर पूजा का
खून नहीं रुक रहा था।

मै पूजा को बाथरूम मैं ले गया और उसकी चुत पानी से साफ करी। अब खून धीरे धीरे चुत से निकल रहा था। मैंने उससे सेनेटरी पैड का एक पैकेट दिया और कहा इससे यूज़ कर ।

हमने उस दिन  तो बस एक बार ही सेक्स किया पर उसके बाद लगभाग हर हफ्ते मैंने उससे चोदा। हर तरह से हर पोज मैं। यहां तक के  एक बार 2 दिन के लिए एक छोटे वेकेशन पे भी ले गया। कभी कभी कुछ पैसे भी दे देता था पर उसे पैसे कभी खुद नहीं मांगे।

10 साल का सिलसिला अभी भी चालू है मैं काम करने लगा हूं। पूजा की शादी हो चुकी है। पर वो अब भी हमारे घर काम करने आती हैं और हम सेक्स करते हैं। क्युंकी अब मैं काम करता हूं तो थोडे ज्यादा पैसे दे देता हूं।

ये थी हम दोनों की चुदाई की कहानी। अगली बार मैं आपको एक कहानी बताऊंगा जब पूजा अपनी छोटी बहन को मेरे लिए लेके आई जब वो गर्भवती थी। वैसे गर्भावस्था में भी हमने सेक्स किया था। बस डिलीवरी के बाद कुछ समय के लिए सेक्स रुक गया था

तो वो अपनी ?
मौसी की लड़की को मेरे पास लेके आई और उसकी चुत भी कुंवारी थी जिसी सील भी मैंने ही तोड़ी थी। वो कहानी अगली बार बताउंगा। उसकी मौसी की लड़की का नाम शर्मीली था पर वो शर्मीली बिलकुल भी नहीं थी।

Escorts in Delhi

This will close in 0 seconds